Akshaya Tritiya 2022: जाने क्यूँ अक्षय तृतीया के दिन गृह प्रवेश करना शुभ होता है..!

जिस प्रकार शुभ मुहूर्त में घर खरीदना अच्छा माना जाता है और एक अच्छे मुहूर्त में ही घर की नींव रखी जाती है, उसी प्रकार नए घर में प्रवेश करने के लिए भी कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना जरूरी होता है।
Akshaya Tritiya 2022: जाने क्यूँ अक्षय तृतीया के दिन गृह प्रवेश करना शुभ होता है..!

जिस प्रकार शुभ मुहूर्त में घर खरीदना अच्छा माना जाता है और एक अच्छे मुहूर्त में ही घर की नींव रखी जाती है, उसी प्रकार नए घर में प्रवेश करने के लिए भी कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना जरूरी होता है।

ऐसी मान्यता है कि एक अच्छे मुहूर्त में शुभ दिन और पूरे परिवार के साथ मिलकर नए घर में किया गया प्रवेश यानी कि गृह प्रवेश आपके जीवन में खुशहाली तो लाता ही है और इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा का वास भी होता है।

ऐसा माना जाता है कि गृह प्रवेश समारोह घर में रहने वाले लोगों के लिए सकारात्मकता और सौभाग्य लाता है। इसलिए वास्तु में इस बात पर जोर दिया गया है कि यदि किसी शुभ दिन पर गृह प्रवेश किया जाता है, तो यह उस घर में रहने वालों को स्वास्थ्य, शांति, समृद्धि और खुशी का आशीर्वाद देता है।

इसी वजह से सकारात्मकता सुनिश्चित करने और बुरी ताकतों को दूर भगाने के लिए अनुष्ठानों के साथ गृह प्रवेश समारोह किया जाता है। इसके लिए, गृह प्रवेश पूजा करने के लिए सबसे उपयुक्त तिथि, हिंदू चंद्र कैलेंडर या पंचांग की जांच की जाती है।

ऐसी ही शुभ तिथियों में से एक है अक्षय तृतीया की तिथि। अब सवाल यह उठता है कि क्या इस साल अक्षय तृतीया के दिन नए घर में गृह प्रवेश करना ठीक है? आइए ज्योतिषाचार्य एवं वास्तु विशेषज्ञ डॉ आरती दहिया जी से जानें कि इस साल अक्षय तृतीया के दिन गृह प्रवेश करना शुभ है या नहीं।

अक्षय तृतीया 2022 गृह प्रवेश के लिए है अत्यंत शुभ मुहूर्त

अक्षय तृतीया इस साल 2022 में 3 मई, मंगलवार के दिन पड़ेगी। इस तिथि का शुभ समय सुबह 5:18 बजे से है और 4 मई को सुबह 7:32 बजे तक रहेगा। इस वर्ष धन-समृद्धि का स्वामी शुक्र और कार्य सिद्धि का ग्रह चंद्रमा अपनी उच्च राशि में रहेगा और यह एक दुर्लभ योग का निर्माण करता है। इस संजोग की वजह से इस साल अक्षय तृतीया के दिन बिना सोचे विचारे किसी भी मुहूर्त में आप नए घर में प्रवेश कर सकते हैं। वैसे ज्योतिष के अनुसार गृह प्रवेश का सबसे शुभ मुहूर्त इस दिन प्रातः 5:18 बजे से 11:34 बजे तक है। यदि आप इस मुहूर्त में गृह प्रवेश करेंगे तो यह आपके लिए अत्यंत लाभकारी हो सकता है।

अक्षय तृतीया में कर सकते हैं कई शुभ कार्य

ज्योतिष में ऐसी मान्यता है कि इस दिन आप बिना मुहूर्त देखे ही कोई भी शुभ कार्य शुरू कर सकते हैं। अक्षय तृतीया गृह प्रवेश करने के साथ नया घर खरीदने के लिए भी अत्यंत शुभ तिथि है। इस दिन यदि आप गृह प्रवेश की योजना बना रहे हैं, तो आपको मुहूर्त की तलाश करने की आवश्यकता नहीं है। इस दिन किसी भी समय नए घर में प्रवेश करना उत्तम है। इसके अलावा इस दिन मुंडन संस्कार, यज्ञोपवीत, सगाई और यहां तक कि शादी के लिए भी आपको शुभ मुहूर्त की तलाश करने की आवश्यकता नहीं है। अक्षय तृतीया में किसी भी समय आप ये सभी शुभ कार्य सफलतापूर्वक कर सकते हैं।

संपत्ति खरीदारों के लिए अक्षय तृतीया का महत्व

गृह प्रवेश पूजा के लिए तो अक्षय तृतीया एक शुभ दिन है। इसके अलावा ज्योतिष और वास्तु के अनुसार इस दिन नया घर खरीदने से बुरी आत्माएं घर से हमेशा दूर रहती हैं और यह तिथि परिवार के लिए स्वास्थ्य और समृद्धि को आमंत्रित करती है। अक्षय तृतीया पर लोग नए घर का निर्माण या घर की नींव रख सकते हैं और सम्पति से जुड़ा कोई भी निर्णय ले सकते हैं। दरअसल अक्षय का अर्थ है 'जो कभी कम नहीं होता है' यानि कि जो शाश्वत है। ऐसा माना जाता है कि यह दिन सौभाग्य और सफलता लाता है। अक्षय तृतीया का दिन सोने और संपत्ति की खरीद के साथ भी जुड़ा हुआ है, क्योंकि ऐसा कहा जाता है कि इस दिन खरीदी गई कोई भी मूल्यवान वस्तु हमेशा के लिए बढ़ोत्तरी करती है और अच्छी किस्मत लाती है।

अक्षय तृतीया में कैसे करें गृह प्रवेश

नए घर में प्रवेश के लिए कई रीति-रिवाजों का पालन किया जाता है। ऐसा माना जाता है कि नए घर में प्रवेश आपके नए जीवन के समान होता है। वास्तु के अनुसार भी गृह प्रवेश एक बड़ा अनुष्ठान है जिसे विधि विधान से करने से घर में सुख समृद्धि बनी रहती है। गृह प्रवेश के समय आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए और नियमपूर्वक पूजा करनी चाहिए।

  • यदि आप अक्षय तृतीया के दिन नए घर में प्रवेश कर रहे हैं तो आपको सबसे पहले एक कलश स्थापना करनी होगी।

  • कलश स्थापना करके नए घर में प्रवेश करने के लिए, एक तांबे के बर्तन में पानी और अनाज भरें और उसके अंदर एक सिक्का रखें।

  • कलश पर लाल कुमकुम से स्वस्तिक बनाएं। एक नारियल को लाल कपड़े से ढककर कलश पर रख दें।

  • घी का दीया जलाएं और भगवान से शांति, समृद्धि, सुख और अच्छे स्वास्थ्य की प्रार्थना करें और प्रसाद चढ़ाएं।

  • इस दिन पूरे घर को रंगीन फूलों से सजाएं। सभी परिवार के लोग सत्यनारायण भगवान की कथा सुनें।

  • अक्षय तृतीया के दिन भगवान विष्णु की सत्यनारायण रूप में पूजा से विशेष फल प्राप्त होता है।

  • गृह प्रवेश करते समय, सुनिश्चित करें कि घर का मुख्य द्वार साफ और अच्छी तरह से सजाया गया हो और उसमें पर्याप्त रोशनी हो।

  • मुख्य द्वार घर में समृद्धि और सकारात्मकता के लिए स्वस्तिक और ॐ का निशान बनाएं।

  • घर की दहलीज को शुभ प्रतीकों जैसे स्वस्तिक और लक्ष्मी चरण के साथ रंगोली से सजाएं और मुख्य द्वार को ताजे फूलों के तोरण से सजाएं।

यदि आप किसी मुख्य पंडित के सहयोग से गृह प्रवेश करवाते हैं तो यह घर पर वास्तु पूजा, गणेश पूजा या नवग्रह शांति के लिए अच्छा हो सकता है। हो सके तो घर में खुशबूदार हवन सामग्री का प्रयोग करके छोटा सा हवन करें। हवन एक पवित्र प्रथा है, जिसका इस्तेमाल घर के शुद्धिकरण के लिए किया जाता है। घर में सकारात्मक ऊर्जा को सक्रिय करने में पेड़-पौधों की अहम भूमिका होती है। इसलिए गृह प्रवेश के दिन अपने घर के चारों ओर पेड़ लगाने का प्रयास करें। नए घर में तुलसी का पौधा अवश्य लगाएं जो आपके घर के लिए अत्यंत शुभ होगा और नकारात्मकता को दूर भगाएगा।

इस प्रकार यदि आप अक्षय तृतीया में नए घर में प्रवेश करने के बारे में सोच रहे हैं तो यह आपके लिए अत्यंत शुभ दिन है और आपको बिना सोचे विचारे ही इस दिन गृह प्रवेश करना चाहिए।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.