यूपी उपचुनाव में 53.62 फीसदी मतदान, 88 प्रत्याशियों की किस्मत EVM में बंद
राज-काज

यूपी उपचुनाव में 53.62 फीसदी मतदान, 88 प्रत्याशियों की किस्मत EVM में बंद

मतदान का प्रतिशत बताता है कि उपचुनाव में मतदाताओं ने उत्साह नहीं दिखाया। कई ग्राम पंचायतों में ग्रामीणों ने समस्याओं को लेकर दोपहर तक मतदान का बहिष्कार किया।

Yoyocial News

Yoyocial News

उत्तर प्रदेश विधानसभा की सात सीटों पर 53.62 प्रतिशत मतदान हुआ है। वर्ष 2017 में इन सात सीटों पर 63.90 फीसदी मतदान हुआ था। उपचुनाव में वर्ष 2017 चुनाव के मुकाबले करीब 12.63 फीसद कम वोट पड़े हैं।

इन सात सीटों के लिए कुल 88 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला 24.27 लाख मतदाताओं ने ईवीएम में कैद कर दिया है। संयुक्त मुख्य निर्वाच अधिकारी रमेश चंद्र राय के अनुसार, राज्य की सात विधानसभा क्षेत्र में कुल 53.62 प्रतिशत मतदान हुआ है।

अमरोहा की नौगावां सादात सीट पर 61.50 प्रतिशत, बुलंदशहर सदर सीट पर 52.10 प्रतिशत, फीरोजाबाद की टूंडला सीट पर 54 प्रतिशत, उन्नाव की बांगरमऊ सीट पर 50.59 प्रतिशत, कानपुर की घाटमपुर सीट पर 49.42 प्रतिशत, देवरिया सीट पर 51.05 प्रतिशत और जौनपुर की मल्हनी सीट पर 56.65 प्रतिशत मतदान हो गया है। अब मतगणना 10 नवंबर को होगी।

टूंडला विधानसभा क्षेत्र में मतदान प्रक्रिया शुरू करने पहले सुबह सभी मतदान केंद्रों पर मॉकपोल किया गया। मतदान के दौरान कहीं विवाद और टकराव की स्थिति नहीं रही, लेकिन सुबह से चुनाव बहिष्कार की खबरों ने प्रशासन को परेशान कर दिया।

मतदान का प्रतिशत बताता है कि उपचुनाव में मतदाताओं ने उत्साह नहीं दिखाया। कई ग्राम पंचायतों में ग्रामीणों ने समस्याओं को लेकर दोपहर तक मतदान का बहिष्कार किया। टूंडला विधानसभा में विगत वर्ष 2017 का चुनाव 66.07 प्रतिशत था। ये सीट प्रो.एसपी सिंह बघेल के आगरा लोकसभा सीट पर सांसद बनने के बाद खाली हुई थी।

एडीजी आगरा जोन अजय आनंद, आईजी आगरा जोन ए सतीश गणेश ने मतदान केंद्रों का निरीक्षण करके स्थिति का जायजा लिया। मतदान केंद्रों पर कोरोना से बचाव के लिए सैनिटाइजर, मास्क और गलब्स की व्यवस्था की गई थी। मतदान शांतिपूर्ण रहा। दस प्रत्याशियों का भाग्य ईवीएम में कैद हो गया है।

देवरिया सदर विधानसभा सीट के लिए हुए उपचुनाव में मंगलवार को कुल 51.05 फीसदी मतदान हुआ। 2017 के विधानसभा चुनाव में हुई 56.37 प्रतिशत वोटिंग के मुकाबले यह पांच फीसदी कम है। कुछ स्थानों पर ईवीएम में खराबी के मामले सामने आए। बाकी चुनाव शांतिपूर्ण रहा।

उन्नाव के बांगरमऊ विधानसभा क्षेत्र में फतेहपुर चैरासी के बूचागाड़ा मतदान केंद्र में कुछ गांव के लोगों ने सड़क न बनने के विरोध में मतदान न करने का फैसला किया। ग्रामीणों ने कहा कि जब तक सड़क नहीं, तब तक मतदान नहीं।

इसकी जानकारी मिलते ही डीएम के साथ ही अन्य अधिकारी मौके पर पहुंच गए। एसओ जितेंद्र सिंह के साथ सीडीओ डॉ. राजेश प्रजापति गांव पहुंचे। इसके बाद गांव के लोगों को आश्वासन किया गया कि कल से सड़क निर्माण शुरू होगा। इसके बाद यह लोग मतदान पर राजी हो गए।

ज्ञात हो कि मंगलवार को हुए उपचुनाव में सत्ता पर काबिज भाजपा के साथ ही समाजवादी पार्टी की साख दांव पर लगी है। भाजपा के पास सात में से छह सीट है जबकि सपा के पास एक सीट है।

इस चुनाव में बसपा तथा कांग्रेस कांग्रेस के पास कुछ खोने के लिए नहीं है। कांग्रेस व सपा के छह-छह प्रत्याशी मैदान में हैं तो भाजपा व बसपा सातों सीट पर ताल ठोंक रही है।

सपा ने बुलंदशहर सीट अपने सहयोगी दल राष्ट्रीय लोकदल को सौंप दी है तो कांग्रेस के प्रत्याशी का टूंडला सुरक्षित सीट से नामांकन ही खारिज हो गया।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news