बिहार: सूर्योपासना के छठ व्रत पर अस्ताचलगामी सूर्य को दिया गया अर्घ्य
आर्ट एंड कल्चर

बिहार: सूर्योपासना के छठ व्रत पर अस्ताचलगामी सूर्य को दिया गया अर्घ्य

शनिवार की सुबह लोक आस्था का चार दिवसीय महापर्व छठ उदीयमान सूर्य को अर्घ्य देने के साथ संपन्न हो जाएगा।बुधवार को नहाय-खाय से चार दिवसीय छठ पर्व की शुरूआत हुई थी।

Yoyocial News

Yoyocial News

लोकआस्था और सूर्योपासना के महापर्व छठ के तीसरे दिन शुक्रवार की शाम बिहार की राजधानी पटना के विभिन्न गंगा घाटों, तालाबों, जलाशयों और घर तथा अपार्टमेंट की छतों पर लाखों व्रतियों ने अस्ताचलगामी भगवान भास्कर को अर्घ्य दिया और पूजा-अर्चना की।

कोरोना काल में छठ पर्व को लेकर गंगा के छठ घाट पर व्रतियों की संख्या हालांकि अन्य सालों से कम दिखी। घाट पर बिना मास्क लगाए जाने पर पाबंदी लगाई गई थी। छठ पर्व को लेकर आम से लेकर खास तक भक्ति में डूबे हैं। छठ को लेकर पूरा बिहार भक्तिमय हो गया है। गंगा घाट से लेकर विभिन्न नदियों के तटों, तालाब और जलाशयों पर भक्ति का सैलाब उमड़ पड़ा।

मुहल्लों से लेकर गंगा तटों तक यानी पूरे इलाके में छठ पूजा के पारंपरिक गीत गूंजते रहे। राजधानी पटना की सभी सड़कें पूरी तरह सजी हैं। छठ पर्व को लेकर गंगा घाटों में सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था की गई है। राजधानी की मुख्य सड़कों से लेकर गलियों तक की सफाई की गई।

बिहार के मुख्यमंत्री आवास में भी छठ के गीत गूंज रहे हैं। मुख्यमंत्री परिसर में शुक्रवार की शाम अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य देने के लिए काफी चहल-पहल रही। शुक्रवार की शाम मुख्यमंत्री ने अपने स्वजनों को अर्घ्य दिलाया।

शनिवार की सुबह लोक आस्था का चार दिवसीय महापर्व छठ उदीयमान सूर्य को अर्घ्य देने के साथ संपन्न हो जाएगा।

उल्लेखनीय है कि बुधवार को नहाय-खाय से चार दिवसीय छठ पर्व की शुरूआत हुई थी।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news