Lohri 2022: देश भर में आज मनाई जा रही है लोहड़ी, जाने पूजा की विधि और इसकी पौराणिक कथा

आज यानी 13 जनवरी को लोहड़ी का पर्व मनाया जाता है l लोहड़ी पंजाबियों का मुख्य त्योहार है l लेकिन इसे पूरे भारत में काफी हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है,लोहड़ी के दिन आग जलाई जाती है और लोग आग की परिक्रमा करके गीत गाते हैं और डांस भी करते हैं l
Lohri 2022: देश भर में आज मनाई जा रही है लोहड़ी, जाने पूजा की विधि और इसकी पौराणिक कथा

आज यानी 13 जनवरी को लोहड़ी (Lohri) का पर्व मनाया जाता है l लोहड़ी पंजाबियों का मुख्य त्योहार है l लेकिन इसे पूरे भारत में काफी हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है l लोहड़ी के दिन आग जलाई जाती है और लोग आग की परिक्रमा करके गीत गाते हैं और डांस भी करते हैं l

लेकिन क्या आपको पता हैं कि लोहड़ी के दिन आग क्यों जलाई जाती है? आइए जानते हैं इसके पीछे की पौराणिक कथा के बारे में...

पौराणिक कथा के मुताबिक, एक बार राजा दक्ष ने यज्ञ करवाया था, लेकिन इसमें अपने दामाद शिव और पुत्री सती को आमंत्रित नहीं किया l इस बात से नाराज़ होकर सती अपने पिता के पास जवाब लेने पहुंची l वहां, पति शिव की निंदा वह बर्दाश्त नहीं कर पाईं और उन्होंने खुद को उसी यज्ञ में भस्म कर दिया l

सती की मृत्यु का समाचार सुन भगवान शिव ने वीरभद्र को उत्पन्न कर उसके द्वारा यज्ञ का विध्वंस करा दिया l ऐसा किसी के साथ ना हो इसीलिए हर साल लोहड़ी पर आग लगाई जाती है ताकि फिर इस आग में कोई लड़की ना जले l साथ ही लोहड़ी पर बेटी और दामाद को आमंत्रित किया जाता है।

इस दिन आग जलाकर उसके आसपास डांस किया जाता है l इसके साथ ही इस दिन आग के पास घेरा बनाकर दुल्ला भट्टी की कहानी सुनाई जाती है l

लोहड़ी पर दुल्ला भट्टी की कहानी सुनने का खास महत्व होता है l मान्यता है कि मुग़ल काल में अकबर के समय में दुल्ला भट्टी नाम का एक शख्स पंजाब में रहता था l

उस समय कुछ अमीर व्यापारी सामान की जगह शहर की लड़कियों को बेचा करते थे, तब दुल्ला भट्टी ने उन लड़कियों को बचाकर उनकी शादी करवाई थी l तब से हर साल लोहड़ी के पर्व पर दुल्ला भट्टी की याद में उनकी कहानी सुनाने की पंरापरा चली आ रही है l

यह पंजाबियों का मुख्य त्योहार है लेकिन भारत में इसे सभी जगह काफी हर्षोल्लास से मनाया जाता है l लोहड़ी हर साल 13 जनवरी को मनाई जाती है l लोहड़ी को लाल लाही, लोहिता व खिचड़वार नाम से भी जाना जाता है l आइए जानते हैं लोहड़ी की पूजन विधि और और पूजन सामग्री के बारे में...

– लोहड़ी के दिन भगवान श्रीकृष्ण, अग्निदेव और आदिशक्ति की पूजा की जाती है l

– इस दिन घर की पश्चिम दिशा में आदिशक्ति की प्रतिमा स्थापित करें l

– प्रतिमा के आगे सरसों के तेल का दीपक जलाएं l

– प्रतिमा पर सिंदूर और बेलपत्र चढ़ाएं l

– प्रसाद में भगवान को तिल और लड्डू का भोग चढ़ाएं l

– सूखा नारियल में कपूर डालकर जलाएं l

– अग्नि जलाकर उसमें तिल के लड्डू , मक्का और मूंगफली डालें l

– इसके बाद अग्नि की 7 बार परिक्रमा करें l

नव- विवाहितों के लिए लोहड़ी का महत्व :-

नव-विवाहित जोड़ों के लिए लोहड़ी का त्योहार काफी खास माना जाता है l इस दिन नई-शादी वाली लड़कियां दुल्हन की तरह तैयार होती हैं l इसके बाद वह पूरे परिवार के साथ लोहड़ी की पूजा में शामिल होती हैं l जिसके बाद बड़े-बुजुर्गों का आशीर्वाद लिया जाता है l

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.