Kanya Pujan 2021: जानें नवरात्रि में कन्या पूजन के समय 9 कन्याओं और 'लंगूर' का महत्व

अगर आप महाष्टमी पर कन्या पूजन कर‌ रहे हैं तो मां महागौरी की पूजा करने के बाद कन्या पूजन करें अन्यथा महानवमी पर मां सिद्धिदात्री की पूजा करने के बाद कन्या पूजन करें। कन्या पूजन के लिए नौ कन्याओं और एक लंगूर को बिठा लीजिए।
Kanya Pujan 2021: जानें नवरात्रि में कन्या पूजन के समय 9 कन्याओं और 'लंगूर' का महत्व

नवरात्रि व्रत पारण करने से पहले लोग कन्या पूजन करते हैं तथा कन्याओं को भोजन करवाकर उनका आशीर्वाद लेते हैं। कन्या पूजन के लिए लोग महाष्टमी और महा नवमी तिथि अनुकूल समझते हैं। महाष्टमी तिथि पर मां महागौरी की पूजा करने के बाद लोग घर में हवन करवाते हैं।

वहीं कुछ लोग महानवमी पर मां सिद्धिदात्री की पूजा करने के बाद हवन करवाते हैं। हवन करवाने के बाद कन्या पूजन किया जाता है फिर व्रत का पारण करते हैं। शारदीय मास की महा नवमी पर नवरात्रि समाप्त होती है।

Kanya Pujan 2021: जानें नवरात्रि में कन्या पूजन के समय 9 कन्याओं और 'लंगूर' का महत्व
Ashtami & Navami 2021: जानें क्यूँ होती है अष्टमी और नवमी पर कन्याओं की पूजा, जानिए क्या है इस साल का शुभ मुहूर्त

कन्या पूजन की विधि :-

अगर आप महाष्टमी पर कन्या पूजन कर‌ रहे हैं तो मां महागौरी की पूजा करने के बाद कन्या पूजन करें अन्यथा महानवमी पर मां सिद्धिदात्री की पूजा करने के बाद कन्या पूजन करें। कन्या पूजन के लिए नौ कन्याओं और एक लंगूर को बिठा लीजिए।

Kanya Pujan 2021: जानें नवरात्रि में कन्या पूजन के समय 9 कन्याओं और 'लंगूर' का महत्व
Durga Chalisa: नवरात्रि पर करें श्री दुर्गा चालीसा का यह पाठ, कष्टों का होगा निवारण

नौ कन्याएं मां दुर्गा के नौ स्वरूप को दर्शाती हैं वहीं एक लंगूर भैरव को दर्शाता है। अगर किसी कारणवश नौ कन्याएं बिठाने में आप असमर्थ हैं तो कुछ ही कन्याओं में भी यह पूजन किया जा सकता है। जितनी कन्याएं बची हैं उनका भोजन आप गौमाता को खिला सकते हैं।

कन्याओं और लंगूर का पैर धोकर उन्हें आसन पर बिठा दीजिए। अब सभी कन्याओं और लंगूर को तिलक लगाइए और आरती कीजिए। मंदिर में मां को भोग लगाने के बाद कन्याओं और लंगूर को भोजन करवाइए। भोजन के पश्चात उन्हें फल और दक्षिणा दीजिए। अंत में सभी कन्याओं और भैरव का पैर छूकर आशीर्वाद लीजिए और सम्मान पूर्वक सभी को विदा कीजिए।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news