Punjab Corona: इटली से अमृतसर पहुंची चार्टेड फ्लाइट में 125 यात्री कोरोना संक्रमित, विमान में सवार थे कुल 179 लोग

पंजाब में कोरोना संक्रमण दर बढ़कर 7.95 प्रतिशत पहुंच गई है। सक्रिय मामले भी 4434 दर्ज किए गए हैं। पटियाला, मोहाली और पठानकोट जिलों में हालात ज्यादा खराब हो गए हैं।
Punjab Corona: इटली से अमृतसर पहुंची चार्टेड फ्लाइट में 125 यात्री कोरोना संक्रमित, विमान में सवार थे कुल 179 लोग

कोरोना देश में खौफनाक रफ्तार पकड़ चुका है. कोविड के मामले हर दिन के साथ तेजी से बढ़ रहे हैं। ओमिक्रोन भी लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है। इस बीच इटली-अमृतसर चार्टेड फ्लाइट में करीब 125 पैसेंजर्स कोविड कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। यह सभी यात्री अमृतसर एयरपोर्ट पहुंचे थे। कुल 179 लोग इस चार्टेड फ्लाइट में थे। इसकी जानकारी एयरपोर्ट डायरेक्टर वीके सेठ ने दी है।

जानकारी के मुताबिक यात्री पंजाब के ही हैं। यात्रियों ने एयरपोर्ट पर जमकर हंगामा भी किया। उनका आरोप है कि उन्हें जानबूझकर पॉजिटिव बताया गया है। यात्रियों ने कहा कि उन्होंने इटली से कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगवाई हैं और 72 घंटे पहले की नेगेटिव रिपोर्ट लेकर आए हैं।

पंजाब में संक्रमण दर बढ़ी

पंजाब में कोरोना संक्रमण दर बढ़कर 7.95 प्रतिशत पहुंच गई है। सक्रिय मामले भी 4434 दर्ज किए गए हैं। पटियाला, मोहाली और पठानकोट जिलों में हालात ज्यादा खराब हो गए हैं। अब तक 16905814 लोगों के नमूने लिए जा चुके हैं, जिनमें 608723 लोगों की रिपोर्ट में संक्रमण की पुष्टि की जा चुकी है। 16657 संक्रमितों की अब तक सूबे में मौत हो चुकी है। स्वास्थ्य विभाग ने रोज लिए जाने वाले नमूनों की संख्या बढ़ाकर 23 हजार से अधिक कर दी है। इससे पहले औसतन विभाग की ओर से 15 से 17 हजार नमूने ही लिए जा रहे थे।

बुधवार को बरनाला, फरीदकोट, जालंधर और मुक्तसर में 1-1 संक्रमित की मौत हो गई है। पंजाब के प्रमुख शहरों में शुमार पटियाला, मोहाली और पठानकोट में हालात ज्यादा खराब हो गए हैं। पटियाला में 24 घंटे के भीतर सबसे अधिक 598 नए केस मिले हैं। इसके बाद मोहाली में 300 और पठानकोट में 163 मामले सामने आए हैं। सूबे का सिर्फ मानसा ऐसा जिला है जिसमें अभी तक कोई संक्रमित नहीं मिला है।

बूस्टर डोज की तैयारी, 10 जनवरी से लगनी होगी शुरू

पंजाब में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच सरकार ने बूस्टर डोज को लेकर बड़ा फैसला किया है। सरकार 10 जनवरी से बूस्टर डोज लगाना शुरू करेगी। पहले चरण में हेल्थ केयर, फ्रंटलाइन वर्कर और वरिष्ठ नागरिकों को ही इसमें शामिल किया जाएगा। सरकार की ओर से कहा गया है कि दूसरी खुराक के नौ महीनों के बाद ही बूस्टर डोज दी जाएगी।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.