कभी दोस्त थे लालू-नीतीश (फाइल फोटो)
कभी दोस्त थे लालू-नीतीश (फाइल फोटो)
राज-काज

चुनाव से पहले ‘एक्टिव’ हुए लालू यादव, खोल रहे नीतीश के ‘15 साल का भरम और झूठ’

बिहार विधानसभा चुनाव से पहले आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव का अचानक सक्रिय होना सबको चौंका गया. अपने बेबाक अंदाज के लिए जाने जाने वाले लालू प्रसाद यादव ने शनिवार को कई ट्वीट किये और बॉलीवुड के गीत का सहारा लेते हुए सीएम नीतीश कुमार पर निशाना साधा.

Yoyocial News

Yoyocial News

बिहार में अब लगने लगा है कि आगे चुनाव होने वाले हैं. RJD से कई नेताओं का टूटना, मनोरमा सिंह का RJD में आने की चर्चा, वरिष्ठ नेता और लालू प्रसाद के अत्यंत करीबी रहे रघुवंश प्रसाद सिंह का उपाध्यक्ष पद छोड़ना और फिर मनाने की प्रक्रिया...सब कुछ बता रहा है कि चुनाव अब करीब हैं. लेकिन यह भी सही है कि बिहार में विपक्ष अभी ऐसी स्थिति में नहीं दिखता कि आगे NDA को चनौती दे सके. ऐसे हालात में बिहार विधानसभा चुनाव से पहले राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव का अचानक सक्रिय होना सबको चौंका गया है. अपने बेबाक अंदाज के लिए जाने जाने वाले लालू प्रसाद यादव ने शनिवार को कई ट्वीट किये और बॉलीवुड के गीत का सहारा लेते हुए सीएम नीतीश कुमार पर निशाना साधा.

लालू प्रसाद यादव ने ट्वीट किया- ‘पर्दे में रहने दो पर्दा ना उठाओ, पर्दा जो उठ गया तो भेद खुल जाएगा’. आगे लिखा- ‘नीतीश कुमार के पंद्रह साल, भ्रम और झूठ का काला काल’.

लालू प्रसाद ने अपने इस ट्वीट के साथ एक तस्वीर भी साझा की, जिसमें नीतीश कुमार किसी इलाके के दौरे पर दिखाई दे रहे हैं. मुख्यमंत्री के दौरे को देखते हुए रोड के किनारे की जगह सफेद कपड़े से ढक दी गई है. लालू प्रसाद यादव ने तंज किया कि- ‘इस पर्दे के पीछे नीतीश कुमार के 15 साल का विकास है’.

चुनाव से पहले लालू यादव जिस तरह एक्टिव हुए हैं उससे एक बात तो साफ है कि बिहार विधानसभा चुनाव इस बार भी लालू प्रसाद यादव के नाम के इर्द-गिर्द ही लड़ा जाएगा. नीतीश कुमार ने भी हाल में अपने कार्यकर्ताओं से कहा कि वह लालू-राबड़ी शासनकाल के 15 साल की तुलना उनके 15 साल के शासनकाल से करके लोगों को जागरूक बनाएं.

याद दिलाते चलें कि चारा घोटाले मामले में सजायाफ्ता राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव रांची के रिम्स अस्पताल में भर्ती हैं. उन्हें मधुमेह और दिल की बीमारी के अलावा किडनी की भी समस्या है. लेकिन इस सबके बीच यह भी सही है कि, लालू याद्व का सोशल मीडिया अकाउंट ह्मेशा एक्टिव रहता है और उनके निशाने पर आमतौर पर नीतीश ही होते हैं.

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news