शिव के 12 ज्योतिर्लिंग: इन स्थानों पर विराजमान हैं भगवान शंकर, दर्शन मात्र से मिलता है पुण्य

धार्मिक मान्यता के अनुसार, सावन सोमवार के दिन भगवान शिव की पूजा करने से जीवन से सभी तरह की परेशानियों से छुटकारा मिलता है। भगवान शंकर जी का जलाभिषेक करने से सभी मनोकामनाओं की पूर्ति हो जाती है।
शिव के 12 ज्योतिर्लिंग: इन स्थानों पर विराजमान हैं भगवान शंकर, दर्शन मात्र से मिलता है पुण्य

धार्मिक मान्यता के अनुसार, सावन सोमवार के दिन भगवान शिव की पूजा करने से जीवन से सभी तरह की परेशानियों से छुटकारा मिलता है। भगवान शंकर जी का जलाभिषेक करने से सभी मनोकामनाओं की पूर्ति हो जाती है।

सोमवार को भगवान शिव के पूजन का विधान है। आज हम आपको बता रहे हैं उनके 12 ज्योतिर्लिंग के बारे में ये कहां-कहां स्थित हैं।

शिव के 12 ज्योतिर्लिंग: इन स्थानों पर विराजमान हैं भगवान शंकर, दर्शन मात्र से मिलता है पुण्य
Sawan 2021: कब से शुरू हो रहा है सावन का महीना, जानिए सोमवार के व्रत की तिथियां

कुल बारह ज्योतिर्लिंग हैं :-

सोमवार को भगवान शिव के विशेष स्थान ज्योतिर्लिंगों में भारी भीड़ उमड़ती है। ये पवित्र शिवलिंग पूरे देश में प्रतिष्ठित हैं और इनकी कुल संख्या बारह है। भगवान शिव के इन ज्योतिर्लिंग को प्रकाश लिंग भी कहा जाता है।

ये पूजा के लिए भगवान शिव के पवित्र धार्मिक स्थल और केंद्र हैं। शिव को स्वयम्भू के रूप में भी जाना जाता है, जिसका अर्थ है स्वयं उत्पन्न

आइये जानें ये कहां हैं।

शिव के 12 ज्योतिर्लिंग: इन स्थानों पर विराजमान हैं भगवान शंकर, दर्शन मात्र से मिलता है पुण्य
Sawan: सावन में ये पूजा दिलाएगी शिव जी से मुँह-माँगा वरदान, जाने पूजा की विधि

ज्योतिर्लिंग के स्थान :-

पहला स्थान :

सोमनाथ

यह ज्योतिर्लिंग गुजरात के काठियावाड़ में स्थापित है।

शिव के 12 ज्योतिर्लिंग: इन स्थानों पर विराजमान हैं भगवान शंकर, दर्शन मात्र से मिलता है पुण्य
भगवान शिव दिन में दो बार दर्शन देकर समा जाते हैं समुद्र की गोद में, जानिए इस अनोखे मंदिर के बारे में

दूसरा स्थान :

श्री शैल मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग

मद्रास में कृष्णा नदी के किनारे पर्वत पर स्थापित है।

तीसरा स्थान :

महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग

ये महाकाल उज्जैन के अवंति नगर में स्थापित है । कहते हैं यहां शिवजी ने दैत्यों का नाश किया था।

शिव के 12 ज्योतिर्लिंग: इन स्थानों पर विराजमान हैं भगवान शंकर, दर्शन मात्र से मिलता है पुण्य
भगवान शिव के प्रमुख तीर्थस्थलों में से एक है अमरनाथ यात्रा, जाने क्यूँ खास कहा जाता है इस धर्म स्थल को

चौथा स्थान :

ॐकारेश्वर ज्योतिर्लिंग

मान्यता है कि ॐकारेश्वर मध्यप्रदेश के धार्मिक स्थल ओंकारेश्वर में नर्मदा तट पर पर्वतराज विंध्य की कठोर तपस्या से खुश होकर शिव वरदान देने हुए प्रकट हुए थे जिसके बाद यहां ममलेश्वर स्थापित हुआ।

पांचवां स्थान :

नागेश्वर ज्योतिर्लिंग

ये गुजरात के द्वारकाधाम के निकट स्थापित नागेश्वर ज्योतिर्लिंग।

शिव के 12 ज्योतिर्लिंग: इन स्थानों पर विराजमान हैं भगवान शंकर, दर्शन मात्र से मिलता है पुण्य
Gemstones (रत्न): महंगे रत्न नहीं खरीद सकते हैं तो जानिए रत्नों के उपरत्न के बारे में, बदल देंगे ज़िंदगी

छठवां स्थान :

बैजनाथ धाम

झारखंड के देवघर में स्थित बैद्यनाथ धाम स्थापित है।

सातवां स्थान :

भीमाशंकर

महाराष्ट्र की भीमा नदी के किनारे स्थापित भीमशंकर ज्योतिर्लिंग।

शिव के 12 ज्योतिर्लिंग: इन स्थानों पर विराजमान हैं भगवान शंकर, दर्शन मात्र से मिलता है पुण्य
Jagannath Rath Yatra: क्या है जगन्नाथ रथ यात्रा ? जानें इसका महत्व, चार धामों में से एक है जगन्नाथ मंदिर

आठवां स्थान :

त्रर्यंम्बकेश्वर ज्योतिर्लिंग

नासिक से 25 किलोमीटर दूर त्र्यंम्बकेश्वर में स्थापित ज्योतिर्लिंग।

नवां स्थान :

घुमेश्वर ज्योतिर्लिंग

महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले में एलोरा गुफा के पास वेसल गांव में स्थापित घुमेश्वर ज्योतिर्लिंग।

शिव के 12 ज्योतिर्लिंग: इन स्थानों पर विराजमान हैं भगवान शंकर, दर्शन मात्र से मिलता है पुण्य
Vastu Tips: घर में रखें ये मूर्तियां, जाग जायेगी सोयी हुई किस्मत

दसवां स्थान :

केदारनाथ

हरिद्वार से 150 पर मिल दूर, केदारनाथ में हिमालय पर्वत पर स्थित केदारनाथ ज्योतिर्लिंग।

ग्यारहवां स्थान :

काशी विश्वनाथ

बनारस के काशी विश्वनाथ मंदिर में स्थापित विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग।

शिव के 12 ज्योतिर्लिंग: इन स्थानों पर विराजमान हैं भगवान शंकर, दर्शन मात्र से मिलता है पुण्य
सरकारी नौकरी नहीं मिल रही है तो आपके सपने को पूरा करेंगे ये चमत्कारी टोटके...

बारहवां स्थान :

रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग

रामेश्वरम्‌ में त्रिचनापल्ली समुद्र तट पर भगवान श्रीराम द्वारा स्थापित रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news