रिसर्च में हुआ खुलासा: माँ की हो ऐसी सोच तो बच्चे आते है स्‍कूल में फर्स्‍ट

बच्‍चों की जिंदगी पर पेरेंट्स का बहुत असर पड़ता है। कुछ गुण बच्‍चों को जींस से ही मिल जाते हैं तो कुछ वो पेरेंट्स को देखकर सीखते हैं। हाल ही में जरनल फ्रंटियर्स एंड साइकोलॉजी में प्रकाशित एक स्‍टडी के मुताबिक बच्‍चे को अपनी मां से खास खूबी मिलती है।
रिसर्च में हुआ खुलासा: माँ की हो ऐसी सोच तो बच्चे आते है स्‍कूल में फर्स्‍ट

बच्‍चों की जिंदगी पर पेरेंट्स का बहुत असर पड़ता है। कुछ गुण बच्‍चों को जींस से ही मिल जाते हैं तो कुछ वो पेरेंट्स को देखकर सीखते हैं।

हाल ही में जरनल फ्रंटियर्स एंड साइकोलॉजी में प्रकाशित एक स्‍टडी के मुताबिक बच्‍चे को अपनी मां से एक खास खूबी मिलती है जिसका बच्‍चे की जिंदगी पर बड़ा असर पड़ता है।

इसका प्रभाव पढ़ाई में बच्‍चों की परफॉर्मेंस पर भी पड़ सकता है। इस स्‍टडी का कहना है कि इस मनोवैज्ञानिक खूबी को लोकस ऑफ कंट्रोल कहा जाता है।

रिसर्च में हुआ खुलासा: माँ की हो ऐसी सोच तो बच्चे आते है स्‍कूल में फर्स्‍ट
डांट और मार बच्चों के लिए जरूरी नहीं, इस तरह भी सिखाया जा सकता है अनुशासन

क्‍या होता है लोकस ऑफ कंट्रोल :-

पर्सनैलिटी स्‍टडीज का लोकस ऑफ कंट्रोल एक अहम हिस्‍सा है। इसमें व्‍यक्‍ति यह मानने लगता है कि वो अपने आसपास की घटनाओं को कंट्रोल कर सकता है। लोकस ऑफ कंट्रोल को दो भागों में बांटा गया है।

जो लोग सोचते हैं कि उनके आसपास जो भी हो रहा है, वो उनके खुद के काम या कोशिश की वजह से है। इसे इंटरनल लोकस कहते हैं। अगर वो पढ़ाई में फेल भी हो जाएं, तो इसका जिम्‍मा वो खुद के ठीक से न पढ़ने को देते हैं।

वहीं एक्‍सटर्नल लोकस में व्‍यक्‍ति अपनी किस्‍मत, अवसर, भाग्‍य और अन्‍य बाहरी कारकों पर भरोसा करने लगता है। उसे यह विश्‍वास होता है कि जिंदगी पर किसी बाहरी शक्‍ति का कंट्रोल है। परीक्षा में फेल होने का जिम्‍मेदार वो भाग्‍य को बनाते हैं।

रिसर्च में हुआ खुलासा: माँ की हो ऐसी सोच तो बच्चे आते है स्‍कूल में फर्स्‍ट
बच्चों की याददाश्त (स्मरण शक्ति) बढ़ानी हो तो करें यह उपाय..

क्‍या कहती है स्‍टडी :-

प्रेगनेंट महिलाओं की जिंदगी के प्रति सोच के बारे में जानने के लिए यह स्‍टडी की गई थी। इसमें 1600 गर्भवती महिलाओं को शामिल किया गया था। शोधकर्ताओं ने पाया कि जो महिलाएं अपनी जिंदगी पर अपना कंट्रोल मानती थीं, उनके बच्‍चे गणित, साइंस और प्रॉब्‍लम सॉल्विंग में अच्‍छे निकले।

रिसर्च में हुआ खुलासा: माँ की हो ऐसी सोच तो बच्चे आते है स्‍कूल में फर्स्‍ट
अगर आप पेरेंट्स है तो आप भी जान लें क्या है बच्चों को पढ़ाने के बेस्ट तरीके

​कैसे काम करता है ये तरीका :-

इसमें पाया गया कि जो महिलाएं अपनी क्षमता पर भरोसा करती थीं, वे अपने बच्‍चों को हेल्‍दी डाइट देती थीं जिससे बच्‍चों का बेहतर दिमागी विकास हुआ। वो बच्‍चों को कहानी पढ़कर सुनाती थीं और बच्‍चों के स्‍कूल के काम और ग्रेड में ज्‍यादा दिलचस्‍पी लेती थीं।

रिसर्च में हुआ खुलासा: माँ की हो ऐसी सोच तो बच्चे आते है स्‍कूल में फर्स्‍ट
बच्चों के लिए ऑनलाइन पढ़ाई के फायदे हैं तो उसके नुकसान भी हैं, आइये जानते हैं:

​जानें शोधकर्ता की राय :-

इमोरी यूनिवर्सिटी साइकोलॉजी के प्रोफेसर स्‍टीफन नोविकी का कहना है कि ऐसे पेरेंट्स के बच्‍चे अच्‍छा खाते हैं और पर्याप्‍त नींद लेते हैं और इनका अपनी भावनाओं पर भी अच्‍छा कंट्रोल रहता है। ये बच्‍चे स्‍कूल में अच्‍छा परफॉर्म करते हैं और इन्‍हें कम सोशल और पर्सनल परेशानियां आती हैं।

रिसर्च में हुआ खुलासा: माँ की हो ऐसी सोच तो बच्चे आते है स्‍कूल में फर्स्‍ट
जानिए आसानी से खेले जाने वाले इनडोर गेम्स के बारे में: भाग -1

अब टिप भी लें :-

आप जिस तरह से दुनिया को देखते हैं या जिंदगी के प्रति आपका जो नजरिया होता है, उसका असर आपके परिवार के साथ-साथ बच्‍चे पर भी पड़ता है। जिंदगी के प्रति सकारात्‍मक सोच रखकर आप बेहतर निर्णय और विकल्‍प चुन सकते हैं।

रिसर्च में हुआ खुलासा: माँ की हो ऐसी सोच तो बच्चे आते है स्‍कूल में फर्स्‍ट
Indoor Games: जानिए आसानी से खेले जाने वाले इनडोर गेम्स के बारे में: भाग -2

पेरेंटिंग स्किल में सुधार :-

आप अपने पेरेंटिंग स्किल में सुधार कर सकते हैं जिसका पॉजिटिव असर बच्‍चे पर पड़ेगा। बच्‍चों से बात करते समय सावधान रहें क्‍योंकि इसका उनकी पर्सनैलिटी पर बहुत बड़ा असर पड़ता है।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news