मप्र के पूर्व मंत्री का विवादित बयान, '15 साल में लड़कियां जब प्रजनन लायक तो शादी 21 साल में क्यों'

मप्र के पूर्व मंत्री का विवादित बयान, '15 साल में लड़कियां जब प्रजनन लायक तो शादी 21 साल में क्यों'

ज्ञात हो कि मुख्यमंत्री चौहान ने पिछले दिनों बालिकाओं की विवाह की उम्र 18 साल से 21 साल किए जाने की बात कही थी। उन्होंने कहा था लड़कों की शादी के लिए उम्र 21 साल है, इसी तरह लड़कियों की भी शादी के लिए उम्र 21 साल की जानी चाहिए।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा बालिकाओं की विवाह की उम्र 21 साल किए जाने की पैरवी का विरोध करते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने विवादित बयान दिया है।

उन्होंने कहा है कि, "जब 15 साल की लड़कियां प्रजनन लायक तो शादी क्यों 21 साल में होनी चाहिए। पूर्व मंत्री सज्जन वर्मा ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि, "जब लड़कियां 15 साल में प्रजनन के लायक हो जाती हैं, तो शादी की उम्र 21 साल करने की क्या जरूरत है।"

इस पर वर्मा ने साथ ही कहा कि, "पता नहीं मुख्यमंत्री कहां से ऐसे विचार लेकर आते हैं। शिवराज सिंह चौहान क्या डॉक्टर हैं? प्रदेश में बच्चियों के साथ रेप की घटनाएं लगातार बढ़ती जा रही हैं। उन्हें शादी की उम्र पर बयान देने के बजाय बच्चियों की सुरक्षा पर ध्यान देना चाहिए।"

ज्ञात हो कि मुख्यमंत्री चौहान ने पिछले दिनों बालिकाओं की विवाह की उम्र 18 साल से 21 साल किए जाने की बात कही थी। उन्होंने कहा था लड़कों की शादी के लिए उम्र 21 साल है, इसी तरह लड़कियों की भी शादी के लिए उम्र 21 साल की जानी चाहिए। वर्तमान में लड़कों की शादी के लिए उम्र 21 साल और लड़कियांे की 18 साल है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news