अगर कार्यालय नेता के घर से चलता है तो पार्टी व्यक्ति की हो जाती है: जेपी नड्डा
राज-काज

अगर कार्यालय नेता के घर से चलता है तो पार्टी व्यक्ति की हो जाती है: जेपी नड्डा

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा है कि कार्यालय कार्यकर्ता को संस्कार भी देता है। अगर कार्यालय किसी नेता के घर से चलता है तो संगठन-पार्टी व्यक्ति की हो जाती है।

Yoyocial News

Yoyocial News

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा है कि कार्यालय कार्यकर्ता को संस्कार भी देता है। अगर कार्यालय किसी नेता के घर से चलता है तो संगठन-पार्टी व्यक्ति की हो जाती है। आपने देखा होगा कि अन्य पार्टियां परिवार की पार्टी बन गई हैं, भाजपा में पार्टी ही परिवार है।

भाजपा अध्यक्ष ने शनिवार को वर्चुअल माध्यम से उत्तराखंड के नए भाजपा कार्यालय का शिलान्यास करते हुए कहा कि आने वाले 50 साल तक यह कार्यालय बहुत ही उपयुक्त बनेगा। कार्यालय हमारे काम को स्थायित्व देता है, एक वातावरण और एक विचार भी देता है।

जेपी नड्डा ने कहा, "घर में भी आप पुस्तक पढ़ सकते हैं, लेकिन कभी आप पार्टी की लाइब्रेरी में पुस्तक पढ़ेंगे तो आप कार्यकर्ता को प्रेरणा देते हैं कि अध्ययन भी पार्टी के कार्यकर्ता और नेता का बहुत बड़ा आयाम है।"

भाजपा अध्यक्ष ने पार्टी और संगठन संचालने के लिए 'पांच क' की जरूरत बताई। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता, कार्यक्रम, कोष, कार्यकारणी और कार्यालय का महत्व होता है। नड्डा ने उत्तराखंड की प्रदेश इकाई से कहा, "आपने कार्यकर्ता का निर्माण किया, कार्यक्रमों की झड़ी लगाई, कार्यकारणी के माध्यम से संगठन को एक चालना दी, कोष की भी चिंता की और अब एक भव्य कार्यालय बना रहें है इसके लिए मैं आपको साधुवाद देता हूं।"

राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भाजपा को दूसरे दलों से अलग बताया। उन्होंने कहा कि सभी दल की पार्टियां परिवार बन गई हैं और परिवार में सीमित हो गई हैं। कोई भाई-बहन तो कोई मां-बेटे को बचाने में लगा हुआ है। सभी राजनीतिक दल एक छोटे से परिवार के लिए सीमित होकर रह गए हैं।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news