ट्रैक्टर रैली में बोले राहुल गांधी- मंडी को खत्म कर देगा कृषि कानून

ट्रैक्टर रैली में बोले राहुल गांधी- मंडी को खत्म कर देगा कृषि कानून

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को अपनी यात्रा के दूसरे दिन, रूपनगढ़ में एक ट्रैक्टर रैली के दौरान ट्रैक्टर चलाया। इस दौरान सैकड़ों किसान इस रैली में शामिल हुए।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को अपनी यात्रा के दूसरे दिन, रूपनगढ़ में एक ट्रैक्टर रैली के दौरान ट्रैक्टर चलाया। इस दौरान सैकड़ों किसान इस रैली में शामिल हुए। गांधी ने एक ट्रैक्टर ट्रॉली के रूप में तैयार किए गए मंच से किसानों को संबोधित किया।

राजस्थानी साफा (पगड़ी) पहनकर गांधी ट्रैक्टर से रैली स्थल पर पहुंचे, जिसमें राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा सवार थे।

यहां रैली को संबोधित करते हुए, गांधी ने कहा कि तीन कृषि कानूनों के कार्यान्वयन से किसानों के साथ-साथ स्ट्रीट वेंडर, छोटे व्यापारियों और अन्य श्रमिकों को आर्थिक नुकसान होगा।

उन्होंने कहा, "मोदी जी कहते हैं कि वह किसानों से बात करना चाहते हैं। लेकिन वह किस बारे में बात करना चाहते हैं? उन्हें पहले कानूनों को वापस लेना चाहिए और देश के सभी किसानों से बात करनी चाहिए। आप किसानों के घरों को लूट रहे हैं और छीनने की कोशिश कर रहे हैं। उनके अधिकार को 'हम दो हमारे दो' को दिया जा रहा है।"

एआईसीसी के महासचिव अजय माकन और पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट भी इस रैली में उपस्थित थे।

बाद में, वह अजमेर में मकराना गए और अपने 19 मिनट के भाषण में, तीन कृषि कानूनों और किसानों पर इसके कथित प्रभाव पर चर्चा की।

राहुल ने कहा, "कोविड-19 महामारी के समय में लोगों ने मोदी से रेल और बस का टिकट मांगा। हालांकि, मोदी ने एक रुपया भी नहीं दिया। लेकिन इसी समय , उन्होंने अपने उद्योगपति मित्रों का 1,50,000 करोड़ रुपये का कर्ज माफ कर दिया।"

इससे पहले, शनिवार को, गांधी ने किशनगढ़ में स्थित तेजाजी मंदिर में प्रार्थना की और उसके बाद रूपगढ़ गए और एक ट्रैक्टर रैली को संबोधित किया।

उनका दौरा मकराना में रैली को संबोधित करने के बाद संपन्न हुआ, जहां से वह किशनगढ़ हवाईअड्डे पर गए और दिल्ली पहुंचे।

Keep up with what Is Happening!

AD
No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news