छत्तीसगढ़ में नक्सली हमला : देसी रॉकेट लॉन्चर से 22 जवानों की ली जान

छत्तीसगढ़ में नक्सली हमला : देसी रॉकेट लॉन्चर से 22 जवानों की ली जान

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित बीजापुर और सुकमा जिले की सीमा पर इस साल का सबसे बड़ा नक्सली हमला सामने आया है.

नक्सलियों के साथ मुठभेड़ के बाद कुल 22 शव बरामद किए जा चुके हैं.  बताया गया है कि अब भी एक जवान लापता है. कुल 31 जवान घायल हैं जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है

देसी रॉकेट लॉन्चर-एलएमजी से किया हमला: इस हमले में नक्सलियों ने देसी रॉकेट लॉन्चर और एलएमजी का इस्तेमाल किया था. सुरक्षाबलों ने नक्सलियों के सबसे मजबूत गढ़ बीजापुर में यह ऑपरेशन चलाया था. नक्सलियों के खिलाफ अभियान नक्सलियों के सबसे बड़े पीपुल्स लिबरेशन ग्रुप आर्मी प्लाटून वन (PLGA 1) में से एक हिडमा के गढ़ में था.

सीआरपीएफ की कोबरा कमांडो टीम, डिस्ट्रिक्ट रिजर्व गार्ड और स्पेशल टास्क फोर्स की टीम इलाके में माओवादियों के खिलाफ अभियान चला रही थी.

ज्वाइंट ऑपरेशन चलाया: बताया जा रहा है कि सीआरपीएफ और छत्तीसगढ़ पुलिस को खबर थी कि नक्सलियों का बड़ा दुर्दांत कमांडर हिडमा इस हमले से ही 1 किलोमीटर की दूरी पर पोवर्ती गांव में है जिसके बाद सीआरपीएफ और छत्तीसगढ़ पुलिस की डिस्ट्रिक्ट रिजर्व गार्ड ने एक ज्वाइंट ऑपरेशन चलाया था.

कई नक्सली भी ढेर: सुरक्षाबलों पर यह हमला नक्सलियों के संगठन पीपुल्स लिबरेशन ग्रुप आर्मी प्लाटून वन की यूनिट ने किया है जिसका नेतृत्व हिडमा ही करता है I

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news