दादा को लगी फैंस की दुआ: कोलकाता के वुडलैंड्स में हुई एंजियोप्लास्टी, खतरे से बाहर सौरव गांगुली

दादा को लगी फैंस की दुआ: कोलकाता के वुडलैंड्स में हुई एंजियोप्लास्टी, खतरे से बाहर सौरव गांगुली

बीसीसीआई अध्यक्ष और भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली की शनिवार को एंजियोप्लास्टी हुई और अब वह खतरे से बाहर हैं।

बीसीसीआई अध्यक्ष और भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली की शनिवार को एंजियोप्लास्टी हुई और अब वह खतरे से बाहर हैं।

सीने में दर्द की शिकायत के बाद गांगुली को दोपहर में कोलकाता के वुडलैंड्स म्यूनिसिपैलिटी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। गांगुली शहर के एसएसकेएम अस्पताल में प्रोफेसर और डॉक्टर सरोज मोंडल की देखरेख में वुडलैंड्स अस्पताल में हैं।

मोंडल ने कहा, " सौरव गांगुली की हालत अब स्थिर है और उनकी एंजियोप्लास्टी हुई है। वह अभी होश में है और स्थिर है। जब वह घर में जिम में वर्कआउट कर रहे थे तो सीने में दर्द की शिकायत हुई थी।"

डॉक्टर ने कहा कि गांगुली को तुंरत अस्पताल लाया गया, जहां उन्हें सभी तरह की चिकित्सा सुविधाएं मुहैया कराई गई है।

मोंडल ने कहा, " उनकी एंजियोग्राफी और एंजियोप्लास्टी हुई है। अब वह स्थिर हैं। वह जल्द ही अपनी दैनिक गतिविधियों में शामिल हो सकेंगे।"

इस बीच सूत्रों का कहना है कि उनके दिल में दो छेद हैं जिनके लिए उनका इलाज किया जाएगा। एक स्टेंट सम्मिलन किया गया है क्योंकि उनकी धमनियों में 90 प्रतिशत ब्लॉकेज पाया गया था। उन्हें अगले 48 घंटों तक निगरानी में रखा जाएगा।

गांगुली अपने घर में बने जिम में वर्जिश कर रहे थे और इसी दौरान उन्हें चक्कर आया और फिर उन्होंने ब्लैकआउट की शिकायत की। उन्होंने अपने पारिवारिक डॉक्टर को बुलाया जिन्होंने उन्हें तुरंत अस्पताल में भर्ती होने की सलाह दी।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ट्वीट किया है, " सौरव गांगुली की खबर सुनकर दुख हुआ। उन्हें मामूली दिल का दौरा पड़ा है और अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मैं उनके जल्दी स्वास्थ होने की कामना करती हूं। मेरी प्रार्थनाएं उनके और उनके परिवार के साथ हैं।"

सूत्र ने बताया कि अस्पताल लाने के बाद उनका ईसीजी टेस्ट किया गया। वह अब ठीक हैं और खतरे से बाहर हैं। उन्हें एंजियोप्लास्टी की जरूरत पड़ सकती है। ट्रोपोनिन टी टेस्ट भी किया गया है।

सूत्रों ने कहा कि डॉक्टर सरोज मोंडल अस्पताल में गांगुली की देखरेख कर रहे हैं। अब उन्हें आपातकालीन से गहन चिकित्सा कक्ष (आईसीयू) में दाखिल कराया गया है।

पश्चिम बंगाल के शहरी विकास मंत्री फिरहद हकीम और मंत्री अरुप बिस्वास ने अस्पताल जाकर गांगुली का हालचाल जाना। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने भी अपनी पत्नी के साथ अस्पताल का दौरा किया और गांगुली की तबीयत की जानकारी ली।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news