हृषीकेश सुलभ और नागेन्द्र
हृषीकेश सुलभ और नागेन्द्र
आर्ट एंड कल्चर

Video: अपने पहले उपन्यास 'अग्निलीक' पर हृषीकेश सुलभ मुखातिब हैं नागेन्द्र से

कथाकार-नाटककार और अब उपन्यासकार हृषीकेश सुलभ (Hrishikesh Sulabh) के पहले उपन्यास 'अग्निलीक' के बहाने यह बातचीत प्रभा खेतान फॉउंडेशन की पहल पर 'कलम' लखनऊ ने आयोजित की।

Yoyocial News

Yoyocial News

हृषीकेश सुलभ हिन्दी रंगमंच और कहानी की दुनिया का जाना-पहचाना नाम हैं. ‘अमली’, ‘मैला आंचल’ और ‘माटीगाड़ी’ सरीखे नाटकों के बाद ‘पथरकट’, ‘बंधा है काल’, ‘वधस्थल से छलांग’, ‘बसंत के हत्यारे’, ‘तूती की आवाज’, ‘हलंत’ और ‘प्रतिनिधि कहानियाँ’ तथा अभी-अभी नेशनल बुक ट्रस्ट से भी एक कथा संग्रह. चार दशक की इस सुदीर्घ कथा और रंगयात्रा के बाद हृषीकेश सुलभ ने पहला उपन्यास ‘अग्निलीक’ लिखा जो अभी-अभी राजकमल प्रकाशन से आया है. उपन्यास इन दिनों चर्चा में है. इसी उपन्यास के बहाने हृषीकेश सुलभ के अवदान पर बात करने के लिए प्रभा खेतान फाउंडेशन (Prabha Khetan Foundation) की पहल पर ‘कलम’ लखनऊ ने होटल हयात रेजेन्सी में एक शाम का आयोजन बुधवार, 19 फरवरी को किया. Hrishikesh Sulabh से बात की हिंदुस्तान के पूर्व सम्पादक और Yoyocial.news के मैनेजिंग एडिटर नागेन्द्र (Nagendra Pratap) ने...

यहां देखें वीडियो

अग्निलीक
अग्निलीक
Video: अपने पहले उपन्यास 'अग्निलीक' पर हृषीकेश सुलभ मुखातिब हैं नागेन्द्र से
अग्निलीक
अग्निलीक

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news