IPL 2021: T-20 क्रिकेट के महाकुंभ का आगाज अब से थोड़ी देर में, मुंबई और बैंगलोर आमने-सामने

IPL 2021: T-20 क्रिकेट के महाकुंभ का आगाज अब से थोड़ी देर में, मुंबई और बैंगलोर आमने-सामने

आरसीबी और मुंबई इंडियंस के बीच अब तक खेले गए 29 मुकाबलों में 19 बार बाजी मुंबई के हाथ में लगी है। वहीं आरसीबी 10 मैच जीतने में सफल रही है।

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच बेशुमार दौलत से भरपूर दुनिया के सबसे मशहूर टी20 लीग-इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 14वें सीजन की शुरूआत यहां शुक्रवार से होगी।

पहले मुकाबले में पांच बार की विजेता मुंबई इंडियंस का सामना रॉयल चेलेंजर बेंगलोर की टीम से होगा जिसने अब तक टूर्नामेंट का खिताब नहीं जीता है। मुम्बई की कमान रोहित शर्मा के हाथों में है जबकि बेंगलोर की कमान भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली के हाथों में है।

यह लगातार दूसरा सीजन से जब आईपीएल के मुकाबले दर्शकों के बिना कराए जाएंगे। इससे पहले संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में हुआ पिछला सीजन भी दर्शकों के बिना आयोजित हुआ था।

भारत में इस साल टी20 विश्व कप का भी आयोजन होना है, ऐसे में आईपीएल टेस्ट इवेंट साबित होगा।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के लिए आईपीएल का सुरक्षित आयोजन कराना जरूरी है जिससे वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को यह दिखा सके कि वह कोरोना जैसे विकट परिस्थितियों में भी बड़ा टूर्नामेंट आयोजित करने में सक्षम है।

आईसीसी ने अंतिरम मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिओफ एलार्डी ने मीडिया से कहा था कि टी20 विश्व कप का आयोजन भले ही भारत में होना है लेकिन क्रिकेट की वैश्विक संस्था बैकअप प्लान तैयार कर रही है।

उन्होने कहा, "हम फिलहाल योजना के अनुसार ही चल रहे हैं लेकिन हमारे पास प्लान बी भी है। हालांकि हम इस पर जोर नहीं दे रहे हैं और बीसीसीआई के साथ काम कर रहे हैं। अगर ऐसा समय आता है तो हम अन्य प्लान पर आगे बढ़ेंगे।"

आईपीएल का आयोजन छह शहरों में होगा और किसी भी टीम का इस सीजन में कोई घरेलू मैदान नहीं होगा।

लीग के पहले चरण के 20 मैच चेन्नई और मुंबई में होंगे जबकि अगले चरण के मुकाबले अहमदबाद और दिल्ली में होंगे। यहां 16 मुकाबले होंगे।

इसके बाद लीग के अंतिम 20 मुकाबले बेंगलुरु और कोलकाता और होंगे। प्लेऑफ मुकाबले अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में होंगे।

आईपीएल का भारत में लौटना स्पिनरों के लिए अच्छा है क्योंकि यहां वह अच्छा प्रदर्शन करते हैं। पिछले सीजन में तेज गेंदबाजों ने सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाजों की सूची में जगह बनाई थी।

शीर्ष 10 सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाजों में से सात तेज गेंदबाज थे। दिल्ली कैपिटल्स के कैगिसो रबादा ने 30 विकेटों के साथ पर्पल कैप जीती थी।

सभी टीमों के लिए सबसे बड़ी चुनौती खिलाड़ियों के आउटडोर गतिविधियां नहीं होने पर उन्हें प्रेरित रखना होगी।

यूएई में टीम होटलों में निजी बीच मौजूद थे लेकिन यहां ऐसी व्यवस्था नहीं है और खिलाड़ी होटल के कमरे में ही समय बिता सकते हैं।

कई खिलाड़ी पहले ही बायो बबल में रहने को चुनौतीपूर्ण बता चुके हैं। इस कारण कई शीर्ष खिलाड़ियों ने टूर्नामेंट से हटने का फैसला किया था।

मार्क वुड और डेल स्टेन जैसे खिलाड़ी मिनी नीलामी से हट गए थे जबकि जोश हेजलवुड, मिशेल मार्श और दोश फिलिप ने टूर्नामेंट के शुरू होने से पहले ही नाम वापस ले लिया था। हालांकि अभी भी कई विदेशी खिलाड़ी टूर्नामेंट में शामिल हैं।

दिल्ली कैपिटल्स के अक्षर पटेल क्वारेंटीन में रहने के कारण पहला मुकाबला नहीं खेल सकेंगे। हालांकि बेंगलोर के देवदत्त पडीकल और कोलकाता नाइट राइडर्स के नीतीश राणा के टेस्ट नतीजे नेगेटिव आने पर दोनों खिलाड़ी अपनी-अपनी टीम से जुड़ गए हैं।

मुंबई क्रिकेट संघ के अनुसार, वानखेड़े स्टेडियम के जो ग्राउंडस्टाफ कोरोना संक्रमित पाए गए थे उन्हें आईसोलेशन में रखा गया है।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news