narendra modi
narendra modi
राज-काज

अयोध्या पहुंचकर राम से पहले हनुमानगढ़ी के दर्शन करेंगे पीएम मोदी, देखें पूरे कार्यक्रम का ब्यौरा...!

अयोध्या में होनेवाले भूमिपूजन की सारी तैयारियां हो चुकी हैं. राम मंदिर के निर्माण कार्य की तैयारियों के लिए पूरा शहर सजा दिया गया है. अयोध्या पहुंचने पर पीएम मोदी पहले हनुमानगढ़ी जाएंगे और वहां पर दर्शन करेंगे. इसके बाद पीएम रामलला का दर्शन करेंगे.

Yoyocial News

Yoyocial News

अयोध्या नगरी में 5 अगस्त का इंतजार पूरा देश कर रहा है. सभी की नजरें बस राम के नाम पर टिकी हुई हैं. इस महामारी के दुखद माहौल में एक खुशी सी छायी हुई है. अयोध्या में होनेवाले भूमिपूजन की सारी तैयारियां हो चुकी हैं. राम मंदिर के निर्माण के लिए पूरा शहर सजा दिया गया है. भूमिपूजन कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी पहुंचेंगे. सूत्रों के मुताबिक, पीएम मोदी 11 बजकर 15 मिनट पर अयोध्या पहुंचेंगे. वह दो घंटे से ज्यादा समय यहां पर रहेंगे. पीएम मोदी दोपहर 2 बजे अयोध्या से रवाना हो जाएंगे.

अयोध्या में कब, कहां है पीएम का कार्यक्रम...

अयोध्या पहुंचने पर पीएम मोदी सबसे पहले हनुमानगढ़ी जाएंगे और वहां पर दर्शन करेंगे. इसके बाद पीएम रामलला का दर्शन करेंगे, जिसके बाद भूमिपूजन का कार्यक्रम होगा. अयोध्या में मंच की व्यवस्था भी फाइनल कर दी गई है. सिर्फ 5 लोग ही मंच पर रहेंगे. प्रधानमंत्री मोदी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, और मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास मंच पर मौजूद रहेंगे.

ये सभी फैसले शुक्रवार को अयोध्या के मानस मंदिर में हुई अधिकारियों की मीटिंग में लिए गए. बैठक में व्यवस्थाओं को अंतिम रूप दिया गया. मुख्य सचिव, गृह सचिव और डीजीपी ने प्रधानमंत्री की सुरक्षा और मंदिर के कार्यक्रम की व्यवस्था का जायजा भी लिया.

भूमिपूजन कार्यक्रम में शामिल होने वाले 200 मेहमानों को न्योता भेजा गया है. इसकी लिस्ट ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने प्रधानमंत्री कार्यालय को भेज दी है. कोरोना के कारण भूमिपूजन कार्यक्रम के लिए अधिक लोगों को न्योता नहीं भेजा गया है. सिर्फ चुनिंदा लोगों को ही कार्यक्रम में आमंत्रित किया गया है.

अयोध्या यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री मोदी को लकड़ी की बनी दुर्लभ डेढ़ फुट की कोदंड राम और एक फुट की लव-कुश की प्रतिमा भेंट की जाएगी. दरअसल, भगवान श्रीराम के धनुष को कोदंड के रूप में जाना जाता है. जब वह सीताजी की खोज में दक्षिण भारत पहुंचे थे तो उनके हाथ में उस वक्त कोदंड धनुष था.

3 अगस्त से शुरू हो जाएगा उत्सव

राम मंदिर निर्माण के लिए भूमिपूजन 5 अगस्त को होना है, लेकिन इसके दो दिन पहले यानी 3 अगस्त से ही अयोध्या में उत्सव शुरू हो जाएगा. प्रशासन की ओर से शहर में लाखों दीए जलाए जाएंगे. साथ ही आम लोगों से अपील की जाएगी कि वो अपने घरों के बाहर दीए जलाएं.

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news