साइबर हमलों से लड़ने के लिए IIT कानपुर ने कसी कमर, 25 स्टार्टअप को करेगा विकसित, फंड भी देगा

ये स्टार्टअप इंडस्ट्री, एकेडमिक इंस्टीट्यूट, सरकारी कार्यालय, क्रिटिकल इंफ्रास्ट्रक्चर आदि को ध्यान में रख विकसित किए जाएंगे। आईआईटी कानपुर इनोवेटिव आइडिया का प्रोटोटाइप तैयार करने के लिए भी 10 लाख रुपये तक का फंड उपलब्ध कराएगा।
साइबर हमलों से लड़ने के लिए IIT कानपुर ने कसी कमर, 25 स्टार्टअप को करेगा विकसित, फंड भी देगा

देश को साइबर हमलों से सुरक्षित रखने के लिए आईआईटी कानपुर हर साल 25 स्टार्टअप विकसित करेगा। जो अत्याधुनिक तकनीक पर आधारित हर तरह के अटैक, फ्रॉड व घटनाओं से सुरक्षित रखेगा।

ये स्टार्टअप इंडस्ट्री, एकेडमिक इंस्टीट्यूट, सरकारी कार्यालय, क्रिटिकल इंफ्रास्ट्रक्चर आदि को ध्यान में रख विकसित किए जाएंगे। आईआईटी कानपुर इनोवेटिव आइडिया का प्रोटोटाइप तैयार करने के लिए भी 10 लाख रुपये तक का फंड उपलब्ध कराएगा।

आईआईटी कानपुर में साइबर सुरक्षा को लेकर अत्याधुनिक लैब सी3आई बनी है। जहां संस्थान के वैज्ञानिक व इंक्यूबेटर निरंतर शोध कर साइबर सुरक्षा की नई तकनीक विकसित कर रहे हैं। अब इस लैब में वरिष्ठ साइबर विशेषज्ञ प्रो. मणींद्र अग्रवाल व प्रो. संदीप शुक्ला की देखरेख में हर साल 25 स्टार्टअप तैयार किए जाएंगे।

इसके लिए वैज्ञानिकों ने देशभर से इनोवेटिव आइडिया, प्रोटोटाइप या प्राइमरी स्टार्टअप को आमंत्रित किया है। आईआईटी इन स्टार्टअप को विकसित करने के लिए मेंटर, अत्याधुनिक लैब के साथ एक करोड़ रुपये तक का फंड देगा। सी3आई लैब में वैज्ञानिकों की टीम क्रिटिकल इंफ्रास्ट्रक्चर को सुरक्षित रखने के लिए लगातार शोध कर रही है। क्रिटिकल इंफ्रास्ट्रक्चर में इलेक्ट्रिसिटी, वाटर सप्लाई आदि आता है।

आईआईटी की सी3आई लैब में वैज्ञानिकों की मदद से एक स्टार्टअप ने ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी विकसित की है। जिसमें सभी दस्तावेज हर तरह के साइबर फ्रॉड से सुरक्षित रहेंगे। इस तकनीक का उपयोग आईआईटी के साथ इग्नू भी कर रहा है। साथ ही कर्नाटक सरकार के साथ लखनऊ डेवलपमेंट अथॉरिटी भी अपने दस्तावेज सुरक्षित रखने को इस तकनीक का उपयोग कर रहा है। इस टेक्नोलॉजी का शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था।

इन सिस्टम पर काम करेंगे वैज्ञानिकों संग स्टार्टअप :-

-साइबर असेस्ट मैनेजमेंट
-प्रीमीटर सिक्योरिटी
-पासवर्ड मैनेजमेंट
-बिहेवियर आइडेंटिफिकेशन
-मशीन लर्निंग इन साइबर सिक्योरिटी
-फ्रॉड एंड साइबर क्राइम डिटेक्शन
-मालवेयर एनालिसिस एंड प्रोटेक्शन
-थ्रेट इंटेलीजेंस एंड थ्रेट आइडेंटिफिकेशन
-आईटी सिक्योरिटी
-साइबर पॉलिसी इनफोर्समेंट सॉल्युशंस
-यूएवी सिक्योरिटी
-साइबर रेंज सॉल्युशंस
-डार्कवेब इंटेलीजेंस सॉल्युशंस
-डार्कनेट मॉनीटरिंग सॉल्युशंस
-हनीपॉट एंड डिसेप्शन टेक्नोलॉजी
-साइबर फोरेंसिक टेक्नोलॉजी
-ब्लॉकचेन बेस्ड सॉल्युशंस
-क्रिप्टो करेंसी फोरेंसिक टेक्नोलॉजी
-टेक्नोलॉजी फॉर एट्रीब्यूशन टू साइबर अटैक ग्रुप
-टेक्नोलॉजी फॉर आइडेंटीफाइंग अटैकर्स
-क्रिप्टोग्राफिक हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर, मिडलवेयर सॉल्युशंस
-इंसीडेंट रेस्पांस एंड रिकवरी सॉल्युशंस

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news