yogi adityanath
yogi adityanath
राज-काज

यूपी में अनलॉक 2.0 के लिए जारी हुईं गाइडलाइंस, फोकस में 'मिशन कोरोना'

कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच अब देश में अनलॉक 2.0 लागू कर दिया गया है. योगी सरकार ने यूपी के लिए अलग गाइडलाइंस जारी की हैं, जिसका पालन सभी को करना अनिवार्य होगा. अनलॉक-02 के लिए जारी किए गए नियम 31 जुलाई तक प्रभावी रहेंगे.

Yoyocial News

Yoyocial News

कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच अब देश में अनलॉक 2.0 लागू कर दिया गया है. इसके बाद केंद्र ने कुछ गाइडलाइंस भी जारी की हैं, जिसके अनुसार सुविधाओं में कुछ और ढ़ील दी गई है. इसी के साथ योगी सरकार ने यूपी के लिए अलग गाइडलाइंस जारी की हैं, जिसका पालन सभी को करना अनिवार्य होगा. अनलॉक-02 के लिए जारी किए गए नियम 31 जुलाई तक प्रभावी रहेंगे. जारी की गई गाइडलाइंस के अनुसार सभी स्कूल, कॉलेज, शैक्षिक, प्रशिक्षण, कोचिंग संस्थान पहले की तरह बंद रहेंगे हालांकि इस दौरान online/distance learning की इजाजत होगी.

Containement जोन को छोड़कर Unlock-2 में गृह मंत्रालय भारत सरकार से अनुमति प्राफ्त हवाई यात्राओं को छोड़कर सभी इंटरनेशल हवाई यात्राएं प्रतिबंधित रहेंगी. Unlock-2 में मेट्रो रेल, सिनेमा हॉल, जिम, स्वमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, थिएटर, बार आदि भी बंद रहेंगे. इस दौरान सभी सामाजिक, राजनैतिक, खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक, धार्मिक गतिविधियों भी बंद रहेंगी.

मुख्य सचिव राजेंद्र तिवारी ने कहा कि मेरठ मंडल के अतिरिक्त संपूर्ण प्रदेश में रात 10 बजे से सुबह पांच बजे तक किसी भी व्यक्ति या वाहन आदि के आवागमन पर रोक रहेगी. मेरठ मंडल में रात्रिकालीन कर्फ्यू 10 जुलाई तक रात आठ बजे से सुबह छह बजे तक लागू रहेगा.

उन्होंने कहा कि कंटेनमेंट जोन में लॉकडाउन 31 जुलाई तक लागू रहेगा और ऐसे इलाकों में केवल अत्यावश्यक गतिविधियों की ही अनुमति मिलेगी. उन्होंने कहा कि गौतमबुद्ध नगर व गाजियाबाद जिले जो ‘ राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में आते है के लिये जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के जिलास्तर के अधिकारियों से विचार विमर्श कर अलग से स्थानीय स्तर पर आवागमन पर प्रतिबंध लगा सकते है.

उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण का उपचार, बचाव ही है, इसलिए कोविड-19 के संक्रमण की कड़ी को तोड़ने के लिए प्रत्येक स्तर पर पूरी सावधानी व सतर्कता बरतना आवश्यक है. यथासंभव लोग अनावश्यक आवागमन से बचें. उन्होंने कोविड-19 के सम्बन्ध में लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से संचालित प्रचार-प्रसार के कार्य को जारी रखने के निर्देश दिए और कहा कि इसके लिए रेडियो, टीवी के साथ-साथ बैनर, पोस्टर आदि के माध्यम से जागरूकता फैलाया जाए.

सीएम योगी ने कहा कि जांच क्षमता में वृद्धि के लिए प्रयास लगातार जारी रखे जाएं. कोविड अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या बढ़ाई जाए. कोविड सहायता बूथ में इंफ्रारेड थर्मामीटर एवं पल्स ऑक्सीमीटर की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए. सहायता बूथ पर कार्यरत कर्मियों को मास्क, दस्ताने तथा सेनेटाइजर दिया जाए. मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड अस्पतालों में भर्ती मरीजों के परिजनों से संवाद बनाकर उन्हें रोगी के स्वास्थ्य की स्थिति से नियमित तौर पर अवगत कराया जाए.

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news