Novak Djokovic Detained: ऑस्ट्रेलिया में फिर हिरासत में लिए गए टेनिस स्टार जोकोविच, विजा भी रद्द, ऑस्ट्रेलियन ओपेन में नहीं खेलेंगे

जोकोविच के वकील ने इस मामले पर कहा है कि ऑस्ट्रेलिया सरकार का यह फैसला तर्कहीन है। इसके खिलाफ अदालत में अपील की गई है। शनिवार और रविवार को इस पर सुनवाई होगी।
Novak Djokovic Detained: ऑस्ट्रेलिया में फिर हिरासत में लिए गए टेनिस स्टार जोकोविच, विजा भी रद्द, ऑस्ट्रेलियन ओपेन में नहीं खेलेंगे

दुनिया के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच को ऑस्ट्रेलिया में दूसरी बार हिरासत में लिया गया है। ऑस्ट्रेलिया सरकार ने दूसरी बार उनका वीजा रद्द किया था। इसके खिलाफ जोकोविच ने ऑस्ट्रेलियाई अदालत में अपील की थी और अब सुनवाई से पहले उन्हें फिर से हिरासत में लिया गया है। जोकोविच के वकील ने यह जानकारी दी है। अब ऑस्ट्रेलियाई अदालत यह तय करेगी कि जोकोविच कोरोना का टीका लगवाए बिना ऑस्ट्रेलिया में रह सकते हैं या नहीं। इससे पहले ऑस्ट्रेलियाई आव्रजन मंत्री एलेक्स हॉक ने दूसरी बार नोवाक जोकोविच का वीजा रद्द करते हुए कहा था कि उन्होंने जनहित में यह कदम उठाया है।

जोकोविच के वकील ने इस मामले पर कहा है कि ऑस्ट्रेलिया सरकार का यह फैसला तर्कहीन है। इसके खिलाफ अदालत में अपील की गई है। शनिवार और रविवार को इस पर सुनवाई होगी। ऑस्ट्रेलियन ओपेन में मुख्य दौर की शुरुआत 17 जनवरी से हो रही है। इसमें भाग लेने के लिए जोकोविच को सोमवार तक टूर्नामेंट के साथ जुड़ना होगा।

नोवाक जोकोविच अगर अदालत में यह केस हार जाते हैं तो उनका वीजा तो रद्द होगा और अगले तीन साल के लिए उनका ऑस्ट्रेलिया का वीजा प्रतिबंधित किया जा सकता है।

क्या है पूरा मामला ?
जोकोविच ने अब तक कोरोना की वैक्सीन नहीं लगवाई है। वहीं ऑस्ट्रेलिया में वैक्सीन को लेकर नियम सख्त हैं। जोकोविच ने मेडिकल परेशानी की हवाला देते हुए कहा कि वो फिलहाल वैक्सीन नहीं लगवा सकते। इस आधार पर उन्हें ऑस्ट्रेलियन ओपन में खेलने की छूट मिल गई थी, लेकिन जोकोविच के ऑस्ट्रेलिया पहुंचने के बाद उनसे मेडिकल परेशानी के सबूत मांगे गए। यहां पर उनकी तरफ से कहा गया कि 16 दिसंबर को ही उन्हें कोरोना हुआ था। ऐसे में वो फिलहाल वैक्सीन नहीं लगवा सकते। इसके बाद उन्हें एयरपोर्ट में ही रोक लिया गया और उनका वीजा रद्द कर दिया गया।

वीजा रद्द होने के बाद जोकोविच चार दिन तक आव्रजन विभाग के होटल में रुके थे और इस फैसले को कोर्ट में चुनौती दी। सुनवाई के बाद अदालत ने जोकोविच को सही ठहराया। उनके सारे कागज लौटाने का आदेश दिया गया और ऑस्ट्रेलियन ओपेन में उनके खेलने का रास्ता लगभग साफ हो चुका था। इसके बाद ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने दूसरी बार इस खिलाड़ी का वीजा रद्द कर दिया और उन्हें फिर से हिरासत में लिया गया। जोकोविच के मामले पर अदालत में सुनवाई होनी है, लेकिन 17 जनवरी से शुरू हो रहे टूर्नामेंट में उनका खेलना लगभग नामुमकिन है।

टूर्नामेंट के लिए टीकाकरण जरूरी
विक्टोरिया प्रदेश सरकार ने 17 जनवरी से शुरू हो रहे ऑस्ट्रेलियन ओपन में सिर्फ उन्हीं खिलाड़ियों, अधिकारियों और दर्शकों को प्रवेश की अनुमति दी है जिन्हें कोरोना के दोनों टीके लग चुके हैं। 34 साल के जोकोविच फिलहाल पुरुषों की रैंकिंग में पहले स्थान पर हैं। उन्होंने अपने करियर में 20 ग्रैंडस्लैम समेत कुल 84 खिताब जीते हैं। उनके पास कुल 1154 करोड़ रुपये की इनामी राशि है।

कोरोना संक्रमित होने के बावजूद पत्रकार से मिले थे
दिसंबर 2021 में जोकोविच की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी। इसके बाद वो सर्बिया के कई कार्यक्रमों में शामिल हुए थे। उन्होंने खुद माना था कि वो कोरोना संक्रमित होने के बाद एक पत्रकार से मिले थे। जोकोविच ने ऑस्ट्रेलिया में प्रवेश के लिए जो इमिग्रेशन फॉर्म भरा था उसमें भी कई गलतियां थी। इसी वजह से ऑस्ट्रेलिया पहुंचते ही उनका वीजा रद्द कर दिया गया था।

इस मामले पर सफाई देते हुए जोकोविच ने कहा था "मैंने रैपिड टेस्ट करवाए थे, जिसके नतीजे निगेटिव आए थे। बाद में एक जांच में मुझे कोरोना पॉजिटिव पाया गया तो मैने सावाधानी बरती थी। मुझे कोरोना के कोई लक्षण नहीं थे। मेरी सहयोगी टीम की भूल के कारण यात्रा दस्तावेजों में गलती हुई थी। मेरा एजेंट गलत बॉक्स में निशान लगाने की गलती के लिए क्षमा चाहता है। यह मानवीय भूल है और निश्चित तौर पर ऐसा जानबूझकर नहीं किया गया। इस मामले को स्पष्ट करने के लिए टीम ने ऑस्ट्रेलियाई सरकार को अतिरिक्त जानकारी उपलब्ध कराई है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news