keshav prasad maurya
keshav prasad maurya
राज-काज

UP: पहली बार बड़ी सौगात, बोर्ड परीक्षा में टॉपरों के घर तक बनेगी उनके नाम की सड़क

उप्र बोर्ड के हाईस्कूल, इंटर के परीक्षा परिणाम जारी होने पर मेधावियों को उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने बधाई दी है। इस दौरान उन्होंने घोषणा की कि बोर्ड टॉपरों के घर तक उनके ही नाम से सड़कें बनवाई जाएंगी।

Yoyocial News

Yoyocial News

उप्र बोर्ड के हाईस्कूल, इंटर के परीक्षा परिणाम जारी होने पर मेधावियों को उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने बधाई दी है। इस दौरान उन्होंने घोषणा की कि बोर्ड टॉपरों के घर तक उनके ही नाम से सड़कें बनवाई जाएंगी। उन्होंने कहा, "सिर्फ यूपी बोर्ड ही नहीं सीबीएसई तथा आईसीएसई बोर्ड के इंटर तथा हाईस्कूल के टॉप-10 परीक्षार्थियों के घर तक सड़क का निर्माण किया जाएगा। इन प्रतिभाशाली छात्र-छात्राओं को सामने लाने वाले स्कूलों तक भी सड़कों का निर्माण करवाया जाएगा। उत्तर प्रदेश के जो भी 20 स्टूडेंट्स टॉपर्स की लिस्ट में आएंगे, उनके नाम से सड़क बनवाई जाएगी।"

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने यूपी बोर्ड के साथ ही सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड के टॉप 20 छात्रों (हाईस्कूल व इंटर के 10-10) के सम्मान में उनके घर तक की सड़क को मुख्य सड़क से जोड़कर बनाने की घोषणा की है। टॉप 20 छात्रों के घर तक सड़क बनाने का काम लोक निर्माण विभाग करेगा। टॉपर्स के घर तक जाने वाली सड़क का नामकरण उनके नाम पर किया जाएगा।

UP board toppers
UP board toppers

उन्होंने कहा, "टाप-20 छात्र-छात्राओं के घरों तक व उनके स्कूलों तक डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम गौरव पथ के नाम से पक्की सड़कें बनाई जाएंगी तथा वहां पर बड़ा बोर्ड लगाकर छात्र-छात्रा के बारे में पूरा विवरण लिखा जाएगा।"

उन्होंने कहा कि इससे छात्रों का मनोबल बढ़ेगा और उनके गांव तथा स्कूलों का भी नाम रोशन होगा और वे आगे की शिक्षा ग्रहण करने के लिए और अधिक प्रेरित होंगे। मौर्या ने अनुत्तीर्ण छात्राओं एवं छात्रों का मनोबल बढ़ाते हुए कहा है कि वे निराश न हों, कोशिश करने वालों की हार नहीं होती, मेहनत करें, उन्हें भी सफलता मिलेगी।

ज्ञात हो कि केशव प्रसाद मौर्य के निर्देशन में डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम गौरव पथ योजना संचालित की जा रही है, जिसके तहत वर्ष 2017 के 24 मेधावी छात्रों के निवास स्थलों तक 7़ 40 करोड़ रुपये की धनराशि से सड़कों का निर्माण व मरम्मत कार्य कराया गया। वर्ष 2018 के 89 मेधावी छात्रों के निवास स्थल तक 23़17 करोड़ रुपये की लागत से सड़कें बनवाई जा चुकी हैं। 2019 के मेधावी छात्रों के निवास स्थल तक 9़ 89 करोड़ रुपये की लागत से बन रही सड़कों का काम प्रगति पर है।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news