Surya Shani Yuti 2023: 13 फरवरी को शनि के साथ सूर्य की युति, 3 राशियों पर होगी धन की बरसात

वैदिक ज्योतिष में सूर्य को शनि का शत्रु कहा गया है। अगर किसी की कुंडली में सूर्य-शनि की युति हो या एक दूसरे को ये ग्रह देखते हो तो जातक के जीवन में संघर्ष होता है।
Surya Shani Yuti 2023: 13 फरवरी को शनि के साथ सूर्य की युति, 3 राशियों पर होगी धन की बरसात

वैदिक ज्योतिष में सूर्य को शनि का शत्रु कहा गया है। अगर किसी की कुंडली में सूर्य-शनि की युति हो या एक दूसरे को ये ग्रह देखते हो तो जातक के जीवन में संघर्ष होता है। दरअसल सूर्य ग्रहों के राजा है और शनि की उनसे शत्रुता के कारण सूर्य अपना फल नहीं देते जिसकी वजह से जातक को मान सम्मान के लिए बहुत समय तक इंतज़ार करना पड़ जाता है।

इसके अलावा यह युति पिता को कष्ट देने वाली भी कही गई है। गोचर में भी सूर्य-शनि की युति एक बड़ी घटना होती है जिसका प्रभाव सभी 12 राशियों पर पड़ता है। 13 फरवरी को सूर्य देव कुंभ राशि में प्रवेश करेंगे जहां पहले ही शनि विराजमान होंगे, ऐसे में सूर्य- शनि की युति कुंभ राशि में बनेगी। 

यह युति 14 मार्च तक प्रभावी रहेगी और उसके बाद सूर्य देव मीन राशि में प्रवेश कर जाएंगे। दूसरी ओर दोनों ग्रहों की सप्तम दृष्टि सिंह राशि पर होगी जिससे राजनीति में भी बड़ा परिवर्तन दिखाई देगा। इस गोचर से 3 राशियों को बेहद लाभ होता हुआ दिखाई दे रहा है।

आइए जानते है कि 3 राशियां कौन कौन सी है। 

मेष राशि :- 

इस राशि के जातकों के लिए सूर्य पंचम और शनि दशम, लाभ के स्वामी होते हैं। दोनों ग्रहों की युति मेष राशि के जातकों के लिए लाभ स्थान में होगी। इस भाव से व्यक्ति की आय और उसके स्तोत्र का ज्ञान होता है। दोनों ग्रहों की संयुक्त दृष्टि आपके पंचम भाव पर होगी। इस युति के कारण मेष राशि के जातकों को राजयोग के समान फल मिलने वाले है।

इस समय आपके भाई और मित्रों से आपको मदद प्राप्त होगी। सरकार के साथ काम कर रहे जातकों को इस समय जबरदस्त सफलता मिलने वाली है। इस समय आपको अपना खुद का काम शुरू करने के मौके मिलने वाले है। तेल, लोहे और खनन से जुड़े काम में सफलता मिलेगी। 

कन्या राशि :-

इस राशि के जातकों के लिए सूर्य बारहवें और शनि पंचम,छठे भाव के स्वामी होते हैं। दोनों ग्रहों की युति कन्या राशि के लिए अब छठे भाव में ही होगी। इस राशि के जातकों के लिए सूर्य शनि दोनों विपरीत राजयोग का फल प्रकट करने वाले है। दोनों ग्रहों का संयुक्त प्रभाव बारहवें भाव पर होगा।

इसके प्रभाव से विदेश में काम कर रहे जातक सफलता प्राप्त करने वाले है। इस समय आपको किसी बड़ी नौकरी का प्रस्ताव भी आ सकता है। दोनों ग्रहों के प्रभाव से आपके शत्रुओं का नाश होगा। इस समय आपको सरकार से लाभ प्राप्त हो सकता है। सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे जातकों को सफलता मिल सकती है। 

धनु राशि :-

इस राशि के जातकों के लिए सूर्य नवम भाव वही शनि दूसरे, तीसरे भाव के स्वामी होते हैं। दोनों ग्रहों की युति धनु राशि के लिए तीसरे भाव में ही होगी। इस भाव से जातक के साहस और पराक्रम का विचार किया जाता है। दोनों ग्रहों का संयुक्त प्रभाव आपके भाग्य स्थान पर होगा। इस गोचर में आपको यात्राओं से लाभ होता हुआ दिखाई दे रहा है।

इस समय आपका साहस और पराक्रम बढ़ा हुआ रहने वाला है और आपकी वाणी के प्रभाव से आपके कार्य सिद्ध होंगे। इस समय आपको भाग्य का भरपूर साथ मिलने के योग बने हुए है। किसी धार्मिक यात्रा के माध्यम से कोई बड़ी डील हो सकती है। इस समय आपको पिता की ओर से धन की मदद मिल सकती है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news