Nirjala Ekadashi 2022: निर्जला एकादशी कल, व्रत में न करें ये गलतियां, होती हैं बेहद अशुभ

निर्जला एकादशी का व्रत करने से साल के सभी 24 एकादशी व्रत करने जितना फल मिलता है. इसलिए बेहद कठिन होने के बाद भी लोग निर्जला एकादशी का व्रत करते हैं. निर्जला एकादशी के व्रत में व्रती के लिए पानी पीना तक वर्जित होता है.
Nirjala Ekadashi 2022: निर्जला एकादशी कल, व्रत में न करें ये गलतियां, होती हैं बेहद अशुभ

Nirjala Ekadashi Confirm Date 2022:

निर्जला एकादशी का व्रत करने से साल के सभी 24 एकादशी व्रत करने जितना फल मिलता है. इसलिए बेहद कठिन होने के बाद भी लोग निर्जला एकादशी का व्रत करते हैं. निर्जला एकादशी के व्रत में व्रती के लिए पानी पीना तक वर्जित होता है.

इस साल यह व्रत 10 जून 2022, शुक्रवार को रखा जाएगा. यह व्रत करने से सारे पाप नष्‍ट होते हैं और खूब पुण्‍य मिलता है. यह व्रत जीवन में आर्थिक संपन्‍नता और सुख देने वाला है. लेकिन निर्जला एकादशी के दिन कुछ बातों का ध्‍यान रखना बेहद जरूरी है. इस दिन की गईं कुछ गलतियां बहुत भारी पड़ती हैं.

निर्जला एकादशी व्रत में न करें ये गलतियां :-

निर्जला एकादशी व्रत रखने वाले लोगों को कुछ गलतियों से बचना चाहिए. यहां तक कि जो लोग निर्जला एकादशी का व्रत नहीं रख रहे हैं, उन्‍हें भी इस दिन यह काम नहीं करने चाहिए.

शास्त्रों के अनुसार निर्जला एकदशी व्रत रखने से पहले और बाद की रात में चावल नहीं खाना चाहिए. एकादशी व्रत में चावल का सेवन करना बड़ा पाप माना गया है.

निर्जला एकादशी व्रत में व्रती को नमक का सेवन नहीं करना चाहिए. वैसे तो इस व्रत में पानी तक नहीं पीना चाहिए लेकिन ऐसा संभव न हो तो फल आदि ही लें. नमक का सेवन बिल्‍कुल नहीं करें.

व्रत के दिन झूठ नहीं बोलें. किसी को अपशब्‍द नहीं कहें. ब्रम्‍हचर्य का पालन करें.

जो लोग निर्जला एकादशी का व्रत नहीं कर रहे हैं वे भी इस दिन चावल, मसूर की दाल, मूली, बैंगन और सेम का सेवन न करें.

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news