पाकिस्तान: पंजाब उपचुनाव में जीत के बाद इमरान खान ने नए आम चुनाव कराने की मांग की

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) ने पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में हुए उपचुनावों में अपनी जीत को देश में नए सिरे से चुनाव कराने की अपनी मांग के समर्थन के रूप में देखा है।
पाकिस्तान: पंजाब उपचुनाव में जीत के बाद इमरान खान ने नए आम चुनाव कराने की मांग की

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) ने पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में हुए उपचुनावों में अपनी जीत को देश में नए सिरे से चुनाव कराने की अपनी मांग के समर्थन के रूप में देखा है। वहीं पार्टी अध्यक्ष इमरान खान ने दोहराया कि निष्पक्ष चुनाव ही आगे बढ़ने का एकमात्र रास्ता है। स्थानीय मीडिया रिपोर्ट में इसकी जानकारी दी गई है।

हालांकि, पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री ने फिर से पाकिस्तान के चुनाव आयोग (ईसीपी) को पूरी तरह से पक्षपाती बताते हुए कहा कि नए चुनाव एक विश्वसनीय ईसीपी के तहत होने चाहिए।

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने चेतावनी दी कि कोई अन्य रास्ता अधिक राजनीतिक अनिश्चितता और आर्थिक अराजकता की ओर ले जाएगा।

पंजाब में पीटीआई की शानदार जीत ने न केवल पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के नेतृत्व वाले सत्तारूढ़ गठबंधन को झटका दिया है, बल्कि केंद्र में शेष संवैधानिक कार्यकाल पूरा करने की उसकी उम्मीदों को भी झटका दिया।

इमरान खान ने एक ट्वीट में कहा, यहां से आगे बढ़ने का एकमात्र तरीका एक विश्वसनीय ईसीपी के तहत निष्पक्ष और स्वतंत्र चुनाव कराना है। कोई अन्य रास्ता केवल अधिक राजनीतिक अनिश्चितता और आगे आर्थिक अराजकता का कारण बनेगा।

चुनाव परिणाम आने के तुरंत बाद, पीटीआई और पीएमएल-कायद नेतृत्व ने आगे बढ़ने के लिए नए विचारों को सामने रखा।

पीटीआई के फवाद चौधरी ने नए चुनावों के साथ-साथ देश में राजनीतिक स्थिरता लाने के लिए खेल के नियम तय करने के लिए एक साथ बैठे प्रमुख राजनीतिक दलों के नेतृत्व के विचार को गढ़ा।

पंजाब प्रांत ने पीटीआई के लिए नई उम्मीद जगाई है जिससे सत्तारूढ़ गठबंधन को एक बड़ा झटका लगा है।

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक, राजनीतिक विश्लेषकों ने पंजाब प्रांत के उपचुनावों के नतीजों को नई सरकार के प्रदर्शन, खासकर तेल की बढ़ती कीमतों और इमरान खान के उनके पद से हटाने के बयान पर जनमत संग्रह के रूप में देखा है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news