बड़ा मंगल पर विशेष : लॉकडाउन में गुम हो गई 'बड़े मंगल' की रौनक, वीरान हैं मंदिर, सड़कों पर भी सन्नाटा.
आर्ट एंड कल्चर

बड़ा मंगल पर विशेष : लॉकडाउन में गुम हो गई 'बड़े मंगल' की रौनक, वीरान हैं मंदिर, सड़कों पर भी सन्नाटा.

'बड़े मंगल' का लखनऊ में हमेशा से ही बहुत विशेष महत्व रहा है. इस दिन सभी हनुमान मंदिरों में दर्शन के लिए भोर से रात तक हजारों श्रद्धालुओं का ताँता लगा रहता है. शहर के सन्नाटे में उन मंदिर की घंटियों की आवाजें सुनाई देना तक बंद हो गई हैं.

Yoyocial News

Yoyocial News

धरती के सर्वमान्य देवता हैं हनुमान जी. श्रीहनुमान जी धरती के ऐसे सर्वमान्य देवता हैं जो अपने भक्तों के लिए हर जगह हर समय मौजूद रहते हैं. राम नाम का जाप हो, श्रीराम चरितमानस, सुंदर कांड, श्रीहनुमान चालीसा पाठ या राम कथा का प्रवचन, ऐसे सभी स्थानों पर हनुमान जी खुद पहुँच जाते हैं.

ज्येष्ठ माह के मंगलवार 'बड़े मंगल' का लखनऊ में हमेशा से ही बहुत विशेष महत्व रहा है. इस दिन सभी हनुमान मंदिरों में दर्शन के लिए भोर से रात तक हजारों श्रद्धालुओं का ताँता लगा रहता है. भक्तजन शहरभर में सैकड़ों पांडाल लगाकर पूड़ी सब्जी, हलुआ, छोला पूड़ी, शर्बत व पानी आदि का प्रसाद वितरण करते हैं. ज्येष्ठ के सभी मंगलवार लखनऊ में हनुमान उत्सव की तरह मनाये जाते हैं. इस बार कोरोना काल में लॉकडाउन के कारण सभी धार्मिक स्थल बंद हैं. इसीलिए शहर के सभी प्रतिष्ठित हनुमान मंदिरों में भी भक्तजनों के जाने पर रोक तो है ही, पांडाल भी नहीं लगाए जा सके हैं.

कोरोना काल ने कई सारी जरूरी चीजों पर पाबंदी लगा दी है. जो कभी नहीं हुआ वो इस कठिन समय में लोगों को देखना पड़ रहा है. शहर के सन्नाटे में उन मंदिर की घंटियों की आवाजें सुनाई देना तक बंद हो गई हैं, खासकर बड़े मंगल में तो शहर में चारो तरफ और भी चहल-पहल देखने को मिलती है.

इस बार नहीं हैं ऐसे नज़ारे

पिछले वर्ष कुछ ऐसा था नजारा (फाइल फोटो)
पिछले वर्ष कुछ ऐसा था नजारा (फाइल फोटो)
पिछले वर्ष कुछ ऐसा था नजारा (फाइल फोटो)
पिछले वर्ष कुछ ऐसा था नजारा (फाइल फोटो)

लेकिन कोरोना संकट के बीच फिलहाल सबकुछ बंद है. बावजूद इसके भक्तों की आस्था में कोई कमी नहीं आई है और लोग अपने घरों में ही आरती-भक्ति कर रहे हैं.

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news