IPL-13: 13वें प्रयास में पहली बार चैम्पियन बनना चाहेंगे दिल्ली कैपिटल्स, पिछले साल प्ले ऑफ तक पहुंची थी टीम
IPL 2020

IPL-13: 13वें प्रयास में पहली बार चैम्पियन बनना चाहेंगे दिल्ली कैपिटल्स, पिछले साल प्ले ऑफ तक पहुंची थी टीम

टीम में युवा जोश और अनुभव का अच्छा मिश्रण है। ऋषभ पंत, पृथ्वी शॉ, अय्यर वो खिलाड़ी हैं जिन्हें भारतीय क्रिकेट का भविष्य माना जाता है। वहीं शिखर धवन, अजिंक्य रहाणे, रविचंद्रन अश्विन, ईशांत शर्मा का अनुभव टीम को और मजबूत करता है।

Yoyocial News

Yoyocial News

दिल्ली कैपिटल्स आईपीएल की उन टीमों में से एक है जिससे उम्मीदें तो काफी रही हैं लेकिन यह टीम खिताब अभी तक नहीं जीत सकी है।

पहले दिल्ली डेयरडेविल्स के नाम से जानी जाने वाली इस टीम ने 2008 और 2009 दोनों सीजनों के सेमीफाइनल में कदम रखा लेकिन इसके बाद यह टीम फिसड्डी ही साबित रही। फ्रेंचाइजी ने 2018 में अपना नाम बदला और दिल्ली कैपिटल्स रखा, इसके पीछे मंशा साफ थी, किस्मत बदलना। 2018 में तो नहीं लेकिन 2019 में युवा कप्तान श्रेयस अय्यर के नेतृत्व में टीम की किस्मत बदली और टीम लंबे अरसे बाद प्लेऑफ में पहुंची।

इस बार अय्यर की कप्तानी वाली यह टीम पिछले सीजन से एक कदम आगे जाना चाहेगी और अपना पहला आईपीएल खिताब जीतने की कोशिश करेगी।

टीम की सबसे अच्छी बात यह है कि टीम में युवा जोश और अनुभव का अच्छा मिश्रण है। ऋषभ पंत, पृथ्वी शॉ, अय्यर वो खिलाड़ी हैं जिन्हें भारतीय क्रिकेट का भविष्य माना जाता है। वहीं शिखर धवन, अजिंक्य रहाणे, रविचंद्रन अश्विन, ईशांत शर्मा का अनुभव टीम को और मजबूत करता है।

टीम की बल्लेबाजी काफी मजबूत है। दिल्ली के लिए खेलते हुए पंत आईपीएल में अलग ही रूप में रहते हैं। उनकी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी गेंदबाजों के लिए डर है। पृथ्वी भी इसी रास्ते पर हैं। पृथ्वी ने पिछले सीजन भी अच्छा किया था लेकिन वो अभी तक उस तरह का प्रदर्शन नहीं कर पाए हैं जिसकी उनसे उम्मीद की जाती है।

भारतीय टीम से खेलते हुए अय्यर ने बीते सीजन अच्छा किया था। शीर्ष क्रम में पंत, धवन, पृथ्वी के बाद मध्य क्रम में अय्यर रहाणे, मार्कस स्टोइनिस, एलेक्स कैरी, शिमरन हेटमायेर टीम को मजबूत करते हैं।

फिनिशर के तौर यहां कैरी और स्टोइनिस को अहम भूमिका में देखा जा सकता है।

दिल्ली के पास अक्षर पटेल, अश्विन के रूप में दो अच्छे हरफनमौला खिलाड़ी भी हैं। संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की धीमी पिचों को देखते हुए दिल्ली को फायदा होगा क्योंकि टीम के पास अच्छे स्पिनर भी हैं। पटेल और अश्विन के अलावा दिल्ली के पास नेपाल के संदीम लामिछाने, अमित मिश्रा के विकल्प हैं।

जहां तक तेज गेंदबाजों की बात है तो राबाडा और ईशांत पर ज्यादा भार होगा। इनका साथ देने के लिए कीमो पॉल, आवेश खान और मोहित शर्मा के विकल्प दिल्ली के पास हैं

दिल्ली को बस अपने खिलाड़ियों के प्रदर्शन में निरंतरता की जरूरत है। उसके पास वो जरूरी संतुलन है जो उसे खिताब की रेस में बनाता है।

दिल्ली कैपिटल्स टीम : श्रेयस अय्यर (कप्तान), अजिंक्य रहाणे, शिखर धवन, शिमरन हेटमायेर, पृथ्वी शॉ, मार्कस स्टोइनिस, ललित यादव, रविचंद्रन अश्विन, अक्षर पटेल, कीमो पॉल, डेनिल सैम्स, एलेक्स कैरी, ऋषभ पंत, कागिसो रबाडा, संदीप लामिछाने, ईशांत शर्मा, आवेश खान, तुषार देशपांडे, हर्षल पटेल, अमित मिश्रा एनरिक नोर्टजे।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news