आपातकाल के 45 साल: बीजेपी का कांग्रेस पर वार, रविशंकर ने बताया क्रूर दिन, पीएम मोदी बोले...
राज-काज

आपातकाल के 45 साल: बीजेपी का कांग्रेस पर वार, रविशंकर ने बताया क्रूर दिन, पीएम मोदी बोले...

पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा 'आज से ठीक 45 वर्ष पहले देश पर आपातकाल थोपा गया था। उस समय भारत के लोकतंत्र की रक्षा के लिए जिन लोगों ने संघर्ष किया, यातनाएं झेलीं, उन सबको मेरा शत-शत नमन! उनका त्याग और बलिदान देश कभी नहीं भूल पाएगा।'

Yoyocial News

Yoyocial News

25 जून 1975 को देश में आपातकाल का ऐलान किया गया था। आपातकाल के 45 वर्ष पूरे होने पर बीजेपी ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला है। इस बीच पीएम नरेंद्र मोदी ने भी आपातकाल के दौरान यातनाएं सहने वाले वीरों को याद किया है। उन्होंने कहा कि ऐसे वीरों का त्याग देश भी नहीं भूल पाएगा।

बता दें कि गृह मंत्री अमित शाह ने आपातकाल की बरसी पर कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा था कि वहां अभी भी लोकतंत्र नहीं है। वहीं, बीजेपी नेता रविशंकर प्रसाद ने इसे क्रूर दिन के तौर पर याद किया है।

पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा 'आज से ठीक 45 वर्ष पहले देश पर आपातकाल थोपा गया था। उस समय भारत के लोकतंत्र की रक्षा के लिए जिन लोगों ने संघर्ष किया, यातनाएं झेलीं, उन सबको मेरा शत-शत नमन! उनका त्याग और बलिदान देश कभी नहीं भूल पाएगा।'

पीएम मोदी ने अपने ट्वीट के साथ मन की बात का एक ऑडियो भी जारी किया है। इसमें पीएम मोदी ने कहा कि आपातकाल के दौरान लोगों के मन में खोए हुए लोकंतत्र की छटपटाहट दिख रही थी। सामान्य अधिकार का क्या मजा है वो तब पता चलता है जब कोई आपका लोकतांत्रिक अधिकार छीन लेता है।

बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी एक ट्वीट कर आपातकाल के दौरान की भीषण यातनाओं को याद किया। उन्होंने लिखा 'भारत उन सभी महानुभावों को नमन करता है, जिन्होंने भीषण यातनाएं सहने के बाद भी आपातकाल का जमकर विरोध किया. ये हमारे सत्याग्रहियों का तप ही था, जिससे भारत के लोकतांत्रिक मूल्यों ने एक अधिनायकवादी मानसिकता पर सफलतापूर्वक जीत प्राप्त की।'

अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस में अभी तक इमर्जेंसी की सोच है। उन्होंने कहा '45 साल पहले एक परिवार ने सत्ता के लालच में देश में आपातकाल लगा दिया। कांग्रेस के नेता हताश हो रहे हैं। देश में लोकतंत्र है लेकिन कांग्रेस में लोकतंत्र नहीं है।' उन्होंने कहा 'कांग्रेस वर्किंग कमिटी की बैठक में कुछ नेताओं ने मुद्दे उठाए तो लोग चिल्ला पड़े। एक पार्टी प्रवक्ता को बिना सोचे-समझे बर्खास्त कर दिया गया।'

बता दें कि कुछ दिन पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रवक्ता संजय झा को एक लेख के कारण प्रवक्ता पद से हटा दिया था।

बीजेपी नेता सुंधाशु त्रिवेदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि समय, समीकरण और स्थिति बदल चुका है लेकिन आज भी कांग्रेस में आवाज को दबाया जाता है। ताकि फर्स्ट फैमिली की बादशाहत कायम रह सके।

बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि आज से 45 साल पहले कांग्रेस की तत्कालीन पीएम इंदिरा गांधी ने अपनी कुर्सी बचाने के लिए देश में इमर्जेंसी लगा दी थी। क्योंकि इलाहाबाद हाई कोर्ट ने उनके चुनाव को गलत ठहरा दिया था। उन्होंने कहा कि आज उस क्रूर दिन का याद करने का वक्त है।

बीजेपी ने अपने ट्विटर हैंडल से कई ट्वीट कर आपातकाल के दौरान किए गए पुलिसिया जुल्म के बारे में बताया है। बता दें कि 25 जून, 1975 से 21 मार्च, 1977 तक देश में 21 महीने के लिए इमर्जेंसी लगा दिया गया था। तत्कालीन राष्ट्रपति फखरुद्दीन अली अहमद ने उस समय की पीएम इंदिरा गांधी के कहने पर भारतीय संविधान की धारा 352 के अधीन आपातकाल की घोषणा की थी।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news