Sharadiya Navratri 2021: नवरात्रि पर करने जा रहे हैं कलश स्थापना तो जान लें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

Sharadiya Navratri 2021: नवरात्रि पर करने जा रहे हैं कलश स्थापना तो जान लें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

आज हम जानते हैं कि नवरात्रि में कलश स्थापना या घट स्थापना की विधि क्या है? कलश स्थापना का मुहूर्त एवं सामग्री क्या है?

नवरात्रि का प्रारंभ आश्विन शुक्ल प्रतिपदा से होता है। मां दुर्गा की आराधना का पावन पर्व नवरात्रि इस वर्ष 07 अक्टूबर से प्रारंभ हो रही है। प्रतिपदा के दिन कलश स्थापना के साथ नवरात्रि व्रत और मां दुर्गा की पूजा का संकल्प लिया जाता है।

आज हम जानते हैं कि नवरात्रि में कलश स्थापना या घट स्थापना की विधि क्या है? कलश स्थापना का मुहूर्त एवं सामग्री क्या है?

Sharadiya Navratri 2021: नवरात्रि पर करने जा रहे हैं कलश स्थापना तो जान लें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि
Shardiya Navratri 2021: जाने शारदीय नवरात्रि पर होगी किस दिन किस देवी की पूजा, कलश स्थापना का मुहूर्त

नवरा​​त्रि कलश स्थापना मुहूर्त :-

नवरात्रि घट स्थापना 7/10/2021 प्रातः 6:22से प्रातः 7:11 श्रेष्ठ मुहूर्त हैं, दोपहर 11:58 से 12:31 अभिजित् हैं दूसरा श्रेष्ठ मुहूर्त हैं,

मुहूर्त - 06:22 AM से 07:11AM

00 घण्टे 49min

घटस्थापना अभिजित मुहूर्त - 11:51AM~12:38 PM

अवधि - 00 घण्टे 47 मिनट्स

घटस्थापना मुहूर्त प्रतिपदा तिथि पर है जो की 6/10/2021को ही सायंकाल 4:34 प्रारम्भ हो रही हैं और 7/10/2021 को दोपहर 1:47 तक ही हैं अतः घट स्थापना के लिए उपरोक्त मुहूर्त हैं, संयोगवश यह घट स्थापना चित्रा नक्षत्र वैधृति योग और कन्या लग्न में हो रही हैं जिस पर दिन के स्वामी योग के स्वामी "गुरू" हैं नैसर्गिक शुभ ग्रह हैं।

Sharadiya Navratri 2021: नवरात्रि पर करने जा रहे हैं कलश स्थापना तो जान लें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि
VIDEO: कल से शुरू हो रही शारदीय नवरात्रि, जान लें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

कलश स्थापना की सामग्री :-

नवरात्रि में कलश स्थापना के लिए लाल रंग का आसन, मिट्टी का घड़ा या कलश, जौ, मिट्टी, मौली, कपूर, रोली, इलायची, लौंग, साबुत सुपारी, अक्षत्, अशोक या आम के पांच पत्ते, सिक्के, लाल चुनरी, सिंदूर, नारियल, फल-फूल, श्रृंगार पिटारी और फूलों की माला।

Sharadiya Navratri 2021: नवरात्रि पर करने जा रहे हैं कलश स्थापना तो जान लें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि
शक्तिपीठ कालीघाट : काली माता मंदिर कोलकाता की कहानी

नवरात्रि कलश स्थापना विधि प्रात :-

स्नान करके शुभ साफ़ मिट्टी के द्वारा वेदी निर्माण कर सप्तधान (जौ) छींटकर जल से भरे हुए कलश में रक्षासूत्र (कलावा) बांधकर वैदिक मन्त्रों के द्वारा कलश स्थापन करना चाहिए। इसके बाद कलश में नारा, रोली, अक्षत्, पुष्प, सुपारी, पान एवं दक्षिणा डालकर पंचपल्लव रखकर उस पर पूर्णपात्र स्थापित कर जटादार जल भरे हुए नारियल को उस पर रखना चाहिए। फिर नवरात्रि के लिए नौदुर्गा का आवाहन एवं स्थापन करना चाहिए।

Sharadiya Navratri 2021: नवरात्रि पर करने जा रहे हैं कलश स्थापना तो जान लें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि
Navratri Special Recipe : Sabudana Khichri (साबूदाना खिचड़ी )

माँ दुर्गा स्तुति मन्त्र :-

सर्वस्वरूपे सर्वेशे सर्व शक्ति समन्विते। भयेत्भयस्त्राहि नो देवि दुर्ग़े देवी नमोस्तुते।।
लक्ष्मी लज्जे महाविद्ये श्र्द्धे पुष्टिस्वधे ध्रुवे। महारात्रि महालक्ष्मी नारायणी नमोस्तुते।। ॐ वागिश्वरी महागौरी गणेश जननी शिवे। विद्यां वाणिज्य बुद्धीं देहि में परमेश्वरी।।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.