हरियाणा: गणेश विसर्जन के दौरान 7 लोगों की डूबकर मौत, सीएम खट्टर ने जताया दुख

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने हादसों में युवकों की मौतों पर दुख जताया है। उन्होंने बचाए गए लोगों के जल्द ठीक होने की कामना भी की है।
हरियाणा: गणेश विसर्जन के दौरान 7 लोगों की डूबकर मौत, सीएम खट्टर ने जताया दुख

हरियाणा में गणपति विसर्जन के दौरान शुक्रवार को दो बड़े हादसे हुए। महेंद्रगढ़ के गांव झगड़ोली में नहर में करीब 12 बच्चे व किशोर डूब गए, जिनमें चार की मौत हो गई। सोनीपत में यमुना के मीमारपुर और बेगा घाट पर किशोर समेत चार लोग डूब गए। इनमें से मीमारपुर घाट पर पिता-पुत्र और भतीजा तो बेगा घाट पर एक अन्य श्रद्धालु डूब गया। व्यक्ति और भतीजे के साथ ही युवक का शव बरामद कर लिया गया है। पुलिस यमुना में डूबे किशोर की तलाश कर रही है।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने हादसों में युवकों की मौतों पर दुख जताया है। उन्होंने बचाए गए लोगों के जल्द ठीक होने की कामना भी की है।

उन्होंने ट्वीट किया, ''महेंद्रगढ़ और सोनीपत में नहर में गणेश विसर्जन के दौरान युवकों की मौत हृदय विदारक है। हम इस मुश्किल समय में मृतकों के परिजनों के साथ हैं। एनडीआरएफ ने कई लोगों को डूबने से बचा लिया, जिनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।''

महेंद्रगढ़ क्षेत्र के गांव झगड़ोली की नहर में शहर के मोहल्ला ढाणी एवं मसानी चौक से श्रद्धालु प्रतिमा विसर्जन के लिए गए थे। शाम को साढ़े 5 बजे यह हादसा हुआ। सूचना मिलने के महज दस मिनट बाद ही पुलिस और दमकल विभाग की टीमों के साथ-साथ आसपास के गांवों से युवाओं ने राहत एवं बचाव कार्य शुरू कर दिया।

महेंद्रगढ़ में शुक्रवार रात 8:30 बजे तक अस्पताल पहुंचाए गए चार बच्चों की मौत हो गई, जबकि तीन को हाई सेंटर रेफर कर दिया गया है। वहीं अन्य बच्चे नागरिक अस्पताल में उपचाराधीन हैं। देर रात तक नहर में सर्च अभियान चलाया जा रहा था। महेंद्रगढ़ में हुए हादसे में तेज बहाव व पानी अधिक होने के कारण राहत एवं बचाव कार्य भी प्रभावित हुआ लेकिन घटना के महज दस मिनट बाद ही मौके पर हजारों की संख्या में आसपास के गांवों के लोग एवं दमकल विभाग व प्रशासनिक अमला पहुंच गया है। आठ बच्चों को नहर से निकालकर एंबुलेंस के माध्यम से नागरिक अस्पताल महेंद्रगढ़ पहुंचाया गया है। मौके पर भारी भीड़ एवं प्रशासनिक अमला सहित विभिन्न विभागों की टीमें एवं गोताखोर नहर में बच्चों की तलाश कर रहे हैं।

चाचा-भतीजे के शव मिले, बेटे की तलाश जारी

उधर, सोनीपत में यमुना के मीमारपुर घाट पर पर डूबने वालों में सुंदर सांवरी निवासी सुनील (45), उनका बेटा कार्तिक (13) और भतीजा दीपक (20) शामिल हैं। वे अन्य श्रद्धालुओं के साथ मूर्ति विसर्जन करने के दौरान स्नान के लिए यमुना के अंदर चले गए। इसी दौरान वे तेज बहाव में डूब गए।

सूचना के बाद मुरथल थाने से टीम और गोताखोर घाट पर पहुंच गए और तलाश शुरू की। रात करीब आठ बजे सुनील और उनके भतीजे दीपक के शव निकाल लिये गए। वहीं सुनील के बेटे कार्तिक की तलाश की जा रही है। वहीं यमुना के बेगा घाट पर रेहड़ा बस्ती का सुमित (22) तेज बहाव में डूब गया। प्रतिमा विसर्जन के लिए वह छह साथियों संग यमुना में अंदर गया था। उसके छह साथियों को यमुना से निकाल लिया गया लेकिन वह नहीं मिल सका। बाद में मशक्कत के बाद उसका शव ही बरामद हो सका।

गणपति विसर्जन के दौरान हुआ यह हादसा बड़ा दुखद है। हादसे की सूचना के बाद प्रशासन ने शीघ्रता से कार्रवाई शुरू कर दी। नहर बंद कराकर बचाव कार्य शुरू कर दिए थे। चार बच्चों की मौत हुई है और चार को रेफर किया गया है। जिलेभर से रेडक्रॉस एवं चिकित्सकों की टीमें राहत कार्य में लग गई थीं।
- डॉ. जेके आभीर, उपायुक्त, महेंद्रगढ़।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news