Jamiya Miliya University: ऑनलाइन पाठ्यक्रम शुरू, कश्मीर से केरल तक सभी छात्र ले सकेंगे दाखिला

सेंटर फॉर डिस्टेंस एंड ओपन एजुकेशन (सीडीओई), जामिया मिल्लिया इस्लामिया (जेएमआई) में, सत्र 2021-22 के लिए डिप्लोमा, सर्टिफिकेट और पोस्ट-ग्रेजुएट ऑनलाइन कार्यक्रमों में ऑनलाइन प्रवेश प्रदान करना सुनिश्चित किया है।
Jamiya Miliya University: ऑनलाइन पाठ्यक्रम शुरू, कश्मीर से केरल तक सभी छात्र ले सकेंगे दाखिला

सेंटर फॉर डिस्टेंस एंड ओपन एजुकेशन (सीडीओई), जामिया मिल्लिया इस्लामिया (जेएमआई) में, सत्र 2021-22 के लिए डिप्लोमा, सर्टिफिकेट और पोस्ट-ग्रेजुएट ऑनलाइन कार्यक्रमों में ऑनलाइन प्रवेश प्रदान करना सुनिश्चित किया है। इसके अंतर्गत बैचलर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन, बीए, बी.कॉम, एमए और एम.कॉम जैसे कोर्स उपलब्ध कराए जाएंगे।

जामिया इन पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए ऑनलाइन आवेदन फॉर्म बेवसाइट पर ऑनलाइन उपलब्ध कराए जा रहे हैं। कश्मीर में केरल तक या फिर उत्तर पूर्वी राज्यों के छात्र इन ऑनलाइन पाठ्यक्रमों में दाखिला ले सकते हैं।

प्रवेश के लिए जो पाठ्यक्रम उपलब्ध हैं उनमें बैचलर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन, बैचलर ऑफ आर्ट्स, बी.कॉम, एमए (अंग्रेजी), एमए (हिंदी), एमए (इतिहास), एमए (उर्दू), एमए (राजनीति विज्ञान), एमए (समाजशास्त्र) एम.कॉम, पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन गाइडेंस एंड काउंसलिंग तथा पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन जियोइनफॉरमैटिक्स आदि शामिल हैं।

जामिया विश्वविद्यालय प्रशासन के मुताबिक नॉन टेस्ट आवेदन फॉर्म जमा करने की अंतिम तिथि 30 नवंबर, 2021 है। दस्तावेजों का सत्यापन और शुल्क का भुगतान 1 दिसंबर 2021 से शुरू होगा। उम्मीदवारों को 6 दिसंबर, 2021 तक सभी तरह से प्रवेश प्रक्रिया को पूरा करना अनिवार्य है।

जामिया ने आवेदकों को सलाह दी है कि वे दी गई जानकारी को ध्यान से पढ़ें और ऑनलाइन प्रवेश आवेदन फॉर्म जमा करने से पहले अपनी पात्रता सुनिश्चित कर लें। आवेदन फॉर्म जमा करने की अंतिम तिथि के बाद कोई भी आवेदन फॉर्म स्वीकार नहीं किया जाएगा।

अधिक जानकारी के लिए सेंटर फॉर डिस्टेंस एंड ऑनलाइन एजुकेशन (सीडीओई), जेएमआई के कार्यालय से संपर्क नंबर 011-26981717 पर संपर्क किया जा सकता है।


वहीं जेएनयू में अब जल्द ही पीएचडी दाखिले शुरू किए जाएंगे। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में पीएचडी पाठ्यक्रमों के लिए आयोजित की गई प्रवेश परीक्षा का परिणाम गुरुवार को घोषित कर दिया।

विश्वविद्यालय ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर यह परिणाम जारी किए हैं। छात्र वेबसाइट से अपना परीक्षा परिणाम पता कर सकते हैं।

प्रवेश परीक्षा में सफल रहे छात्रों को अब वाइवा वॉयस राउंड देना होगा। इसमें में सफल रहे छात्र फीस का भुगतान करने के साथ ही दाखिला ले सकेंगे। वाइवा वॉयस राउंड के लिए जल्द ही शेड्यूल जारी किया जाएगा। पीएचडी दाखिले की फाइनल मेरिट सीबीटी स्कोर के 70 प्रतिशत और वाइवा के 30 प्रतिशत वेटेज के आधार पर तैयार की जाएगी।

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में पीएचडी, एम फिल और अन्य स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों की प्रवेश परीक्षाएं 20 से 23 सितंबर के बीच आयोजित करवाई गई थीं।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news