पूछताछ में रिया ने किए बड़े खुलासे, जांच के दायरे में आ सकती हैं कई बॉलीवुड हस्तियां
सुशांत मिस्ट्री

पूछताछ में रिया ने किए बड़े खुलासे, जांच के दायरे में आ सकती हैं कई बॉलीवुड हस्तियां

दस्तावेजी सबूतों के साथ रिया ने स्वीकार किया है कि वह ऐसे ड्रग पैडलर्स के संपर्क में थीं, जो बॉलीवुड की कई अन्य हस्तियों, जिनमें जाने-माने अभिनेता, निर्देशक और निर्माता शामिल हैं।

Yoyocial News

Yoyocial News

ड्रग्स से संबंधित आरोपों के लिए गिरफ्तार की गई बॉलीवुड अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती ने पूछताछ में कई बड़े खुलासे किए हैं। दस्तावेजी सबूतों के साथ रिया ने स्वीकार किया है कि वह ऐसे ड्रग पैडलर्स के संपर्क में थीं, जो बॉलीवुड की कई अन्य हस्तियों, जिनमें जाने-माने अभिनेता, निर्देशक और निर्माता शामिल हैं, उन्हें 'बड्स' (क्यूरेटेड मारिजुआना) की आपूर्ति कर रहे थे। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) में उच्च पदस्थ सूत्रों यह जानकारी दी।

रिया, उनके भाई शोविक और मुंबई के चार प्रमुख ड्रग पेडलर्स द्वारा किए गए खुलासे के आधार पर एनसीबी ने ड्रग ट्रैफिकिंग सिंडिकेट्स, पेडलर्स और बॉलीवुड हस्तियों सहित दो दर्जन से अधिक संदिग्धों की एक सूची तैयार की है, जो क्यूरेटेड मारिजुआना से लेकर उच्च गुणवत्ता वाली कोकीन खरीद रहे थे। एनसीबी जल्द ही बॉलीवुड-ड्रग माफिया सांठगांठ पर कार्रवाई शुरू करेगी, जो कथित तौर पर अंडरवल्र्ड गिरोहों से जुड़ा हुआ है।

मंगलवार को दायर एनसीबी की रिमांड अर्जी में, शीर्ष ड्रग्स विरोधी एजेंसी ने आरोप लगाया है कि रिया और उनका भाई शोविक एक ड्रग सिंडिकेट के सक्रिय सदस्य थे। एनसीबी का कहना है कि उनका भाई शोविक रिया की ओर से अब्दुल बासित परिहार और काइजन इब्राहिम से ड्रग्स खरीद रहा था।

सूत्रों के अनुसार, जांच के दौरान एनसीबी ने पाया कि परिहार और इब्राहिम मुंबई में सक्रिय एक शीर्ष ड्रग्स कार्टेल से जुड़े थे। परिहार और इब्राहिम के माध्यम से कार्टेल मुंबई के बांद्रा, जुहू और अंधेरी इलाकों में रहने वाले अन्य बॉलीवुड से जुड़ी हस्तियों को ड्रग्स की आपूर्ति कर रहा था।

इससे पहले एनसीबी ने दो सितंबर को गोवा में एक और ड्रग तस्कर फैयाज अहमद को गिरफ्तार किया था, जो बॉलीवुड हस्तियों को ड्रग्स की सप्लाई कर रहा था। फैयाज से पूछताछ के दौरान एजेंसी ने पूरे नेटवर्क और बॉलीवुड-ड्रग माफिया सांठगांठ को उजागर किया।

अहमद ने खुलासा किया कि नई दिल्ली में विदेशी डाकघर के माध्यम से पार्सल के जरिए ड्रग्स भेजी जाती थी। इन खेपों में से एक कनाडा के सेंट लॉरेंट, मोडुगनो स्ट्रीट निवासी दान पटेल द्वारा भेजी गई थी। कनाडा के क्यूबेक राज्य में मॉन्ट्रियल शहर का सेंट लॉरेंट ड्रग कार्टेल और अपराध सिंडिकेट्स के लिए बदनाम है, जहां से कई भारतीय कनेक्शन का भी पता चला हैं।

पूछताछ में फैयाज अहमद ने कथित तौर पर कहा है कि क्यूरिएटेड मारिजुआना वाले पार्सल या तो नई दिल्ली से या गोवा में कालान्गुते-अंजुना रोड स्थित एक दुकान से एकत्र किए जाते थे। एक बार जब खेप अहमद के पास पहुंचती थी, तो वह मुंबई में आपूर्तिकर्ताओं से संपर्क करता था। बड्स के हर एक ग्राम के लिए 5,000 से 6,000 रुपये वसूले जाते थे।

कनाडाई ड्रग सिंडिकेट्स से जुड़े पूरे रैकेट का खुलासा एनसीबी के डिप्टी डायरेक्टर (ऑपरेशंस) केपीएस मल्होत्रा ने किया। वह सुशांत मामले की जांच भी कर रहे हैं, जिसमें रिया के भाई शोविक और सुशांत के मैनेजर सैमुअल मिरांडा को गिरफ्तार किया गया है।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news