UP: प्राइवेट अस्पतालों की बड़ी लापरवाही..एक के बाद एक कोरोना मरीजों की मौतों का आंकड़ा चौंकाने वाला, जिम्मेदार कौन?
Corona Virus Update

UP: प्राइवेट अस्पतालों की बड़ी लापरवाही..एक के बाद एक कोरोना मरीजों की मौतों का आंकड़ा चौंकाने वाला, जिम्मेदार कौन?

लखनऊ के प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना संक्रमितों की जांच, शिफ्टिंग, इलाज में बड़ी लापरवाही सामने आई है। शहर के चार प्राइवेट अस्पतालों से कुल 48 कोरोना संक्रमितों की इलाज के दौरान मौत हुई। हर जगह की एक-सी हालत चिकित्सा व्यवस्था पर भी एक बड़ा सवाल है।

Yoyocial News

Yoyocial News

UP की राजधानी लखनऊ में प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना संक्रमितों की जांच, शिफ्टिंग और इलाज में बड़ी लापरवाही सामने आई है। शहर के चार प्राइवेट अस्पतालों से कुल 48 कोरोना संक्रमित रेफर और भर्ती किए गए थे। इलाज के दौरान इन सभी की मौत हो गई. इस पर डीएम ने चारों निजी अस्पतालों को नोटिस जारी कर बुधवार सुबह 10 बजे तक स्पष्टीकरण मांगा है। नोटिस के मुताबिक, इसमें लापरवाही बरतने वाली निजी अस्पतालों के खिलाफ ऐपिडेमिक ऐक्ट के तहत सख्त कार्रवाई भी होगी।

ऐसे में सवाल ये उठता है कि क्या प्राइवेट हॉस्पिटल्स में कोरोना के इलाज के नाम पर केवल धांधली हो रही है? क्या मरीज प्राइवेट अस्पतालों पर भरोसा करना छोड़ दे? या फिर क्या इन अस्पतालों की स्थिती इतनी खराब हो गई है कि महामारी के दौरान एक भी मरीज का सफल इलाज नहीं हो पाया...आखिर ऐसा क्या है जो प्राइवेट अस्पताल पूरी दुनिया से छिपाने की कोशिश कर रहे हैं, क्योंकि हर जगह का एक-सी हालत होना चिकित्सा की व्यवस्थाओं पर भी एक बड़ा सवाल है।

क्या है पूरा मामला?

नियम के मुताबिक, अस्पतालों में आने वाले सामान्य मरीजों की भी पहले कोरोना जांच होनी चाहिए। जानकारी के मुताबिक, कई जगह मरीजों की कोरोना जांच नहीं करवाई गई और उन्हें भर्ती कर लिया गया। बाद में मरीज की तबीयत बिगड़ने पर कोरोना जांच करवाई गई तो रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके अलावा कई अस्पतालों में संक्रमितों को शिफ्ट करने में देरी के भी मामले सामने आए. जिला प्रशासन की ओर से जारी नोटिस के मुताबिक, इन अस्पतालों से रेफर और भर्ती किए गए सभी 48 मरीजों की इलाज के दौरान मौत हो गई।

प्रथमदृष्टया मरीजों की जांच में लापरवाही सामने आई है। इस पर अस्पतालों से जवाब मांगा गया है। अस्पतालों से पूछा गया है कि आखिर क्या वजह है कि अब तक भेजे गए सभी कोविड संक्रमितों की मौत हो गई। अस्पतालों को नोटिस के साथ दम तोड़ने वाले संक्रमितों की सूची भी सौंपी गई है। डीएम ने बताया कि जवाब मिलने के बाद अस्पताल कार्रवाई की रूपरेखा तय की जाएगी।

इन चार नामी अस्पतालों को नोटिस...

  • अपोलो हॉस्पिटल: 17 संक्रमित भेजे गए थे।

  • मेयो हॉस्पिटल: 10 मरीज भेजे गए।

  • चरक हॉस्पिटल: 10 मरीज भेजे गए।

  • चंदन हॉस्पिटल: 11 मरीज भेजे गए।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news