भूमि पूजन में नहीं होंगे राम मंदिर आंदोलन के प्रमुख स्तंभ आडवाणी और जोशी ! ये है वजह...
राज-काज

भूमि पूजन में नहीं होंगे राम मंदिर आंदोलन के प्रमुख स्तंभ आडवाणी और जोशी ! ये है वजह...

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए 5 अगस्त को भूमि पूजन कार्यक्रम है। इसमें पीएम नरेंद्र मोदी उपस्थित रहेंगे। वहीं, लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और अन्य बुजुर्ग नेताओं को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए भूमि पूजन का कार्यक्रम दिखाया जाएगा।

Yoyocial News

Yoyocial News

राम मंदिर आंदोलन के दो प्रमुख स्तंभ रहे बीजेपी के सीनियर नेता लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी के अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन कार्यक्रम में शामिल हो पाने की संभावना नहीं है। इसकी वजह है ज्यादा उम्र, स्वास्थ्य और कोरोना वायरस महामारी का संकट, जिसको देखते हुए आडवाणी और जोशी के अयोध्या आने की संभावना पहले से ही नहीं थी। सूत्रों के मुताबिक भूमि पूजन कार्यक्रम में कोई उद्योगपति या हाई प्रोफाइल एनआरआई गेस्ट भी नहीं सम्मिलित होगा।

बता दें अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए 5 अगस्त को भूमि पूजन कार्यक्रम है। इसमें पीएम नरेंद्र मोदी उपस्थित रहेंगे। वहीं, लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और अन्य बुजुर्ग नेताओं को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए भूमि पूजन का कार्यक्रम दिखाया जाएगा। प्रशासन इन नेताओं को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए भूमि पूजन दिखाने की व्यवस्था में जुटा है। सूत्रों ने बताया कि ऐसे 10 बड़े नामों की लिस्ट तैयार है जो अयोध्या तो नहीं आ रहे, लेकिन वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए भूमि पूजन का अयोध्या का कार्यक्रम देखेंगे और इस से जुड़ेंगे।

सूत्रों के मुताबिक भूमि पूजन के दिन मंच पर पीएम मोदी को मिलाकर कुल 5 लोग उपस्थित रहेंगे। मंच पर पीएम मोदी, सीएम योगी आदित्यनाथ, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, वीएचपी नेता तथा मंदिर ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय, राम जन्मभूमि न्यास के हेड महंत नृत्यगोपाल दास शामिल रहेंगे। इनके अलावा कोई नेता या संत मंच पर उपस्थित नहीं रहेगा। इस दौरान पीएम नरेंद्र मोदी का संबोधन भी होगा।

बता दें पीएम मोदी वायु सेना के स्पेशल विमान से लखनऊ में लैंड करेंगे। इसके बाद चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट से MI-7 चॉपर के जरिये अयोध्या के लिए रवाना होंगे। भूमि पूजनस्थल पर जाने से पहले पीएम के हनुमानगढ़ी मंदिर जाने की भी संभावना है। इसके बाद वह परिजात के पौधे का रोपण कर भूमिपूजन करेंगे। सूत्रों के अनुसार पीएम इसके बाद भगवान राम की जिंदगी पर पोस्टल स्टैंप भी जारी करेंगे।

सीएम योगी लखनऊ से ही पीएम मोदी के साथ रहेंगे। वह लकड़ी से बनी श्रीराम की मूर्ति भी पीएम को सौंपेंगे। इस कार्यक्रम से पहले पूरे अयोध्या में सुरक्षा के चाक-चौबंद इस्तेमाल कर दिए गए हैं। सजावट का काम भी जारी है। प्रदेश के अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी ने खुद व्यवस्था का जायजा लिया।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news