NCB ने गोवा-मुंबई 'बड्स' सिंडिकेट का किया भंडाफोड़, कई बॉलीवुड सेलेब्रिटीज के साथ होती थी डीलिंग
सुशांत मिस्ट्री

NCB ने गोवा-मुंबई 'बड्स' सिंडिकेट का किया भंडाफोड़, कई बॉलीवुड सेलेब्रिटीज के साथ होती थी डीलिंग

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले से जुड़े ड्रग एंगल पर एनसीबी की कार्रवाई के बाद अब एजेंसी ने गोवा से संचालित एक अन्य प्रमुख सिंडिकेट का पदार्फाश किया है। इस सिंडिकेट से जुड़े लोग कई बॉलीवुड सितारों को क्यूरेटेड मारिजुआना की आपूर्ति करते थे।

Yoyocial News

Yoyocial News

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले से जुड़े ड्रग एंगल पर नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) की कार्रवाई के बाद अब एजेंसी ने गोवा से संचालित एक अन्य प्रमुख सिंडिकेट का पदार्फाश किया है। इस सिंडिकेट से जुड़े लोग कई बॉलीवुड सितारों को क्यूरेटेड मारिजुआना की आपूर्ति करते थे। एनसीबी में उच्च पदों पर आसीन सूत्रों ने बताया कि गोवा के कालान्गुते में स्थित एक लक्जरी रिसोर्ट से जुड़े ड्रग तस्कर फैयाज अहमद से पूछताछ में एक दर्जन से अधिक मुंबई की फिल्मी हस्तियों के नाम सामने आए हैं, जिन्हें बड्स की आपूर्ति की जाती थी।

हालांकि 2 सितंबर को गिरफ्तारी के बाद फैयाज अहमद का कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव निकला। वहीं एनसीबी द्वारा उसकी गहन पूछताछ ने पूरे नेटवर्क और बॉलीवुड-ड्रग माफिया के सांठगांठ को उजागर किया है। अहमद ने खुलासा किया कि नई दिल्ली में विदेशी डाकघर के माध्यम से पार्सल के माध्यम से ड्रग्स का ट्रांसपोर्टशन किया जा रहा था।

इन खेपों में से एक खेप कनाडा के सेंट लॉरेंट, मोडुगनो स्ट्रीट निवासी दान पटेल द्वारा भेजा गया था। कनाडा के क्यूबेक राज्य में मॉन्ट्रियल शहर का सेंट लॉरेंट ड्रग कार्टेल और अपराध सिंडिकेट के लिए बदनाम है, जिसमें कई भारतीय कनेक्शन हैं।

पूछताछ में फैयाज अहमद ने कथित तौर पर कहा है कि क्यूरिएटेड मारिजुआना वाले पार्सल या तो नई दिल्ली से या गोवा में कालान्गुते-अंजुना रोड स्थित एक दुकान से एकत्र किए जाते थे। एक बार जब खेप अहमद के पास पहुंची थी, तो वह मुंबई में आपूर्तिकतार्ओं से संपर्क करता था।

बड्स के हर एक ग्राम के लिए 5,000 से 6,000 रुपये वसूले जाते थे।

कनाडाई ड्रग सिंडिकेट्स से जुड़े पूरे रैकेट का खुलासा एनसीबी के डिप्टी डायरेक्टर (ऑपरेशंस) केपीएस मल्होत्रा ने किया। वह सुशांत मामले की जांच भी कर रहे हैं, जिसमें अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती के भाई शोविक और सुशांत के मैनेजर सैमुअल मिरांडा को गिरफ्तार किया गया है।

एनसीबी के शीर्ष सूत्रों ने कहा कि फैयाज अहमद सहित कई ड्रग तस्करों और पेडलर्स से पूछताछ के दौरान एक दर्जन से अधिक ड्रग आपूर्तिकर्ताओं की पहचान की गई है। इसी तरह की महत्वपूर्ण जानकारी ड्रग आपूर्तिकर्ता अब्देल बासित परिहार से भी निकाली गई है, जो किसी जैद विलात्रा से ड्रग्स खरीदता था और सैमुअल मिरांडा को देता था। एनसीबी परिहार से जुड़े सिंडिकेट और फैयाज अहमद के बीच लिंक को खोजने की कोशिश कर रही है।

एनसीबी के सूत्रों ने कहा कि एनसीबी द्वारा बासित परिहार, उसके सहयोगी अब्बास लखानी और करण अरोड़ा से बड्स की आपूर्ति को लेकर पूछताछ में बॉलीवुड की प्रमुख हस्तियों से जुड़े पर्याप्त सबूत मिले हैं। साथ ही बॉलीवुड सितारों के कोकीन और अन्य ड्रग्स दिए की जानकारी भी मिली है।

एनसीबी अधिकारी ड्रग्स के उत्पादन से जुड़े लोगों को लेकर अधिक साक्ष्य जुटा रहे हैं। इसमें उत्पादनकर्ता, हवाला ऑपरेटरों और प्रमुख पेडलर्स के खिलाफ और फिल्म उद्योग में कुछ लोकप्रिय नामों को मादक पदार्थों की आपूर्ति करने में शामिल लोगों के खिलाफ एक राष्ट्रव्यापी समन्वित कार्रवाई' हो सकती है।

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में ड्रग कनेक्शन की जांच से पता चलता है कि बड्स की आपूर्ति के अलावा, मुंबई में सक्रिय कुछ कोकीन कार्टेल उच्च गुणवत्ता वाले ड्रग्स की आपूर्ति भी कर रहे थे। प्रति किलोग्राम 5 करोड़ रुपये की कीमत वाली कोकीन एक अत्यधिक महंगी पार्टी ड्रग है जो आमतौर पर महानगरों में बड़े ग्राहकों को आपूर्ति की जाती है।

सुशांत मामले में व्हाट्सएप चैट से खुलासा हुआ कि कोकीन की तुलना में बड्स काफी सस्ती आती हैं। इस बीच शुक्रवार शाम को शोविक और सैमुअल की गिरफ्तारी के बाद, कुछ अन्य प्रमुख संदिग्धों पर शिकंजा कसने की तैयारी की जा रही है। वह रिया चक्रवर्ती के करीबी बताए जा रहे हैं।

शोविक और सैमुअल की गिरफ्तारी ड्रग सौदों में शामिल पाए जाने के बाद हुई। एनसीबी के सूत्रों ने बताया कि उनके वित्तीय लेनदेन और डिजिटल रिकॉर्ड एनसीबी द्वारा जांचे गए थे।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news