आसमान से कुछ ऐसा दिखता है दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम, जानें मोटेरा की खासियतें

आसमान से कुछ ऐसा दिखता है दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम, जानें मोटेरा की खासियतें

अहमदाबाद के नवनिर्मित मोटेरा स्टेडियम में यहां 24 फरवरी को भारत और इंग्लैंड के बीच डे-नाइट टेस्ट मैच खेला जाएगा, जिसमें एसजी की गुलाबी गेंद का इस्तेमाल होगा।

गुजरात के अहमदाबाद स्थित दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम में पहले अंतरराष्ट्रीय मैच की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं।

अहमदाबाद के नवनिर्मित मोटेरा स्टेडियम में यहां 24 फरवरी को भारत और इंग्लैंड के बीच डे-नाइट टेस्ट मैच खेला जाएगा, जिसमें एसजी की गुलाबी गेंद का इस्तेमाल होगा।

1.10 लाख दर्शक क्षमता वाले इस स्टेडियम में तमाम तरह की आधुनिक सुविधाएं मौजूद हैं। ऐसे में आइए एक नजर डालते हैं स्टेडियम से जुड़ी खास बातों और सुविधाओं पर।  

दें कि गुजरात के अहमदाबाद स्थित पुराने मोटेरा स्टेडियम को 2015 में पूरी तरह से ध्वस्त कर दिया गया था।

इसके बाद 2017 में दोबारा से इसका निर्माण कार्य शुरू हुआ और इसे नए सिरे से सरदार पटेल स्टेडियम (मोटेरा स्टेडियम) के नाम से अत्याधुनिक सुविधाओं और अधिक क्षमता के साथ बनाया गया। 

गुजरात क्रिकेट एसोसिएशन की ओर से 1982 में बनाए गए इस स्टेडियम में पहले 53000 दर्शकों के बैठने की क्षमता थी लेकिन अब नए स्टेडियम में यह क्षमता बढ़कर 1.10 लाख हो गई है यानी इतने लोग यहां एक साथ बैठकर मैच देख पाएंगे।

नए स्टेडियम की खासियतें -

- यह स्टेडियम 63 एकड़ में फैला है, जिसमें तीन एंट्री गेट्स हैं।

- विश्व के सबसे बड़े स्टेडियम में तीन प्रैक्टिस ग्राउंड्स, क्लब हाउस, ओलंपिक साइज स्विमिंग पूल और एक इनडोर क्रिकेट एकेडमी भी बनाई गई है।

- स्टेडियम का स्ट्रक्चर ऐसा है कि जब भी कोई खिलाड़ी बाउंड्री मारे तो स्टेडियम में बैठने वाला हर क्रिकेट प्रेमी उस बाउंड्री को देख पाए।

- यह दुनिया में एकमात्र स्टेडियम है, जिसमें अभ्यास और सेंटर पिच के लिए एक ही मिट्टी का इस्तेमाल किया गया है। यहां बेहतर दृश्यता और परछाई को दूर करने के लिए पूरी गोलाकर छत पर एलईडी लाइट लगी है।

- दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम में 11 सेंटर पिचें हैं, यह दुनिया में एकमात्र स्टेडियम हैं, जिसमें मुख्य मैदान पर 11 सेंटर पिचें हैं।

- यह दुनिया का पहला क्रिकेट स्टेडियम है जिसमें जिम सहित चार विश्वस्तरीय ड्रेसिंग रूम हैं।

- इसके अलावा 25 लोगों की क्षमता वाले 76 कॉर्पोरेट बॉक्स बनाए गए हैं।

- स्टेडियम में प्रवेश और निकास के लिए अलग-अलग इंतजाम किए गए हैं। 

- यहां मैदान में घास के नीचे रेत का इस्तेमाल किया गया है जिसकी मदद से भारी बारिश के बावजूद मैच कुछ ही घंटे में दोबारा से शुरू हो सकता है। 

- कार और स्कूटर की पार्किंग व्यवस्था की गई है। जिसमें 4 हजार कार और 10 हजार दो पहिया वाहन की पार्किंग की व्यवस्था है।

- स्टेडियम के पास मेट्रो लाइन भी लाई गई है।

मैदान की उपलब्धियां एवं यादगार लम्हें -

- दिग्गज सुनील गावस्कर ने अपने दस हजार टेस्ट रन यहीं पूरे किए थे।

- कपिल देव ने अपना 432वां टेस्ट विकेट इसी मैदान पर लिया था। 

- सचिन तेंदुलकर ने टेस्ट क्रिकेट का अपना पहला दोहरा शतक इसी मैदान पर जड़ा था।

- सचिन ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के अपने 20 साल और 30000 अंतरराष्ट्रीय रन यहीं पर पूरे किए थे। 

- एबी डीविलियर्स ने भारत के खिलाफ टेस्ट में अपना पहला दोहरा शतक यहीं जड़ा था।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news