Higher Education: symbolic photo
Higher Education: symbolic photo
एजुकेशन

UP की यूनिवर्सिटीज में इस वर्ष छात्रों को परीक्षा बिना प्रोन्नति का फैसला, 'प्रोन्नति फार्मूला' कल आएगा

सरकार ने परीक्षाएं न कराने के समिति के सुझाव को सैद्धांतिक रूप से मानकर सभी विश्वविद्यालयों के लिए एक समान प्रोन्नति का फॉर्मूला तय करने को कहा है। प्रदेश में 18 राज्य विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों के 48 लाख से अधिक विद्यार्थियों पर इसका असर होगा।

Yoyocial News

Yoyocial News

उत्तर प्रदेश सरकार ने कोरोना संक्रमण के चलते प्रदेश में इस वर्ष राज्य विश्वविद्यालयों की परीक्षाएं नहीं कराने का फैलला ले लिया है. सरकार ने कहा है कि अब सभी विद्यार्थियों को प्रोन्नत किया जाएगा। यह फैसला परीक्षाओं के आयोजन को लेकर मेरठ विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. तनेजा की अध्यक्षता में गठित समिति सिफारिशों के आलोक में लिया गया है. समिति ने सोमवार को अपनी रिपोर्ट शासन को सौंप दी थी। अब समान प्रोन्नति फार्मूले पर फैसला होना है जिसकी घोषणा गुरूवार यानी 2 जुलाई को होगी.

सरकार ने परीक्षाएं नहीं कराने के समिति के सुझाव को सैद्धांतिक रूप से मान लिया है, लेकिन सभी विश्वविद्यालयों के लिए एक समान प्रोन्नति का फॉर्मूला तय करने को कहा है। प्रदेश में 18 राज्य विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों के 48 लाख से अधिक विद्यार्थियों पर इसका असर होगा।

बता दें कि कोरोना वायरस की महामारी के कारण देश में जिस वक्त लॉकडाउन हुआ, यूपी के कई विश्वविद्यालयों में परीक्षा चल रही थी, कुछ में शुरु भी नहीं हुई थीं. मार्च में ही परीक्षा शुरू हुई थी कि 25 मार्च से लॉकडाउन लागू हुआ और सभी परीक्षाएं स्थगित करनी पड़ीं. पिछले दिनों कुछ विश्वविद्यालयों ने स्थगित परीक्षा के लिए तारीखों का ऐलान भी कर दिया था, जिसके बाद कई जगह छात्र सड़क पर उतर आए थे.

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news