Covid-19 Updates: देश में घट रही कोरोना की रफ्तार! बीते 24 घंटे में मिले 2,568 नए मामले, 20 की मौत

राहत की बात है कि कई दिनों बाद एक्टिव मामलों में भी कमी देखने को मिली है। बीते 24 घंटे में कोरोना से 2,911 मरीज ठीक हुए हैं। एक्टिव केस घटकर अब 19,137 हो गए हैं।
Covid-19 Updates: देश में घट रही कोरोना की रफ्तार! बीते 24 घंटे में मिले 2,568 नए मामले, 20 की मौत

देश में कोरोना संक्रमण की रफ्तार पर ब्रेक लगता दिख रहा है। मंगलवार को कोरोना के नए मामलों में बड़ी गिरावट दर्ज की गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार, बीते 24 घंटे में कोरोना के 2,568 नए मामले सामने आए हैं। मंगलवार को कल यानी सोमवार के मुकाबले कोरोना के मामलों में करीब 18.6 फीसद की गिरावट दर्ज की गई है। सोमवार को देशभर में कोरोना के 3,157 नए मामले सामने आए थे।

एक्टिव केस भी कम हुए

राहत की बात है कि कई दिनों बाद एक्टिव मामलों में भी कमी देखने को मिली है। बीते 24 घंटे में कोरोना से 2,911 मरीज ठीक हुए हैं। एक्टिव केस घटकर अब 19,137 हो गए हैं।

20 लोगों की मौत

वहीं, मृतकों की संख्या में भी कमी दर्ज की गई है। कोरोना से बीते 24 घंटे में 20 मरीजों की जान गई है जबकि सोमवार को ये आंकड़ा 26 था। कोरोना से देश में अब तक कुल 5,23,889 लोगों की जान जा चुकी है।

5-12 की उम्र के बच्चों को वैक्सीन देने पर विचार

उधर, कोरोना वैक्सीनेशन के राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह टीकाकरण (एनटागी, NTAGI) का कार्य समूह 4 मई को 5 से 12 साल की आयु के बच्चों के कोरोना टीकों के आंकड़ों की समीक्षा करेगा। सूत्रों ने बताया कि टीकों की सुरक्षा और प्रभावकारिता डेटा को देखने के बाद दूसरे स्तर की स्थायी तकनीकी उप-समिति (STSC) कार्य समूह द्वारा सिफारिशों की समीक्षा और चर्चा करेगी। एसटीएससी फिर से डेटा की समीक्षा करेगी और फिर अंतिम निर्णय देगी। इसके बाद ही एनटागी का समूह कोई अंतिम फैसला करेगा।

गौरतलब है कि हाल ही में भारत के औषधि महानियंत्रक (DCGI) ने 5 से 12 साल की आयु के बच्चों के लिए बायोलाजिकल ई के कार्बेवैक्स (Corbevax) और 6 से 12 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए भारत बायोटेक की कोवैक्सीन (Covaxin) को आपातकालीन उपयोग की मंजूरी दी है। पिछले हफ्ते NTAGI ने 12 से 17 आयु वर्ग के लिए सीरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया के कोरोना वैक्सीन कोवोवैक्स (Covovax) को मंजूरी दी है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.