उत्तर प्रदेश में 45 प्लस आयु वर्ग में 65 लाख लोगों ने नहीं ली है कोविड की पहली डोज़

उत्तर प्रदेश में 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के 65 लाख से अधिक लोगों ने कोविड वैक्सीन की अपनी पहली खुराक तक नहीं ली है। यह इस आयु वर्ग में 4.79 करोड़ की कुल लक्षित जनसंख्या का लगभग 13 प्रतिशत है।
उत्तर प्रदेश में 45 प्लस आयु वर्ग में 65 लाख लोगों ने नहीं ली है कोविड की पहली डोज़

उत्तर प्रदेश में 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के 65 लाख से अधिक लोगों ने कोविड वैक्सीन की अपनी पहली खुराक तक नहीं ली है। यह इस आयु वर्ग में 4.79 करोड़ की कुल लक्षित जनसंख्या का लगभग 13 प्रतिशत है।

सरकार के प्रवक्ता के अनुसार, कोविड टीकाकरण पर राज्य टास्क फोर्स ने अब एक समर्पित उप-अभियान के माध्यम से जल्द से जल्द लोगों को टीका लगाने की रणनीति का मसौदा तैयार किया है।

यह देखते हुए महत्वपूर्ण है कि इस श्रेणी के लोगों को 'कमजोर' बताया गया है और 85 प्रतिशत से अधिक कोविड की मृत्यु इसी आयु वर्ग में हुई है।

प्रवक्ता ने कहा कि इन लोगों की लाइन-लिस्टिंग की गई है। प्राप्त आंकड़ों को अपलोड किया गया है और कोविन पोर्टल के साथ विलय कर दिया गया है। इसके लिए प्रशिक्षण जारी होने के दौरान एक जुटाने की रणनीति शुरू की गई है।

उन्होंने बताया कि इस संबंध में बुधवार शाम जिला टीकाकरण अधिकारियों व सहयोगी स्टाफ को अवगत करा दिया गया है।

अभियान की रणनीति बैंकों को एक क्लस्टर ²ष्टिकोण पर रखती है जिसमें अनुनय को सरल बनाने के लिए लक्ष्य को छोटे खंडों में तोड़ा जाएगा।

जिला कोविड नियंत्रण और कमांड सेंटरों को भी व्यक्तियों को बुलाने और उन्हें उनकी नियत खुराक की याद दिलाने के अलावा टीकाकरण नहीं होने के जोखिमों के बारे में सूचित करने के लिए भी कहा गया है।

मुख्यमंत्री हेल्पलाइन से भी रैंडम फॉलोअप कॉल किए जाएंगे।

इस बीच, सर्वेक्षण से संकेत मिला है कि सहारनपुर (2.25 लाख) में अशिक्षित 45 वर्ष से अधिक व्यक्तियों की संख्या सबसे अधिक है, जबकि यह गोरखपुर (7,573) में सबसे कम है।

सहारनपुर (2.25 लाख), सुल्तानपुर (2.14 लाख), आगरा (2.10 लाख) और प्रयागराज (2.05 लाख) सहित कुल 28 जिलों में एक लाख से अधिक अशिक्षित व्यक्ति है, जहां ऐसे व्यक्तियों की संख्या दो लाख से अधिक है।

साथ ही छह जिलों में ऐसे लोगों की संख्या डेढ़ लाख से ज्यादा है।

Note: Yoyocial.News लेकर आया है एक खास ऑफर जिसमें आप अपने किसी भी Product का कवरेज करा सकते हैं।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.