Akshaya Tritiya: आज है अक्षय तृतीया, क्यों माना जाता है इस दिन को इतना शुभ, जानें इसका महत्व और सोना खरीदने का समय

Akshaya Tritiya: आज है अक्षय तृतीया, क्यों माना जाता है इस दिन को इतना शुभ, जानें इसका महत्व और सोना खरीदने का समय

अक्षय तृतीया 14 मई 2021 शुक्रवार के दिन पड़ रही है। हिन्दू पंचांग के अनुसार, हर साल यह त्योहार वैशाख माह शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि पर अक्षय तृतीया का पर्व मनाया जाता है।

अक्षय तृतीया 14 मई 2021 शुक्रवार के दिन पड़ रही है। हिन्दू पंचांग के अनुसार, हर साल यह त्योहार वैशाख माह शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि पर अक्षय तृतीया का पर्व मनाया जाता है।

शास्त्रों के अनुसार अक्षय तृतीया सभी पापों का नाश करने वाली एवं सभी सुखों को प्रदान करने वाली शुभ तिथि है। इस तिथि पर किया गया कोई भी शुभ कार्य जरूर सफल होता है। 

इसलिए अक्षय तृतीया को विवाह, गृह प्रवेश, नया व्यापार, धार्मिक अनुष्ठान और पूजा- पाठ के लिए सर्वश्रेष्ठ तिथि मानी गई है। सोना खरीदने के लिए यह बेहद ही श्रेष्ठ दिन माना जाता है।

Akshaya Tritiya: आज है अक्षय तृतीया, क्यों माना जाता है इस दिन को इतना शुभ, जानें इसका महत्व और सोना खरीदने का समय
Vastu Tips: अपने पूजा घर के नीचे चुपचाप से रख दें बस ये एक चीज, गरीबी भूल जायेगी आपके घर का रास्ता

अक्षय तृतीया के दिन क्यों खरीदते हैं सोना ?

ऐसी मान्यता है कि अक्षय तृतीया के दिन किए गए कार्यों का फल कई गुना प्राप्त होता है। साथ ही यह भी मान्यता है कि इस दिन जो भी धातु खरीदी जाती है वह भविष्य में कई गुणा आगे बढ़ती है । यही कारण है कि इस दिन सोना खरीदना शुभ माना जाता है।

यह भी मान्यता है कि इस दिन सोना खरीदने से सुख-समृद्धि की अपार वृद्धि होती है, घर-परिवार में सदैव खुशहाली बनी रहती है। हिंदू पंचांग की मानें तो अक्षय तृतीया के दिन अबूझ मुहूर्त का योग होता है जिसे बेहद शुभ माना जाता है।

यही वजह है कि इस दिन कोई भी शुभ कार्य या नए काम की शुरुआत की जाती है। इसके अलावा इस दिन लोग चांदी, बर्तन और अन्य कीमती वस्तुओं की भी खरीदारी करते हैं।

Akshaya Tritiya: आज है अक्षय तृतीया, क्यों माना जाता है इस दिन को इतना शुभ, जानें इसका महत्व और सोना खरीदने का समय
शक्तिपीठ मनसा देवी , जहाँ गिरा था देवी सती के मस्तिष्क का अग्र भाग

अक्षय तृतीया शुभ मुहूर्त :-

तृतीया तिथि का आरंभ : 14 मई 2021 को प्रात: 05 बजकर 38 मिनट से।

तृतीया तिथि का समापन : 15 मई 2021 को प्रात: 07 बजकर 59 मिनट तक।

अक्षय तृतीया पूजा मुहूर्त : प्रात: 05 बजकर 38 मिनट से दोपहर 12 बजकर 18 मिनट तक

अवधि : 06 घंटा 40 मिनट

yoyocial.news
yoyocial.news
Akshaya Tritiya: आज है अक्षय तृतीया, क्यों माना जाता है इस दिन को इतना शुभ, जानें इसका महत्व और सोना खरीदने का समय
आज है हनुमान जयंती: अवश्य करें ये उपाय, आपके समस्त कष्टों का होगा निवारण

अक्षय तृतीया का महत्व :-

शास्त्रों में अक्षय तृतीया को शुभ कार्यों के लिए अबूझ मुहूर्त के रूप में देखा जाता है। अक्षय तृतीया पर देवी लक्ष्मी की विशेष पूजा की जाती है। देवी लक्ष्मी के साथ इस दिन भगवन विष्णु की भी पूजा होती है। अक्षय तृतीया पर पूजा करने से शुभफल की प्राप्ति होती है।

अक्षय तृतीया के दिन ही भगवान परशुराम का जन्म हुआ था। माना जाता है कि महर्षि वेद व्यास ने अक्षय तृतीया के दिन से महाभारत लिखना शुरू किया था। इसके साथ ही सतयुग, द्वापर और त्रेतायुग के आरंभ की गणना अक्षय तृतीया से मानी गई है।

Akshaya Tritiya: आज है अक्षय तृतीया, क्यों माना जाता है इस दिन को इतना शुभ, जानें इसका महत्व और सोना खरीदने का समय
कामाख्या देवी : 51 शक्तिपीठों में से सबसे महत्वपूर्ण मंदिर, जानिए महत्वपूर्ण रहस्य

अक्षय तृतीया पर भूलकर भी न करें ये काम :-

  • अक्षय तृतीया पर किसी को दुख नहीं पहुंचाना चाहिए।

  • इस दिन किसी भी तरह के गलत कार्य को करने से बचना चाहिए।

  • किसी को अपशब्द न कहें।

  • किसी के ऊपर गुस्सा न करें।

  • सात्विक भोजन ग्रहण करें।

  • मांस-मछली और शराब आदि का सेवन न करें।

Akshaya Tritiya: आज है अक्षय तृतीया, क्यों माना जाता है इस दिन को इतना शुभ, जानें इसका महत्व और सोना खरीदने का समय
जानिए काँगड़ा देवी के बारे में, ये माता के 51 शक्तिपीठों में से एक शक्तिपीठ है

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news