Scorpio Rashifal 2023: जाने कैसा होगा वृश्चिक राशि वालों के लिए कैसा साल 2023

वृश्चिक राशि के जातकों के लिए साल के शुरू में ही शनि कुंभ में गोचर कर चौथे भाव को प्रभावित करेंगे। शनि के इस संचरण को ढैया के नाम से जाना जाता है। इस समय आपको थोड़ा मानसिक तनाव देखने को मिल सकता है।
Scorpio Rashifal 2023: जाने कैसा होगा वृश्चिक राशि वालों के लिए कैसा साल 2023

वृश्चिक राशि के जातकों के लिए साल के शुरू में ही शनि कुंभ में गोचर कर चौथे भाव को प्रभावित करेंगे। शनि के इस संचरण को ढैया के नाम से जाना जाता है। इस समय आपको थोड़ा मानसिक तनाव देखने को मिल सकता है। शनि के इस गोचर के कारण आपको कार्यस्थल पर मेहनत अधिक करनी होगी वहीं कार्यो में देरी देखने को मिल सकती है।

गुरु अप्रैल अंत तक आपके पंचम भाव को प्रभावित कर संतान और धन के पक्ष को मजबूत बनाये रखने वाले है लेकिन 22 अप्रैल से लेकर 30 अक्टूबर तक राहु के साथ गुरु चांडाल युति का निर्माण कर सेहत को प्रभावित करेंगे। साल के उत्तरार्ध में राहु केतु 30 अक्टूबर को राशि परिवर्तन करेंगे और आपके पंचम और एकादश भाव को प्रभावित करेंगे।

कुल मिलाकर इस साल आपको चौथे, पांचवे और छठे भाव से जुड़े फल अधिक प्राप्त होने वाले है। इस साल संपत्ति, धन, शिक्षा और नौकरी से जुड़े परिणाम अधिक प्राप्त होंगे। बाकी और ग्रहों के गोचर भी समय समय पर आपके जीवन में बदलाव लाएगा जिसका विवरण नीचे प्रस्तुत है। 

जनवरी-फरवरी
जनवरी माह में सप्तम मंगल के कारण आपके दाम्पत्य जीवन में कुछ तनाव बना रह सकता है। इस समय आपको अपनी पत्नी की भावनाओं की कद्र करनी होगी। पराक्रम भाव में सूर्य होने से भाइयों का सहयोग और यात्राओं से लाभ होगा। वाणी कारक बुध का धन भाव में गोचर वाणी को जहां मधुर बनाएगा वही दूसरी ओर शोध कर्म में जुटे हुए छात्रों को नए अविष्कार के लिए प्रेरित भी करेगा। माह अंत में शनि की ढैया शुरू होने से आपको पारिवारिक जीवन में कुछ तनाव देखने को मिल सकता है। इस समय कार्य स्थल पर शत्रुओं से सावधान रहना होगा। 

फरवरी माह में नौकरी बदलने का विचार मन में जा सकता है। राहु पर शनि की नीच की दृष्टि आपको थोड़ा खिन्न कर सकती है। इस समय आपको उन्नति नहीं मिलने से तनाव बना रह सकता है। इस माह पंचम में विराजमान गुरु की शुक्र से युति प्रेम संबंध के लिए बेहतर रहने वाली है। युवा जातक इस समय अपने प्रेमी के साथ घूमने जा सकते है। यह समय पांडित्य से जुड़े लोगों को भी बढ़िया मुनाफा देगा क्योंकि गुरु लाभ भाव को प्रभावित कर रहे है। शेयर मार्केट से जुड़े जातक धन संचय करने में सफल होंगे वही सरकारी सेवा से जुड़े लोगों को थोड़ी मेहनत अधिक करनी होगी। 

मार्च-अप्रैल
मार्च माह में राशि स्वामी मंगल अष्टम भाव में गोचर कर आपकी मुश्किल बढ़ाने वाले होंगे। इस समय बारहवें भाव में विराजमान केतु की दृष्टि मंगल पर होने के कारण चोट दुर्घटना आदि से सामना हो सकता है। इस समय आपको अपने धन संचय पर काम करना होगा क्योंकि पारिवारिक खर्च के कारण थोड़ी जेब ढीली हो सकती है। माह मध्य में छठे भाव में शुक्र का गोचर राहु के साथ होने से किसी महिला मित्र से थोड़ी अनबन हो सकती है। इस समय आपके घर में नए मेहमान का आगमन हो सकता है। विद्यार्थी वर्ग को इस समय अच्छी सफलता मिलने के योग दिखाई पड़ रहे है। 

अप्रैल माह में गुरु का राशि परिवर्तन एक टर्निंग पॉइंट सिद्ध होगा। अब देव गुरु बृहस्पति राहु के साथ मेष राशि में गोचर करेंगे वही केतु पर उनकी दृष्टि होगी। दूसरी ओर शनि की भी दृष्टि अब गुरु पर होगी जिसके कारण आपको अच्छी नौकरी मिलने की उम्मीद जताई जा सकती है। इस समय मन्त्र सिद्धि में लगे हुए जातकों को देवताओं की कृपा प्राप्त होगी। धार्मिक यात्रा का योग दिखाई पड़ रहा है। ऐसा भी हो सकता है की इस समय आप किसी दार्शनिक से जुड़कर जीवन को एक अलग नज़रिये से देखने लग जाए। कार्य स्थल पर अब चीजें आपके अनुकूल होगी वही उच्च शिक्षा के लिए विदेश जाने की बाट जोह रहे जातकों को अब सफलता मिलती हुई दिखाई पड़ रही है। हालांकि अपने स्वास्थ्य को लेकर सावधान रहना होगा।

मई-जून
मई माह में आपको अटके कामों में गति आने की सम्भावना बन रही है। इस माह लग्न पर सूर्य के प्रभाव से आप एक अच्छे टीम लीडर साबित होंगे। इस समय आपको शुक्र के विपरीत राजयोग के कारण गुप्त सहयोग प्राप्त होगा। अपने काफी समय से जो काम सोचा हुआ था वो काम अब किसी महिला की मदद से होगा। भाग्य में नीच राशि के मंगल का गोचर तकलीफ देगा। इस समय आपको जितना हो सके अपने पिता और गुरुओं की सेवा करनी होगी। छठे भाव में बुध गुरु की युति किसी बड़े निवेश की ओर संकेत कर रही है। इस समय जो स्टार्टअप विदेशी फंडिंग की योजना बना रहे है उन्हें सफलता मिलेगी। 

जून माह में आप अपनी पत्नी के साथ अच्छा समय बिताने वाले हैं। ऐसा भी हो सकता है कि आप अपनी पत्नी और बच्चों के साथ कहीं बाहर घूमने चले जाए। दसमेश सूर्य माह मध्य में अष्टम में गोचर करने वाले है जिससे आपको कार्य स्थल पर थोड़ी कठिनाई महसूस हो सकती है। शुक्र की नीच के मंगल के साथ युति किसी प्रेम संबंध के उजागर होने की ओर संकेत है। इस समय यौन इच्छा बड़ी हुई रहेगी इसलिए किसी महिला मित्र के साथ जोर जबरदस्ती आपको भविष्य में बेहद नुकसानदायक सिद्ध हो सकती है। इस समय संतान की उपलब्धि पर गर्व हो सकता है। महिला जातकों को विपरीत लिंग के प्रति आकर्षण से बचने की सलाह दी जाती है। 

जुलाई-अगस्त
जुलाई माह आपके करियर के लिए बेहद ही अच्छा रहेगा। इस समय मंगल शुक्र की युति से आपको ना सिर्फ तरक्की मिलेगी बल्कि आपको नई जिम्मेदारी मिलेगी। इस समय जो पैतृक काम संभाल रहे है उनके भी काम में उन्नति होगी। खुद का व्यापार अगर आप शुरू करना चाह रहे है तो इस समय आपको अपने पिता से अच्छी मदद मिलेगी। हालांकि शनि मंगल का समसप्तक योग परिवार में बेवजह किसी विवाद को जन्म दे सकता है। आपको हर छोटी बात पर अधिक सोचना बंद करना होगा। माह अंत में सूर्य बुध भाग्य में वृद्धि कर सरकार से सहयोग करवाने वाले होंगे। 

अगस्त माह में राशि स्वामी लाभ स्थान में गोचर कर धन वृद्धि के योग बनाने वाले है। इस समय इंजीनियरिंग कर रहे जातकों को किसी अविष्कार के लिए सम्मानित भी किया जा सकता है। दशम में विराजमान सूर्य चारों और से प्रसिद्धि और सुख समृद्धि देने वाले होंगे। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे जातकों को इस समय कोई अच्छी खबर मिल सकती है। भाग्य में विराजमान शुक्र पत्नी सुख में वृद्धि की ओर संकेत कर रहे है। इस  समय काम के सिलसिले में की गई यात्राएं सफल होगी। इस माह आपको वाहन सुख की प्राप्ति हो सकती है। कार्य स्थल पर महिला वर्ग का सहयोग आपको मिलता रहने वाला है। 

सितंबर-अक्तूबर
सितंबर माह में लाभेश बुध दशम भाव में गोचर कर शनि के साथ समसप्तक योग का निर्माण करने वाले है। इस योग से जो छात्र शोध कार्य में लगे है उन्हें सफलता मिलेगी। इस समय फाइनेंस से जुड़े जातकों के काम को सराहना प्राप्त होगी। अगर आप खिलाडी है तो इस समय आपको सम्मानित किया जा सकता है। इस माह सूर्य मंगल की युति आपके काम को आगे बढ़ाने वाली होगी। स्त्री जातकों को इस माह शुक्र की कृपा से बड़े आर्डर मिल सकते है। इस माह आप किसी धार्मिक यात्रा के लिए भी प्रस्थान कर सकते है। यह समय गुप्त साधना के लिए उचित कहा जा सकता है। 

अक्टूबर माह में राहु केतु अपनी राशि बदलकर क्रमशः मीन और कन्या में गोचर करेंगे। इस संचरण के कारण राहु का गोचर अब आपके पंचम भाव में होने जा रहा है और केतु आपके लाभ स्थान को प्रभावित करेंगे। इस संचरण के कारण आप गुरु चांडाल योग से मुक्त हो जाएंगे और अब गुरु पुरे बल के साथ छठे भाव का फल प्रदान करने वाले है। इस माह आपके प्रेम संबंधों में खटास आ सकती है। आपको अपने जीवनसाथी की भावनाओं का ख्याल रखकर चलना होगा। इस माह विदेशी यात्रा से लाभ होने की उम्मीद है। अपने कारोबार को बढ़ाने के लिए आप विदेश जायेंगे और आपकी मन मुताबिक सफलता भी मिलेगी। 

नवंबर-दिसंबर
नवम्बर माह आपके लिए स्वास्थ्य के लिहाज से थोड़ा बेहतर रहने वाला है। दरअसल इस माह गुरु चांडाल योग से मुक्त होने के कारण स्वास्थ्य में अच्छा सुधार दिखाई देगा। इस माह मंगल के कारण बन रहे रुचक राजयोग के कारण आपको समाज में मान सम्मान प्राप्त होने वाला है। इस समय आप एक अलग प्रकार की आध्यात्मिक ऊर्जा से सराबोर रहने वाले है। हालांकि लग्न में विराजमान सूर्य मंगल की युति पर शनि की दृष्टि के कारण आपको थोड़ा अहंकार से बचना होगा। इस समय आप अपने क्रोध के कारण किसी कलह को जन्म दे सकते है। नीच के शुक्र पर राहु की दृष्टि के कारण स्त्री पक्ष से कष्ट होगा। 

साल के अंतिम माह दिसम्बर में आपको धन से जुड़े अच्छे परिणाम प्राप्त होंगे। सूर्य धन स्थान में विराजमान होकर पैतृक संपत्ति का लाभ देंगे वही बुध साहस में वृद्धि कर लेखन, मीडिया और संचार से जुड़े जातकों को प्रसिद्धि देने का काम करेंगे। इस माह आपको शनि देव की कृपा से किसी बड़े सरकारी पद पर नियुक्त किया जा सकता है। स्त्री जातकों के लिए यह माह बेहद शुभ रहने वाला है। शुक्र की बारहवें भाव में बलवान उपस्थिति आपको विदेशों से धन लाभ करवाने वाली होगी। इस माह आप अपने प्रेमी के साथ कहीं बाहर घूमने के लिए भी जा सकते है। इस दौरान गुरु देव बृहस्पति की कृपा से बड़ी नौकरी मिलने के योग भी दिखाई पड़ रहे है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news