90 सदस्यीय Task Force को सौंपी गयी शिंजो आबे हत्याकांड की जांच, चुनाव प्रचार के दौरान मारी गयी थी गोली

घटनास्थल पर गिरफ्तार किए गए 41 वर्षीय संदिग्ध व्यक्ति यामागामी तेत्सुया ने आबे को गोली मारने की बात कबूल कर ली है और कहा है कि उसे रंज इस बात की थी कि उसे जिस संगठन से शिकायत थी, उसमें पूर्व प्रधानमंत्री शामिल थे।
90 सदस्यीय Task Force को सौंपी गयी शिंजो आबे हत्याकांड की जांच, चुनाव प्रचार के दौरान मारी गयी थी गोली

जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो की हत्या चुनाव प्रचार के दौरान नारा शहर में एक रैली को संबोधित करते वक्त गोली मारकर कर दी गई है। उनकी हत्या की जांच 90 सदस्यीय कार्यबल करेगा, ताकि पता लगाया जा सके कि ये सब कैसे हुआ। यह जानकारी जापान की पुलिस ने दी है।

अधिकारियों ने यह भी स्वीकार किया कि उन्हें दिवंगत नेता की नारा यात्रा के बारे में पिछली शाम को ही पता चला था।

इस बीच, घटनास्थल पर गिरफ्तार किए गए 41 वर्षीय संदिग्ध व्यक्ति यामागामी तेत्सुया ने आबे को गोली मारने की बात कबूल कर ली है और कहा है कि उसे रंज इस बात की थी कि उसे जिस संगठन से शिकायत थी, उसमें पूर्व प्रधानमंत्री शामिल थे।

यामागामी ने पुलिस को बताया कि उसकी मां संगठन में शामिल थी और उसने बहुत सारा पैसा संगठन को दान किया था, जिससे उसके परिवार के लिए गंभीर समस्याएं पैदा हो गईं।

पुलिस के अनुसार, संदिग्ध ने लगभग 40 सेंटीमीटर लंबी बंदूक का इस्तेमाल किया।

पुलिस ने यामागामी के आवास पर भी तलाशी अभियान चलाया, जहां से उन्होंने धातु और लकड़ी से बनाई हुईं कई बंदूकें जब्त कीं, जो हमले में इस्तेमाल की गई बंदूक से मिलती-जुलती थीं।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news