चेन्नई : बढ़ते कोरोना मामलों के चलते सरकारी अस्पताल के 75 प्रतिशत बेड हुए फुल

चेन्नई : बढ़ते कोरोना मामलों के चलते सरकारी अस्पताल के 75 प्रतिशत बेड हुए फुल

राज्य के स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार, कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण चेन्नई में सत्तर प्रतिशत बिस्तर भर चुके है। तमिलनाडु में कोरोना के 79,808 मामले हैं जबकि मंगलवार शाम तक चेन्नई में ही केवल 28,005 मामले थे।

राज्य के स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार, कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण चेन्नई में सत्तर प्रतिशत बिस्तर भर चुके है। तमिलनाडु में कोरोना के 79,808 मामले हैं जबकि मंगलवार शाम तक चेन्नई में ही केवल 28,005 मामले थे। सरकारी अस्पतालों में पेसेंट मेनेजमेंट कॉट्रोल रूम ने बताया कि मंगलवार शाम तक 75 प्रतिशत बेड फुल हो चुके थे।

चेन्नई के पांच अस्पतालों में 4,368 बिस्तर हैं जिनमें चार सरकारी मेडिकल कॉलेज अस्पताल और एक कोविड अस्पताल गुइंडी शामिल हैं।

50 प्रतिशत ऑक्सीजन की आवश्यकता वाले मरीजों को मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में भर्ती किया जाता है और जिन्हें 50 प्रतिशत से कम ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है उनका उपचार हेल्थ केयर सेंटर में किया जाता है।

मंगलवार को 14 कोविड केयर सेंटर में 11,645 बिस्तरों में से 5,559 बेड फुल थे । वहीं शहर के 114 निजी अस्पतालों कोविड केयर सेवा प्रदान करते हैं, जिनमें से 32 अस्पतालों ने 100 प्रतिशत बिस्तर भरे होने की सूचना दी है।

चेन्नई के एक प्रमुख अस्पताल में फिजिशियन डॉ शनमुघासुंदरम ने आईएएनएस को बताया, "चेन्नई में बिस्तर तेजी से भर रहे है और इससे अस्पतालों में अधिक भीड़ बढ़ रही है । देखभाल के लिए हमें और कोविड केयर सेंटर खोलने होंगे।"

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news