वैक्सीन लगवाने के बाद बुखार की चपेट में आई आंध्र प्रदेश की महिला ने तोड़ा दम

वैक्सीन लगवाने के बाद बुखार की चपेट में आई आंध्र प्रदेश की महिला ने तोड़ा दम

आंध्र प्रदेश में कडप्पा जिले के पुलिवेंदुला में कुछ दिन पहले ही कोविड-19 वैक्सीन लगवाने वाली 58 वर्षीय आंगनवाड़ी शिक्षिका की मौत हो गई है।

आंध्र प्रदेश में कडप्पा जिले के पुलिवेंदुला में कुछ दिन पहले ही कोविड-19 वैक्सीन लगवाने वाली 58 वर्षीय आंगनवाड़ी शिक्षिका की मौत हो गई है। पुलिवेंदुला के अहोबिलापुरम इलाके की निवासी टी. नारायणम्मा का गुरुवार रात निधन हो गया।

उन्हें स्थानीय सरकारी अस्पताल में एक पखवाड़े पहले कोविड-19 वैक्सीन लगाई गई थी। वैक्सीन लगने के बाद दूसरे दिन ही नारायणम्मा को बुखार चढ़ गया था। इसके बाद उन्हें उपचार के लिए एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

डॉक्टरों ने जांच की गई तो उन्हें टाइफाइड बुखार पाया गया, जिसके बाद उन्हें कडप्पा के रिम्स अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया।

हालांकि, वह घर लौट आई, क्योंकि वह रिम्स में बुखार से उबर नहीं पाई थी। नारायणम्मा की गुरुवार रात घर लौटने के एक घंटे के भीतर मृत्यु हो गई। अब उनके परिवार के सदस्यों ने आरोप लगाया है कि उनकी मृत्यु इसलिए हुई है, क्योंकि वैक्सीन विफल रही है।

आंध्र प्रदेश में कोरोना वैक्?सीन लगवाने के बाद एक गांव की एक वॉलंटियर (स्वयंसेवक) पी. ललिता की मौत हो गई थी। सरकार की तरफ से मृतका के परिवार को मुआवजे के तौर पर 50 लाख रुपये दिए गए हैं। आरोप है कि ललिता की मौत कोरोनावायरस वैक्सीन शॉट लेने के बाद आई जटिलताओं से हुई थी।

28 साल की ललिता ने आठ अन्य स्वयंसेवकों के साथ वैक्सीन शॉट लिया था और अन्य सभी को सिरदर्द और बुखार जैसे लक्षण दिखाई दिए, ललिता की हालत ज्यादा ही गंभीर हो गई। हालांकि वह दवा ले रही थी और घर पर ही रहती थी, लेकिन जल्द ही उसकी बीमारी से मौत हो गई।

Keep up with what Is Happening!

AD
No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news