सुशांत केस, ड्रग एंगल : एनसीबी को फिल्म स्टारों को ड्रग आपूर्ति के अहम सुराग मिले

सुशांत केस, ड्रग एंगल : एनसीबी को फिल्म स्टारों को ड्रग आपूर्ति के अहम सुराग मिले

सुशांत की मौत के मामले में ड्रग कनेक्शन मात्र टिप ऑफ द आइसबर्ग है। मामले में 'ड्रग एंगल' की जांच कर रही एनसीबी के सूत्रों के अनुसार बॉलीवुड हस्तियों को ड्रग्स की आपूर्ति करने वाले अब्बास लखानी और करण अरोड़ा से पूछताछ के बाद अहम सुराग जुटाए गए हैं।

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में ड्रग कनेक्शन सिर्फ बड़ी समस्या की एक छोटी सी झलक (टिप ऑफ द आइसबर्ग) मात्र है।

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) सुशांत की मौत के मामले में 'ड्रग एंगल' की जांच कर रही है। एनसीबी के उच्च पदस्थ सूत्रों ने आईएएनएस को बताया कि मुंबई में कई बॉलीवुड हस्तियों को ड्रग्स की आपूर्ति करने वाले अब्बास लखानी और करण अरोड़ा से पूछताछ के बाद अहम सुराग जुटाए गए हैं।

एनसीबी को मिली लीड के आधार पर वह मुंबई में मादक पदार्थों की तस्करी और अन्य प्रमुख महानगरों में शामिल कार्टल्स पर एक राष्ट्रव्यापी कार्रवाई शुरू करेगा।

बड़े ड्रग सिंडिकेट्स और कार्टल्स का पता लगाने के लिए पूरे ऑपरेशन की निगरानी 1984 बैच के आईपीएस अधिकारी राकेश अस्थाना द्वारा की जा रही है, जिन्होंने पिछले साल कोलंबिया से संचालित भारत के सबसे बड़े अंतर्राष्ट्रीय कोकीन सिंडिकेट में से एक का भंडाभोड़ किया था।

एनसीबी के शीर्ष सूत्रों ने कहा कि अब्बास लखानी और करण अरोड़ा से पूछताछ के दौरान ब्यूरो द्वारा एकत्रित किए गए इलेक्ट्रॉनिक साक्ष्य से पता चला है कि प्रमुख बॉलीवुड हस्तियों को न केवल गांजा (मारिजुआना) या कलियों (बड्स) की आपूर्ति की गई थी, बल्कि उच्च गुणवत्ता वाला कोकीन भी फिल्म उद्योग में धकेला जा रहा था।

एनसीबी अधिकारी इस मामले के संबंध में और अधिक साक्ष्य जुटा रहे हैं, जिसके परिणामस्वरूप अंतत: ड्रग कार्टेल्स, हवाला ऑपरेटरों और प्रमुख पेडलर्स के खिलाफ एक 'राष्ट्रव्यापी समन्वित कार्रवाई' होगी, जो फिल्म उद्योग में कुछ सबसे प्रसिद्ध हस्तियों को मादक पदार्थों की आपूर्ति में शामिल है।

दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की प्रेमिका बॉलीवुड अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती के व्हाट्सएप चैट्स के आधार पर एनसीबी ने बड्स की आपूर्ति के संबंध में जैद विलात्रा नामक बांद्रा के एक भोजनालय के मालिक को भी दबोचा है।

जैद, अब्बास और करण के बीच की कड़ी बाद में स्थापित हुई। एक अन्य संदिग्ध बासित परिहार से पूछताछ में भी एनसीबी को महत्वपूर्ण सुराग मिले हैं।

सुशांत सिंह राजपूत मामले में ड्रग कनेक्शन की जांच में अब तक पता चला है कि बड्स की आपूर्ति के अलावा, मुंबई में सक्रिय कुछ कोकीन कार्टेल विभिन्न फिल्मस्टारों को उच्च गुणवत्ता वाले ड्रग्स की आपूर्ति भी कर रहे थे।

पांच करोड़ रुपये प्रति किलोग्राम की कीमत वाला कोकीन एक अत्यधिक महंगी पार्टी ड्रग है, जो आमतौर पर महानगरों में हाई-प्रोफाइल ग्राहकों को आपूर्ति की जाती है।

सुशांत के मामले में, व्हाट्सएप चैट का सुझाव है कि केवल बड्स, जो कोकीन की तुलना में काफी सस्ता आती हैं, वह वितरित की जा रही थीं।

एक सूत्र ने बताया कि उनके द्वारा निरंतर की गई पूछताछ के दौरान पेडलर्स ने खुलासा किया कि मुंबई में सक्रिय कार्टेल भी कुछ ग्राहकों को कोकीन की आपूर्ति कर रहे थे।

मुंबई में ड्रग्स फिल्मी हस्तियों सहित हाई-प्रोफाइल क्लाइंट्स तक भेजे जाने के बारे में पूछे जाने पर, अस्थाना ने कोई भी जानकारी देने से इनकार कर दिया।

अस्थाना ने अपने सीबीआई कार्यकाल के दौरान बहुचर्चित चारा घोटाला समेत कई शीर्ष मामलों की जांच की है। उन्होंने आईएएनएस को बताया, "इस मामले में हम बहुत ही संवेदनशील हैं। इस समय हम कोई भी जानकारी साझा नहीं कर सकते। अगर कोई और गिरफ्तारी होती है तो एजेंसी सूचित करेगी।"

सूत्रों ने कहा कि सुशांत के मामले में एनसीबी द्वारा ड्रग एंगल की जांच करने के लिए वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी ने कुशल अधिकारियों की एक टीम तैयार की है। यह टीम बॉलीवुड स्टार की रहस्यमय मौत के मादक पदार्थों के एंगल की गहराई से जांच करेगी। जब सुशांत को 14 जून को अपने बांद्रा स्थित आवास पर फांसी के फंदे से लटका पाया गया था, तभी से उनकी मौत का मामला विवादों में घिरा हुआ है।

मौत के मामले की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा की जा रही है और शीर्ष ड्रग्स-रोधी एजेंसी ड्रग एंगल से मामले की तफ्तीश रही है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news