केंद्र ने कोविड व्यवहार के उल्लंघन पर चेताया, तीसरी लहर को मौसम का अपडेट न समझें

केंद्र ने मंगलवार को चेतावनी दी कि कोविड के उचित व्यवहार का लगातार उल्लंघन करने से अब तक हमने जो हासिल किया है, वह खत्म हो सकता है।
केंद्र ने कोविड व्यवहार के उल्लंघन पर चेताया, तीसरी लहर को मौसम का अपडेट न समझें

केंद्र ने मंगलवार को चेतावनी दी कि कोविड के उचित व्यवहार का लगातार उल्लंघन करने से अब तक हमने जो हासिल किया है, वह खत्म हो सकता है। स्वास्थ्य मंत्रालय की मीडिया ब्रीफिंग को संबोधित करते हुए, मंत्रालय में संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने चंडीगढ़ में सुखना झील और महाराष्ट्र में भूशी बांध जैसे भीड़भाड़ वाले पर्यटन स्थलों और बाजारों की तस्वीरें साझा करते हुए चेताया। उन्होंने कहा, कोविड के उचित व्यवहार का लगातार घोर उल्लंघन हमारी अब तक की कमाई को समाप्त कर सकता है। तीसरी लहर इस व्यवहार के कारण आ सकती है।

उन्होंने कहा कि जब लोग कोरोना की तीसरी लहर की बात कर रहे हैं तो उसे मौसम के अपडेट की तरह सामान्य रूप से ले रहे हैं, जबकि इसकी गंभीरता को समझना चाहिए।

अग्रवाल ने कहा, हम मौसम के अपडेट के रूप में तीसरी लहर के बारे में बात करते हैं। हम जो समझने में विफल रहते हैं, वह यह है कि कोविड के उचित व्यवहार का पालन करना या इसकी कमी ही भविष्य की लहरों को रोकेगी या पैदा करेगी।

उन्होंने सवाल करते हुए कहा, इसका चुनाव करना इतना मुश्किल नहीं है, है ना?

अग्रवाल ने कहा, देश में दूसरी लहर के दौरान दैनिक नए मामलों में गिरावट जारी है। औसत दैनिक नए मामले 5 मई से 11 मई के बीच 3,87,029 मामलों से घटकर 7 जुलाई से 13 जुलाई के बीच 40,841 मामले हो गए हैं।

अग्रवाल ने जोर देकर कहा कि देश में उभरती स्थिति का प्रबंधन करने के लिए ठोस प्रयास किए गए हैं।

अग्रवाल ने कहा, 23,123 करोड़ रुपये कोविड-19 आपातकालीन पैकेज के रूप में स्वीकृत किए गए हैं, जिसका उपयोग आईसीयू बेड के लिए किया जाएगा। इसके साथ ही इसका उपयोग बाल चिकित्सा इकाइयों का निर्माण, अस्पतालों के बिस्तरों को जोड़ना, तरल चिकित्सा ऑक्सीजन भंडारण टैंक स्थापित करना और कोविड के खिलाफ लड़ने के लिए अतिरिक्त एम्बुलेंस जोड़ने में किया जाएगा।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news