China Population: चीन की आबादी में ऐतिहासिक गिरावट, 60 साल में पहली बार घट गई जनसंख्या

चीन में मरने वालों की संख्या जन्म लेने वाले बच्चों की संख्या से अधिक है। चीन के राष्ट्रीय सांख्यिकी ब्यूरो के अनुसार, 2022 के अंत तक देश की जनसंख्या 1.41175 बिलियन थी, जो 2021 में 1.41260 बिलियन से कम थी।
China Population: चीन की आबादी में ऐतिहासिक गिरावट, 60 साल में पहली बार घट गई जनसंख्या

चीन में कोरोना से बड़ी संख्या में मौतें हुई हैं और इसका असर अब वहां की आबादी पर भी पड़ रहा है। इस संबंध में अहम जानकारी सामने आ रही है। चीन की जनसंख्या में 1961 के बाद सबसे बड़ी गिरावट दर्ज की गई है। 

चीन में मरने वालों की संख्या जन्म लेने वाले बच्चों की संख्या से अधिक है। चीन के राष्ट्रीय सांख्यिकी ब्यूरो के अनुसार, 2022 के अंत तक देश की जनसंख्या 1.41175 बिलियन थी, जो 2021 में 1.41260 बिलियन से कम थी। 

चीन दशकों से जनसंख्या नियंत्रण नीतियों को लागू कर रहा है, और यह माना जाता है कि जनसंख्या नियंत्रण के उपाय देश की जनसंख्या को कम कर रहे हैं।

चीन की जनसंख्या में गिरावट, उम्र बढ़ने वाली जनसंख्या और जनसांख्यिकीय परिवर्तन को रोकने के लिए, चीनी सरकार ने कई नीतियां पेश की हैं, जो लोगों को आर्थिक और सामाजिक सुरक्षा सहित एक से अधिक बच्चे पैदा करने के लिए प्रोत्साहित करती हैं, लेकिन इसके बावजूद चीन की जनसंख्या नहीं बढ़ रही है। 

2021 में, चीन में जन्म दर प्रति 1000 लोगों पर 7.52 बच्चे थे, लेकिन पिछले साल यह घटकर प्रति 1000 लोगों पर 6.77 बच्चे रह गए। इससे चीन की आबादी में दस लाख से अधिक बच्चों की कमी आई। इतना ही नहीं, चीन में मृत्यु दर भी 1976 के बाद सबसे अधिक है। 2022 में चीन में मृत्यु दर प्रति 1,000 लोगों पर 7.37 मौत थी।

बढ़ती आबादी चीन के सरकारी खजाने पर भी बोझ बढ़ा रही है, चीन सरकार को बुजुर्गों की देखभाल और पेंशन पर अधिक खर्च करना पड़ रहा है। विशेषज्ञों की राय है कि आने वाले वर्षों में यह लागत और बढ़ेगी। 

चीन में लोगों का कहना है कि घरों की बढ़ती कीमतों, शिक्षा, स्वास्थ्य आदि पर बढ़ते खर्च के कारण चीन में लोग अधिक बच्चे पैदा नहीं करना चाहते हैं। चीन की सरकार ने बढ़ती आबादी को देखते हुए कुछ साल पहले एक बच्चे की नीति लागू की थी। 

साथ ही एक से अधिक बच्चे पैदा होने पर सजा का भी प्रावधान किया गया था। अब ऐसा लग रहा है कि चीन के इस फैसले पर से पर्दा उठता दिख रहा है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news