बंगाल में शुरुआती 5 घंटे में 36.09% मतदान

बंगाल में शुरुआती 5 घंटे में 36.09% मतदान

पश्चिम बंगाल में शनिवार को मतदाताओं को वोट डालने के लिए लंबी कतारों में देखा गया। यहां शुरूआती पांच घंटे में 36.09 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया।

पश्चिम बंगाल में शनिवार को मतदाताओं को वोट डालने के लिए लंबी कतारों में देखा गया। यहां शुरूआती पांच घंटे में 36.09 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया। राज्य में आठ चरण के मतदान के पहले दिन पांच जिलों में 73 लाख मतदाताओं में से एक तिहाई ने दोपहर तक वोट डाल दिए थे। ये मतदाता इन सीटों पर 191 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे।

60 से अधिक बूथों पर ईवीएम की खराबी और हिंसक घटनाओं के आरोप की कुछ रिपोर्ट आई हैं।

हालांकि, लंबी कतारों से पता चलता है कि लोग मतदान को गंभीरता से ले रहे हैं।

पहले चरण में 21 महिला उम्मीदवार भी हैं।

चुनाव आयोग के मतदाता एप के अनुसार, बांकुड़ा जिले में दोपहर तक लगभग 36.48 प्रतिशत, झाड़ग्राम 36.87, पश्चिमी मिदनीपुर में 35.90, पुरो मेदिनीपुर में 38.80 और पुरुलिया में 33.65 प्रतिशत मतदान हुआ।

पूर्वी मिदनापुर में मतदान से पहले शनिवार की सुबह भगवानपुर विधानसभा क्षेत्र के सत्सतामल में हुई गोलीबारी की घटना में दो सुरक्षाकर्मी घायल हो गए।

वहीं तुलसीड़ी गांव में आग लगने की घटना से तनाव पैदा हुआ। सुरक्षा बल उस क्षेत्र में कड़ी निगरानी रख रहे हैं, जो कभी नक्सलियों का गढ़ हुआ करता था।

बांकुड़ा जिले में 20 बूथों पर, झारग्राम में आठ और पुरुलिया में 39 मतदान केंद्रों से ईवीएम में खराबी की खबरें सामने आइर्ं। लोगों ने कहा कि उन्होंने अपना वोट डालने के लिए दो घंटे से अधिक इंतजार किया।

पुरुलिया में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) द्वारा पूर्व मंत्री और तृणमूल के उम्मीदवारों पर कथित रूप से मतदाताओं के बीच नकदी वितरित करने के आरोप लगाए गए। भाजपा ने पोल बॉडी के साथ शिकायत दर्ज की है।

सुवेन्दु अधिकारी के भाई और भाजपा नेता सौमेंदु अधिकारी ने तृणमूल ब्लॉक के अध्यक्ष राम गोविंद दास और उनकी पत्नी पर तीन मतदान केंद्रों पर धांधली का आरोप लगाते हुए कहा, "मेरे यहां आने तक उनकी शरारतें जारी रहीं, इसलिए उन्होंने मेरी कार पर हमला किया और मेरे ड्राइवर की पिटाई की।"

पश्चिम बंगाल के भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने मतदान के दौरान झाड़ग्राम के एक मतदान केंद्र पर अपना वोट डाला।

सुबह के पहले दो घंटों की तुलना में, मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की संख्या में कई गुना वृद्धि हुई और नागरिकों के सभी वर्गों ने उत्साहपूर्वक अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

294 सदस्यीय पश्चिम बंगाल विधानसभा के अन्य सात चरण 1 अप्रैल, 6 अप्रैल, 10 अप्रैल, 17 अप्रैल, 22 अप्रैल, 26 अप्रैल और 29 अप्रैल को आयोजित किए जाएंगे। परिणाम 2 मई को घोषित किए जाएंगे।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news