एंजियोप्लास्टी सर्जरी के बाद कपिल देव को अस्पताल मिली छुट्टी
स्पोर्ट्स

एंजियोप्लास्टी सर्जरी के बाद कपिल देव को अस्पताल मिली छुट्टी

भारत के पहले विश्व कप विजेता क्रिकेट कप्तान कपिल देव की सफल आपातकालीन कोरोनरी एंजियोप्लास्टी सर्जरी के बाद रविवार को उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल गई।

Yoyocial News

Yoyocial News

भारत के पहले विश्व कप विजेता क्रिकेट कप्तान कपिल देव की सफल आपातकालीन कोरोनरी एंजियोप्लास्टी सर्जरी के बाद रविवार को उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल गई।

गुरुवार को दिल का दौरा करने पड़ने के बाद कपिल को दक्षिणी दिल्ली के फोर्टिस एस्कॉर्ट्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उनकी सफल आपातकालीन कोरोनरी एंजियोप्लास्टी सर्जरी की गई थी।

अस्पताल ने रविवार को एक बयान में कहा, "कपिल देव को आज दोपहर को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। वह अच्छा कर रहे हैं और जल्द ही अपने रोजाना के कामकाज शुरू कर सकते हैं। वह नियमित रूप से डॉ. अतुल माथुर से सलाह मशवरा लेते रहेंगे।"

कपिल को गुरुवार रात 1 बजे भर्ती कराया गया था, जहां बाद में फोर्टिस एस्कॉर्ट्स अस्पताल के कार्डियलॉजी विभाग के निदेशक डॉ. अतुल माथुर की निगरानी में उनकी इमर्जेंसी कोरोनरी एंजियोप्लास्टी की गई थी।

सर्जरी के बाद कपिल ने शुक्रवार को पहली तस्वीर साझा की थी, जिसमें उन्होंने कहा था कि वह बिल्कुल ठीक हैं और धीरे-धीरे स्वस्थ्य हो रहे हैं।

कपिल ने सोशल मीडिया पर एक फोटो भी पोस्ट की थी, जिसमें वह अस्पताल के बिस्तर पर लेटे हुए थे और दोनों हाथों के अंगूठे को ऊपर उठाकर इशारा कर रहे थे कि सबकुछ ठीक है। फोटो में कपिल की बेटी आमिया भी उनके बगल में बैठी हुई थीं।

कपिल ने सोशल मीडिया पर लिखा था, " मैं अच्छा हूं और अब अच्छा महसूस कर रहा हूं। तेजी से स्वस्थ्य होने के रास्ते पर हूं। गोल्फ खेलने का इंतजार नहीं कर पा रहा। आप लोग मेरा परिवार हो। धन्यवाद।"

किसी समय टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक विकेट लेने का रिकॉर्ड अपने नाम रखने वाले कपिल देव ने 1994 में टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले लिया था।

वह छह साल तक सर्वाधिक टेस्ट विकेट लेने वाले गेंदबाज बने हुए थे। उनके बाद इंग्लैंड के कॉर्टनी वाल्श ने उनका रिकॉर्ड तोड़ा था।

कपिल देव की कप्तानी में ही भारत ने 1983 में पहली बार विश्व कप जीता था।

कपिल ने भारत के लिए 131 टेस्ट और 225 वनडे मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने क्रमश : 5248 और 3783 रन बनाए हैं। उन्होंने इसके अलावा 275 प्रथम श्रेणी मैच और 310 लिस्ट-ए मैच भी खेले हैं।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news