पाकिस्तान: इमरान खान का बड़ा दावा, लंदन में हो रहा अगले पाक सेना प्रमुख पर फैसला

दरअसल, जनरल बाजवा का कार्यकाल 29 नवंबर को समाप्त होने वाला है जिसके चलते नए सेनाध्यक्ष की नियुक्ति की चर्चा जोरों पर है। वहीं इनसब के बीच प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ का लदंन जाकर नवाज शरीफ से मिलना इमरान खान का रास नहीं आ रही है।
पाकिस्तान: इमरान खान का बड़ा दावा, लंदन में हो रहा अगले पाक सेना प्रमुख पर फैसला

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने शुक्रवार को दावा करते हुए कहा कि देश के अगले सेना प्रमुख की नियुक्ति का फैसला लंदन में किया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ इसके लिए अपने बड़े भाई नवाज शरीफ से मिलने के लिए ब्रिटेन गए हुए हैं। देश की सुरक्षा के मसले देश के बाहर तय किए जा रहे हैं। 

दरअसल, जनरल बाजवा का कार्यकाल 29 नवंबर को समाप्त होने वाला है जिसके चलते नए सेनाध्यक्ष की नियुक्ति की चर्चा जोरों पर है। वहीं इनसब के बीच प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ का लदंन जाकर नवाज शरीफ से मिलना इमरान खान का रास नहीं आ रही है।

लंदन में तमाशा हो रहा: इमरान खान
इमरान खान ने कहा कि लंदन में तमाशा हो रहा है। ऐसा दृश्य कहीं देखने को नहीं मिलता है। लंदन में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ की बैठक का उद्देश्य क्या है? बैठक में सेना प्रमुख को चुनने के फैसले पर बातचीत हो रही है।इमरान खान ने अपनी पार्टी PTI के सोशल मीडिया हैंडल पर पोस्ट किए गए एक वीडियो में अगले सेना प्रमुख की नियुक्ति पर शहबाज शरीफ की मुलाकात के बारे में ये टिप्पणी की है।

इमरान खान ने नवाज शरीफ पर भी बोला जोरदार हमला
इमरान खान ने कहा कि देश के अहम फैसले विदेशों में बैठे, पिछले 30 साल से पाकिस्तान को लूटने वालों द्वारा लिए जाते हैं। गौरतलब है कि इसके पहले PTI प्रमुख इमरान खान ने कहा था कि अगले सेना प्रमुख की नियुक्ति का मानदंड ‘योग्यता’ पर आधारित होना चाहिए। PTI के लॉन्ग मार्च को वर्चुअली संबोधित करते हुए इमरान खान ने कहा कि जो भी योग्यता के अनुकूल हो उसे सेना प्रमुख नियुक्त किया जाना चाहिए।

निजी विमान से निजी दौरे पर लंदन पहुंचे शहबाज 
प्रधानमंत्री के यात्रा कार्यक्रम को राज्य के सूचना और प्रसारण मंत्री मरियम औरंगजेब ने एक ट्वीट में साझा किया, जहां उन्होंने लिखा, कॉप-27 सम्मेलन में भाग लेने के बाद प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ एक निजी उड़ान से लंदन के लिए रवाना हुए। यह पहली बार नहीं है जब शहबाज ने मार्गदर्शन लेने के लिए अपने बड़े भाई की ओर रुख किया है। इस साल अप्रैल में सत्ता में आने के बाद से यह उनके भाई की तीसरी यात्रा है। इससे पहले वह सितंबर में दिवंगत महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के राजकीय अंतिम संस्कार में शामिल होने के बाद अपने भाई से मिलने गए थे, तब भी बताया गया था कि उन्होंने नए सेना प्रमुख की नियुक्ति पर चर्चा की थी।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news