IND vs AUS: बॉक्सिंग डे टेस्ट में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 8 विकेट से हराया, सीरीज में की 1-1 से बराबरी

IND vs AUS: बॉक्सिंग डे टेस्ट में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 8 विकेट से हराया, सीरीज में की 1-1 से बराबरी

आस्ट्रेलिया ने एडिलेड में भारत को 8 विकेट से ही हराकर सीरीज में लीड ली थी लेकिन अब भारत ने उसी अंतर से जीत हासिल करते हुए हिसाब बराबर कर लिया है।

भारतीय क्रिकेट टीम ने एडिलेड में मिली शर्मनाक हार का हिसाब मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (एमसीजी) पर चुकता कर लिया है।

अपने कई अहम खिलाड़ियों की गैरमौजूदगी के बावजूद भारतीय टीम ने दूसरे टेस्ट मैच में आस्ट्रेलिया को 8 विकेट से हराकर चार मैचों की सीरीज में 1-1 की बराबरी कर ली है।

मैच के चौथे दिन मंगलवार को मेजबान आस्ट्रेलिया की दूसरी पारी 200 रनों पर समेटने के बाद भारत को जीत के लिए 70 रनों का लक्ष्य मिला था, जिसे उसने 2 विकेट गंवाकर 15.5 ओवरों में हासिल कर लिया।

भारत के लिए अपना पहला टेस्ट खेल रहे शुभमन गिल ने नाबाद 35 रन बनाए। कप्तान अजिंक्य रहाणे 27 रनों पर नाबाद लौटे। भारत ने मयंक अग्रवाल (5) और चेतेश्वर पुजारा (3) के विकेट गंवाए।

गिल ने 36 गेंदों का सामना कर सात चौके लगाए जबकि 19 के कुल योग पर मिशेल स्टार्क के हाथो एक जीवनदान पाने वाले रहाणे ने 40 गेदों पर तीन चौके लगाए। पहली पारी में बेहतरीन 112 रन बनाने के अलावा शानदार कप्तानी करने वाले रहाणे को मैन ऑफ द मैच चुना गया।

आस्ट्रेलिया ने एडिलेड में भारत को 8 विकेट से ही हराकर सीरीज में लीड ली थी। यह वही टेस्ट मैच है, जिसमें भारतीय टीम दूसरी पारी में 36 रनों पर सिमट गई थी, जो टेस्ट इतिहास का उसका पारी का न्यूनतम योग है।

इससे पहले, भारतीय गेंदबाजों ने अपने शानदार प्रदर्शन के दम पर आस्ट्रेलिया की दूसरी पारी 200 रनों पर समेट दी। मेजबान टीम ने चौथे दिन 37.1 ओवरों का सामना करते हुए 67 रन बनो। मेजबान टीम ने तीसरे दिन स्टम्प्स तक छह विकेट के नुकसान पर 133 रन बनाए थे।

भारत ने पहली पारी के आधार पर 131 रनों की बढ़त ली थी। ऐसे में स्टम्प्स तक मेजबानों को दो रन की लीड मिल चुकी थी। तीसरे दिन स्टम्प्स तक कैमरून ग्रीन 17 और पैट कमिंस 15 रन बनाकर नाबाद लौटे थे।

ग्रीन और कमिंस ने शानदार खेल दिखाते हुए चौथे दिन सुबह का शुरुआती एक घंटा निकाल गिया। कप्तान रहाणे ने जब नई गेंद ली तब जाकर यह जोड़ी टूटी। बुमराह ने एक शॉर्ट बॉल पर कमिंस को कैच कराके भारत को सफलता दिलाई।

कमिंस ने 103 गेंदों का सामना करते हुए एक चौके की मदद से 22 रन बनाए। कमिंस और ग्रीन ने सातवें विकेट के लिए 213 गेंदों पर 57 रनों की साझेदारी की। कमिंस का विकेट 156 रन के कुल योग पर गिरा।

दूसरी ओर, ग्रीन अर्धशतक की ओर बढ़ रहे थे लेकिन 177 के कुल योग पर वह मोहम्मद सिराज की गेंद पर रवींद्र जडेजा को एक आसान कैच दे बैठे।

अपनी बेहतरीन पारी में ग्रीन ने 146 गेंदों का सामना करते हए पांच चौके लगाए। ग्रीन ने मिशेल स्टार्क (नाबाद 14) के साथ आठवें विकेट के लिए 49 गेंदों पर 23 रन जोड़े।

नेथन लायन (3) का विकेट भी सिराज ने ही लिया। लायन 185 के कल योग पर आउट हुए। इसके बाद स्टार्क और हेजलवुड ने 15 रन जोड़े। लंच के पहले के अंतिम ओवर की पहली ही गेंद पर अश्विन ने हेजलवुड को बोल्ड कर दिया।

हेजलवुड ने यह गेंद यह सोचकर छोड़ कि यह टप्पा खाने के बाद स्पिन होकर बाहर चली जाएगी लेकिन गेंद उनका ऑफ स्टम्प ले उड़ी। हेजलवुड के रूप में अश्विन ने अपना 375वां टेस्ट विकेट हासिल किया। अश्विन के नाम अब सबसे अधिक 192 बार लेफ्ट हैंडर बल्लेबाजों को आउट करने का रिकार्ड दर्ज हो चुका है।

भारत की ओर से सिराज ने तीन सफलता हासिल की जबकि जसप्रीत बुमराह, अश्विन और जडेजा ने दो-दो विकेट लिए। उमेश यादव, जो अब चोटिल हैं को एक सफलता मिली। सिराज ने इस मैच में पांच विकेट पूरे किए। वह बीते सात साल में पांच विकेट लेने वाले पहले भारतीय डेब्यूटेंट हैं।

तीसरा टेस्ट सात जनवरी से सिडनी में खेला जाना है लेकिन सिडनी में कोविड-19 को लेकर खराब स्थिति को देखते हुए इसके मेलबर्न में ही कराए जाने की सम्भावना है। इस बारे में अगले कुछ दिनों में घोषणा हो जाएगी।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news